नई दिल्ली सत्येंद्र जैन से पूछताछ के दौरान वकील की उपस्थिति के विरुद्ध ED ने हाईकोर्ट का रुख किया

सत्येंद्र जैन से पूछताछ के दौरान वकील की उपस्थिति के विरुद्ध ED ने हाईकोर्ट का रुख किया

सत्येंद्र जैन से पूछताछ के दौरान वकील की उपस्थिति के विरुद्ध ED ने हाईकोर्ट का रुख किया

नई दिल्ली: धन शोधन मामले में गिरफ्तार किये गए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से पूछताछ के दौरान वकील की मौजूदगी की अनुमति देने वाले निचली अदालत के फैसले के विरुद्ध प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बृहस्पतिवार को दिल्ली उच्च न्यायालय का रुख किया.

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश विपिन संघी और न्यायमूर्ति सचिन दत्ता की पीठ ने ED के वकील द्वारा याचिका को तत्काल सूचीबद्ध करने के अनुरोध को स्वीकार किया और मामले की सुनवाई के लिए शुक्रवार का दिन नियत किया. आम आदमी पार्टी के नेता को 30 मई को धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया था और निचली अदालत ने 31 मई को उन्हें नौ जून तक के लिए ED की हिरासत में भेज दिया.

ED ने इसे उच्च न्यायालय में चुनौती देते हुए याचिका दायर की और तत्काल सुनवाई की अनुमति मांगी: 

जैन को ED की हिरासत में भेजते हुए निचली अदालत ने उनकी अर्जी को अनुमति दी थी जिसमें कहा गया था कि आरोपी से पूछताछ के दौरान उनसे सुरक्षित दूरी पर एक वकील को मौजूद रहने की अनुमति दी जाए, जहां से वह आरोपी को देख सके, लेकिन सुन न सके. ED की ओर से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने निचली अदालत में इसका पुरजोर विरोध किया था. ED ने इसे उच्च न्यायालय में चुनौती देते हुए याचिका दायर की और तत्काल सुनवाई की अनुमति मांगी. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें