Live News »

कश्मीर मसले पर भारत को मिला ब्रिटिश सांसद का समर्थन, कहा - पहले PoK खाली करे पाकिस्तान

कश्मीर मसले पर  भारत को मिला ब्रिटिश सांसद का समर्थन, कहा - पहले PoK खाली करे पाकिस्तान

लंदन: कश्मीर का राग अलापने वाले पाकिस्तान को अब ब्रिटेन के एक सांसद ने करारा जवाब दिया है.ब्लैकमैन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लंबे समय से समर्थक रहे हैं और ब्रिटिश हिंदुओं पर सर्वदलीय संसदीय समूह (एपीपीजी) के प्रमुख भी हैं.ब्रिटिश सांसद बॉब ब्लैकमैन ने कहा है कि पूरा जम्मू- कश्मीर क्षेत्र भारत के प्रभुत्व वाला हिस्सा है और पाकिस्तान से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को छोड़ने का आग्रह किया

ब्लैकमैन ने ब्रिटेन में कश्मीरी पंडित समूह द्वारा आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए यह बयान दिया.उन्होंने भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा देने के भारत के फैसले का समर्थन किया है.

कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद ने भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू- कश्मीर को विशेष दर्जा देने के भारत के फैसले के बाद संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को स्थानांतरित करने की इस्लामाबाद की योजना की आलोचना की ब्लैकमैन ने कहा, 'जम्मू- कश्मीर भारत के प्रभुत्व वाला हिस्सा है, और जो लोग संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को लागू करने के लिए कहते हैं, वे पहले के प्रस्ताव को अनदेखा करते हैं ब्लैकमैन ने कहा पाकिस्तानी सैन्य बलों को राज्य को फिर से एकजुट करने के लिए कश्मीर छोड़ देना चाहिए.
हाल ही में, उन्होंने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को पत्र लिखकर भारत के खिलाफ कथित रूप से भड़काऊ बयान देने के लिए विपक्षी लेबर पार्टी के सांसदों की शिकायत की थी.

उन्होंने आगे कहा, 'मैं जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को समाप्त करने के फैसले का समर्थन करता हूं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के घोषणापत्र के मुताबिक फिर से उचित और मजबूत नेतृत्व दिखाया है अब जम्मू- कश्मीर को भारतीय संविधान में ठीक से एकीकृत करने का समय है

और पढ़ें

Most Related Stories

सीएम केजरीवाल का बड़ा फैसला, दिल्ली के निजी-सरकारी अस्पतालों में होगा सिर्फ दिल्लीवासियों का ट्रीटमेंट

 सीएम केजरीवाल का बड़ा फैसला, दिल्ली के निजी-सरकारी अस्पतालों में होगा सिर्फ दिल्लीवासियों का ट्रीटमेंट

नई दिल्ली: अब दिल्ली में दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्ली के लोगों का इलाज किया जाएगा. जबकि दिल्ली में स्थित केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा. कोरोना संकट के बीच दिल्ली कैबिनेट ने यह फैसला लिया है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने रविवार को इसका ऐलान किया. सीएम गहलोत ने कहा कि जून के अंत तक 15 हजार कोरोना के मरीजों के लिए बेड की जरूरत होगी. एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर सरकार ने यह फैसला लिया है कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली के निवासियों का इलाज किया जाएगा.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 3 मौत, 48 नए पॉजिटिव केस, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 10 हजार 385

सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज हो:
प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम  केजरीवाल ने कहा कि मार्च के माह तक दिल्ली के सारे अस्पताल पूरे देश के लोगों के लिए खुले रहे. किसी भी समय दिल्ली के अस्पतालों में 60 से 70 प्रतिशत लोग दिल्ली से बाहर के थे. लेकिन कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में अगर दिल्ली के अस्पताल बाहर वालों के लिए खोल दिए तो दिल्ली वालों का क्या होगा? सीएम गहलोत ने कहा कि इस संबंध में लोगों की राय मांगी गई थी. इसमें दिल्ली के 90 फ़ीसदी लोगों ने कहा कि जब तक कोरोना है, तब तक दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज हो. 

-दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस
-कल से दिल्ली में धार्मिक स्थल, मॉल, रेस्टोरेंट खुलेंगे
-कल से दिल्ली के बॉर्डर खुलेंगे
-होटल, बैक्वेंट हॉल अभी नहीं खोले जाएंगे
-होटलों को अस्पताल में बदलना पड़ सकता है'
-लॉकडाउन खत्म हुआ है, कोरोना नहीं
-सभी लोग मास्क जरूर पहनें
-दिल्ली के सरकारी, निजी अस्पतालों में होगा दिल्लीवालों का इलाज
-केन्द्र के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा
-कोरोना के वक्त सभी का इलाज संभव नहीं
-दिल्ली में बढ़ते कोरोना संकट के चलते लिया फैसला

कल से खोल जाएंगे दिल्ली के बॉर्डर:
इसी के साथ दिल्ली से बाहर के सभी लोगों के लिए बॉर्डर खोल दिए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सोमवार से दिल्ली में रेस्टोरेंट, मॉल्स और धार्मिक स्थल खोले जाएंगे, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना सबको जरूरी है. 

भारत-चीन वार्ता पर विदेश मंत्रालय का बयान, कहा- चीन से सैन्य वार्ता शांतिपूर्ण माहौल में हुई

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 3 मौत, 48 नए पॉजिटिव केस, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 10 हजार 385

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 3 मौत, 48 नए पॉजिटिव केस, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 10 हजार 385

जयपुर: राजस्थान में लगातार कोरोना वायरस के मरीजों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है. पिछले 12 घंटे में 3 लोगों की मौत हो गई. जबकि 48 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. राजस्थान में अब कुल 2545 एक्टिव केस है. राजस्थान में कुल 7606 रिकवर्ड मरीज है. राजस्थान में कुल पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 10385 पहुंच गया है. 

कुल प्रवासी पॉजिटिव 3020:
राजस्थान में अब तक कोरोना की चपेट में आने से 234 लोगों की मौत हो गई. कुल 3020 प्रवासी कोरोना पॉजिटिव मिले है. रविवार सुबह अलवर 1, बांसवाड़ा 1, भरतपुर 4, भीलवाड़ा 1चित्तौड़गढ़ 2, दौसा 1, जयपुर 24, जालोर 1, झुंझुनूं 3, कोटा 3, नागौर 1, सवाईमाधोपुर 1, सिरोही 1, टोंक 1, झालावाड़ 1 अन्य राज्य के 2 पॉजिटिव केस सामने आये है.

देश में नहीं होगा 11 जुलाई को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन, कोरोना के चलते जस्टिस एनवी रमन्ना ने लिया फैसला

शनिवार को आये थे 253 नए पॉजिटिव केस:
शनिवार को राजस्थान में कोरोना की वजह से 13 लोगों की मौत हो गई. जबकि 253 नए पॉजिटिव केस सामने आये थे. राजस्थान में अब तक 231 लोगों की कोरोना की चपेट में आने से मौत हो चुकी थी. वहीं कुल 10 हजार 337 मामले सामने आ चुके थे. शनिवार को अजमेर में 1, बारां में 1, बाड़मेर में 1, भरतपुर में 63, भीलवाड़ा में 3, बीकानेर में 1, चित्तौड़गढ़ में 3, चूरू में 10, दौसा में 2, धौलपुर में 1, डूंगरपुर में 1, जयपुर में 36, झुंझुनूं में 1, जोधपुर में 56, करौली में 9, कोटा में 3, नागौर में 4, पाली में 14, राजसमंद में 1, सवाईमाधोपुर में 15, सीकर में 13, सिरोही में 4, उदयपुर में 9, अन्य राज्य से 1 मरीज पॉजिटिव ​मिला था. 

