CM गहलोत ने केंद्र से दूसरी खुराक के लिए टीकों की आपूर्ति बढ़ाने का किया अनुरोध

CM गहलोत ने केंद्र से दूसरी खुराक के लिए टीकों की आपूर्ति बढ़ाने का किया अनुरोध

CM गहलोत ने केंद्र से दूसरी खुराक के लिए टीकों की आपूर्ति बढ़ाने का किया अनुरोध

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि केंद्र से आवश्यकता के अनुरूप कोविड-19 रोधी टीकों की आपूर्ति नहीं होने के कारण लोगों को दूसरी खुराक देने में देरी हो रही है. बड़ी संख्या में लोगों को दूसरी खुराक देने का निर्धारित समय हो जाने की स्थिति में उन्होंने केंद्र सरकार से इसके लिए टीकों की पर्याप्त आपूर्ति करने का अनुरोध किया.

गहलोत मंगलवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए राज्य में टीकाकरण अभियान की समीक्षा कर रहे थे. उन्होंने कहा कि विशेषज्ञ निरन्तर तीसरी लहर की आशंका व्यक्त कर रहे हैं. ऐसे में राज्य की ज्यादा से ज्यादा आबादी का जल्द से जल्द टीकाकरण करना जरूरी है क्योंकि दोनों खुराक लगने पर ही संक्रमण से पूरी सुरक्षा मिलती है.

हमारे चिकित्साकर्मियों ने पूरी दक्षता के साथ टीकाकरण किया:
उन्होंने निर्देश दिया कि राज्य सरकार के अधिकारी केंद्र सरकार से समन्वय कर टीकों की आपूर्ति बढ़ाने की मांग को रखें ताकि लोगों को समय पर टीका लगाया जा सके. मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान के टीकाकरण प्रबंधन को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी सराहा है. डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट के अनुसार, राजस्थान उन अग्रणी राज्यों में शामिल है, जहां टीकों की कम बर्बादी हुई है. राज्य के लिए यह गर्व की बात है. हमारे चिकित्साकर्मियों ने पूरी दक्षता के साथ टीकाकरण किया है. उन्होंने निर्देश दिया कि आगामी महीनों में धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजन के लिए प्रोटोकॉल तैयार किया जाए ताकि संक्रमण के प्रसार से बचा जा सके.

विभाग तीसरी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए पुख्ता तैयारियां सुनिश्चित कर रहा:
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि विभाग तीसरी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए पुख्ता तैयारियां सुनिश्चित कर रहा है. चिकित्सा शासन सचिव सिद्धार्थ महाजन ने बताया कि राज्य में अब तक टीके की 2.67 करोड़ खुराक दी गयी है. इनमें से 2.18 करोड़ लोगों को पहली खुराक और 48.87 लाख लोगों को दोनों खुराक दी जा चुकी है. उन्होंने बताया कि जुलाई महीने में प्रदेश में करीब 64 लाख लोगों को दूसरी खुराक दी जानी है, लेकिन जुलाई के पहले पखवाड़े में केवल 65 लाख 20 हजार खुराकें ही आवंटित की गई है. 

और पढ़ें