नई दिल्ली कांग्रेस ने साधा सरकार पर निशाना, कहा- कोरोना महामारी की स्थिति से निपटने के लिए ’राजधर्म’ का पालन करें प्रधानमंत्री

कांग्रेस ने साधा सरकार पर निशाना, कहा- कोरोना महामारी की स्थिति से निपटने के लिए ’राजधर्म’ का पालन करें प्रधानमंत्री

कांग्रेस ने साधा सरकार पर निशाना, कहा- कोरोना महामारी की स्थिति से निपटने के लिए ’राजधर्म’ का पालन करें प्रधानमंत्री

नई दिल्लीः कांग्रेस ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कोविड-19 महामारी की स्थिति से निपटने में लापरवाही बरतने और लोगों को उनके हाल पर छोड़ देने का आरोप लगाते हुए कहा कि अब उन्हें ‘राजधर्म’ का पालन करना चाहिए.

मोदी सरकार पर आरोप, कहा- महामारी से निपटने के लिए जरूरी प्रबंध नहींः
पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि देश में कोविड रोधी टीके और दूसरे चिकित्सकीय उपकरणों की भारी कमी है, लेकिन सरकार के मंत्री सिर्फ विपक्षी नेताओं पर हमले बोलने में लगे हैं. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़े डरावने हैं. यह अप्रत्याशित है. मोदी सरकार ने लोगों को उनके हाल पर छोड़ दिया है. उनकी तरफ से लापरवाही बरती जा रही है. एक साल का समय मिलने के बावजूद उसने इस महामारी से निपटने के लिए जरूरी प्रबंध नहीं किए.

कांग्रेस दावा- हमारे सुझावों पर सरकार ने पहले बोला हमला फिर मानी बातः
सुरजेवाला ने दावा किया कि देश में आज कोविड रोधी टीके की भारी कमी है. सरकार इससे इनकार कर रही है और सवाल उठाने वाले विपक्षी नेताओं पर आक्रमण किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विदेश निर्मित टीके को अनुमति देने की मांग की तो केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और स्मृति ईरानी ने उन पर हमला बोल दिया. लेकिन राहुल गांधी के सुझाव देने के कुछ दिनों के भीतर ही प्रधानमंत्री की अगुवाई में सरकार ने उनके सुझाव को स्वीकार कर लिया.

कांग्रेस का आरोप, कोरोना संकट से निपटने की बजाय प्रधानमंत्री चुनाव में व्यस्तः
कांग्रेस महासचिव ने कहा कि सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द करने की कांग्रेस की मांग को लेकर भी सरकार ने पहले पार्टी पर हमला बोला, लेकिन बाद में सुझाव मान लिया. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि कोरोना संकट से निपटने की बजाय प्रधानमंत्री चुनाव में व्यस्त हैं. उन्हें सारी चीजों से ऊपर उठकर राजधर्म का पालन करना चाहिए. सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री से हम कहना चाहते हैं कि कोरोना संकट के मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं हो सकती. यह ‘कोरोना वायरस बनाम हम सब’ की लड़ाई है.

देश में बुधवार को कोरोना के अब तक के सर्वाधिक मामले सामने आएः
देश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 1,84,372 नए मामले सामने आए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार के आंकड़ों के मुताबिक, संक्रमण के कुल मामले अब 1,38,73,825 हो गए हैं जबकि 13 लाख से अधिक लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं. मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटे में 1,027 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 1,72,085 हो गई है जो 18 अक्टूबर, 2020 के बाद सबसे ज्यादा है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें