पुणे सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने का मामला: 5 कर्मचारियों की मौत, 6 लोग बचाए गए, सरकार ने दिए जांच के आदेश

सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने का मामला: 5 कर्मचारियों की मौत, 6 लोग बचाए गए, सरकार ने दिए जांच के आदेश

 सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने का मामला: 5 कर्मचारियों की मौत, 6 लोग बचाए गए, सरकार ने दिए जांच के आदेश

पुणे: पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के नए प्लांट में गुरुवार को आग लग गई. इस हादसे में सीरम इंस्टीट्यूट के 5 कर्मचारियों की मौत हो गई. 5 लोगों की मौत की पुष्टि पुणे के मेयर ने की है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ही कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड बना रही है, जिसकी आपूर्ति भारत समेत कई देशों में की जा रही है. आग नए प्लांट में लगी, जहां पर अभी वैक्सीन का उत्पादन नहीं शुरू हुआ है.  सीरम इंस्टीट्यूट में आग में जान गंवाने वाले सभी पांच मजदूर हैं. इनमें से दो पुणे और दो उत्तर प्रदेश के थे. एक मजदूर बिहार से था. मृतकों के परिवार के प्रति सीरम इंस्टीट्यूट ने संवेदना व्यक्ति की है और 25-25 लाख मुआवजा देने की बात कही है.

सरकार ने दिए जांच के आदेश: 
वहीं, महाराष्ट्र सरकार भी इस घटना के बाद एक्टिव मोड में है. सरकार ने जांच के आदेश दे दिए हैं. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि मिली जानकारी के अनुसार, आग नियंत्रण में है. उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीन की यूनिट में आग नहीं लगी थी. उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैंने कलेक्टर और नगर निगम आयुक्त से बात की है. आग लगभग नियंत्रण में है. केवल धुआं है. 6 लोगों को बचाया गया है. 

टीकों के निर्माण पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा:
इससे पहले पुणे में स्थित भारतीय सीरम संस्थान (सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया) के मंजरी परिसर में एक भवन में बृहस्पतिवार को आग लगने के बाद तीन लोगों को बाहर निकाला गया है. पुलिस ने यह जानकारी दी. सूत्रों ने कहा कि आग कोविड टीका निर्माण इकाई से दूर लगी है, लिहाजा 'कोविडशील्ड' टीकों के निर्माण पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है. पुलिस उपायुक्त नम्रता पाटिल ने पीटीआई-भाषा से कहा कि पूर्वाह्न करीब पौने तीन बजे सीरम संस्थान के परिसर में स्थित एसईजेड 3 भवन के तीसरे और चौथे तल पर आग लग गई. उन्होंने कहा, 'प्राथमिक सूचना के अनुसार तीन लोगों को भवन से बाहर निकाल लिया गया है. घटना के वायरल हुए वीडियो में भवन से धुआं उठता दिख रहा है.

परिसर में एक भवन में लगी आग: 
दमकल विभाग के एक अधिकारी ने कहा, परिसर में एक भवन में आग लगी. हमने पानी की बौछारें करने वाली गाड़ियां घटनास्थल पर भेज दी हैं. अधिकारी ने कहा कि आग लगने के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है. कोविड-19 के राष्ट्रव्यापी टीकाकरण कार्यक्रम के लिए ‘कोविशील्ड’ टीके का निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट के मंजरी केन्द्र में ही किया जा रहा है. सूत्रों ने कहा कि जिस भवन में आग लगी वह सीरम केन्द्र की निर्माणाधीन साइट का हिस्सा है और आग लगने से कोविडशील्ड के निर्माण पर प्रभाव नहीं पड़ा है.

और पढ़ें