जयपुर अब तक प्रदेश में 245 कौवों की हुई मौत, कौवों की मौत को लेकर पशुपालन विभाग में हुई बैठक

अब तक प्रदेश में 245 कौवों की हुई मौत, कौवों की मौत को लेकर पशुपालन विभाग में हुई बैठक

अब तक प्रदेश में 245 कौवों की हुई मौत, कौवों की मौत को लेकर पशुपालन विभाग में हुई बैठक

जयपुर: राजस्थान में पहली बार बर्ड फ्लू का मामला सामने आया है. 25 दिसंबर को पहली बार झालावाड़ में कोए के मरने की सूचना मिली थी,जिसके बाद 27 दिसंबर को मरने के कारणों को जांचने के लिए भोपाल लेब ने सेम्पल भेजे गए. जहां बर्ड फ्लू होने की पुष्टि हुई.  इसके बाद प्रदेश में लगातार कौओं के मरने की सूचना मिल रही है. मामले को लेकर पशुपालन निदेशालय में विभाग के प्रमुख शासन सचिव कुंजी लाल मीणा और सचिव आरुषि मलिक ने अधिकारियों की बैठक ली ओर बर्ड फ्लू रोकने के तमाम इंतजाम करते हुए रोकने के निर्देश दिए.

इन जिलों में इतने कौओं की हुई मौत:
इस दौरान प्रमुख सचिव कुंजीलाल मीणा ने बताया कि अब तक झालावाड़ में 100 , कोटा में 47, बारां में 72, पाली में 19, जोधपुर में 7 और जयपुर के जलमहल सहित प्रदेश भर में 245 कौओं की मौत हो चुकी है, हालांकि अभी तक बर्ड फ्लू की पुष्टि झालावाड़ में हुई है,लेकिन अन्य जिलों के कौओं ओर अन्य पक्षियों के सेम्पल भोपाल भेजे जा रहे है. सभी जिलों में रेस्पॉन्स टीम बनाई गई है जो आसपास इलाके में सर्विलांस कर रही है. 

अभी खतरा ज्यादा बड़ा नहीं, लेकिन सतर्कता बेहद जरूरी:
निदेशालय में राज्यस्तरीय कंट्रोल रूम बनाया गया हैं,भारत सरकार के साथ भी सूचनाएं साझा कर रहे हैं.राजस्थान में भी विभाग समन्वय के साथ काम के रहे हैं.लोगों को सतर्क करने के लिए पंपलेट, पोस्टर बनवाए गए हैं. सभी संभागों में अलर्ट किया गया है और सभी संभागों में टीम भेजी जा रही है. बर्ड फ्लू को देखते हुुुए सांभर और कवलादेव उद्यान भी भेजी जा रही टीम. हालांकि अभी खतरा ज्यादा बड़ा नहीं है,लेकिन समय पर सतर्कता बरतने बेहद जरूरी है.

और पढ़ें