जम्मू कश्मीर में पहली बार बनेगा हिन्दू मुख्यमंत्री !...बढ़ाई जा सकती है विधानसभा सीटें

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/06/04 03:15

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में पहली बार हिन्दू मुख्यमंत्री बनाने की तैयारियां की जा रही है. जानकार सूत्रों ने इस बात का खुलासा किया है कि हिन्दू सीएम के लिए जम्मू कश्मीर विधानसभा में सीटें बढ़ाई जा सकती है. गृह मंत्री अमित शाह और राज्यपाल सत्यपाल मलिक के बीच इस बारे में मंत्रणा भी हुई है. सूत्रों की माने तो J&K में विस सीटें बढ़ाने की संभावनाओं को तलाशने के लिए गुप्त मंत्रणा की गई है. गुप्त मंत्रणा में गृह सचिव और IB चीफ भी मौजूद रहे. ऐसे में अब J&K में नए सिरे से परिसीमन को जल्द ही हरी झंडी मिल सकती है. साथ ही J&K में जल्द विधानसभा चुनाव कराने को लेकर गृह मंत्री ने राज्यपाल से चर्चा की है. 

जम्मू-कश्मीर में ज्यादातर समय तक नेशनल कॉन्फ्रेंस का रहा शासन
वर्ष 1947 में जम्मू कश्मीर के भारतीय संघ में शामिल होने के बाद से एक पार्टी के शासन से राज्य की सभी 87 विधानसभा सीटों के लिए राज्य का राजनीतिक परिदृश्य पूरी तरह से बदल गया है. जम्मू-कश्मीर में ज्यादातर समय तक नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) का शासन रहा. कभी-कभी राष्ट्रपति शासन भी रहा, लेकिन राज्य में पीपुल्स ड्रेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के गठन के बाद से वर्ष 2002 और 2008 में गठबंधन सरकारें भी रहीं. उल्लेखनीय है कि इन दोनों ही अवसरों पर कांग्रेस ने पीडीपी और एनसी के साथ सत्ता में भागीदारी की.

कश्मीरी पंडितों के वोट बैंक को अपने खाते में डालने के इरादे से मैदान में उतरने की तैयारी 
पर राज्य में अब भाजपा के प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हिंदू बहुल सीटों और कश्मीरी पंडितों के वोट बैंक को अपने खाते में डालने के इरादे से मैदान में उतरने की तैयारी कर रही है और ऐसे में कांग्रेस की हालत खराब होना तय माना जा रहा है. संभवत: अब इसका इतना भी महत्व नहीं रहेगा कि यह किसी सरकार में भी शामिल हो सके. हालांकि राज्य की सभी क्षेत्रीय पार्टियों ने भाजपा के साथ गठबंधन करने से इनकार कर दिया है, लेकिन राजनीतिज्ञों के भाजपा के साथ बहती हवा में जाने की संभावना अधिक नजर आ रही है. सभी क्षेत्रीय दलों का कहना है कि भाजपा राज्य को सांप्रदायिक आधार पर विभाजित करना चाह रही है. अब देखना यह होगा की भाजपा J&K में विधानसभा सीटें बढ़ाकर उसका लाभ कितना लाभ लें पाती हैं.  

 ...नीरज शर्मा फर्स्ट इंडिया न्यूज
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in