COVID-19: देश में तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमितों का ग्राफ, पिछले 24 घंटे में 9,971 नए मामले, 287 की मौत

COVID-19: देश में तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमितों का ग्राफ, पिछले 24 घंटे में 9,971 नए मामले, 287 की मौत

COVID-19: देश में तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमितों का ग्राफ, पिछले 24 घंटे में 9,971 नए मामले, 287 की मौत

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के नए मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है. कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ने के साथ-साथ मरने वालों का ग्राफ भी तेजी से बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के सर्वाधिक 10 हजार के करीब नए मामले सामने आये है और इस दौरान 287 लोगों की मौत भी हुई है. 

देश में मामले बढ़कर हुए 2,46,628:
देश में कोरोना वायरस के कुल मामले 2 लाख 46 हजार 628 हो गए है. वहीं कोरोना की चपेट में आने से अब तक 6 हजार 929 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में कोरोना के 1 लाख 20 हजार 406 एक्टिव केस है. कोरोना के अब तक 1 लाख 19 हजार 293 मरीज इलाज के बाद ठीक हुए है. कोरोना के 24 घंटे में 9,971 नए मामले सामने आये. 287 लोगों की मौत हो गई. पिछले 24 घंटे में 5,220 संक्रमित इलाज के बाद ठीक हुए है.

गुजरात राज्यसभा चुनाव को लेकर बड़ा अपडेट, कांग्रेस विधायकों को फिर एक बार राजस्थान में किया गया शिफ्ट 

दिल्ली में 27 हजार के करीब मामले:
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र, तमिलनाडु और दिल्ली देश में सबसे प्रभावित राज्यों में बने हए हैं. राजधानी दिल्ली में भी स्थिति खराब होती जा रही है. 1,320 नए मामलों के साथ सक्रमितों का आंकड़ा 27,654 हो गया है. दिल्ली में 16 हजार से ज्यादा एक्टिव केस है, जबकि 10 हजार से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं.

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा पॉजिटिव:
अगर बात करें देश के महाराष्ट्र राज्य की, तो यहां पर कोरोना के सबसे ज्यादा मामले है. महाराष्ट्र में कुल 82 हजार 968 कोरोना के केस है. जबकि तमिलनाडु में 30 हजार 152 मामले सामने आ चुके है. वहीं दिल्ली में 27,654, गुजरात 19,592 और राजस्थान में  10 हजार 331 कोरोना के मामले मिल चुके है. 

देश में नहीं होगा 11 जुलाई को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन, कोरोना के चलते जस्टिस एनवी रमन्ना ने लिया फैसला

गुजरात राज्यसभा चुनाव को लेकर बड़ा अपडेट, कांग्रेस विधायकों को फिर एक बार राजस्थान में किया गया शिफ्ट 

नई दिल्ली: गुजरात में राजनीतिक घमासान अभी भी जारी है. इस बीच खबर मिल रही है कि गुजरात कांग्रेस विधायकों को फिर एक बार राजस्थान में शिफ्ट किया गया है. आबू रोड के पास जांबुड़ी स्थित रिसॉर्ट में कांग्रेस के 18 विधायक पहुंचे. करीब आधा दर्जन और कांग्रेसी विधायक दोपहर तक पहुंच सकते है.

वाइल्ड विंड्स रिसॉर्ट में ठहरे हैं विधायक:
गुजरात बॉर्डर के करीब जांबुड़ी स्थित वाइल्ड विंड्स रिसॉर्ट में विधायकों को रोका गया है. कुछ विधायकों को रविवार रात या कल तक जयपुर लाने की अटकलें लगाई जा रही है. 17 जून तक इन विधायकों को यही रोकने की चर्चा है. गुजरात पूर्व पीसीसी चीफ सिद्धार्थ पटेल भी जांबुड़ी पहुंचे. सिद्धार्थ पटेल की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बातचीत हुई. पूर्व उप मुख्य सचेतक रतन देवासी भी रिसॉर्ट पहुंचे.  

हाउसिंग बोर्ड को मिली बड़ी जिम्मेदारी, विधायकों के नए आवासों के प्रोजेक्ट की कमान

विधायकों के इस्तीफे देने के बाद पार्टी सकते में:
गौरतलब है कि एक के बाद एक कांग्रेस के विधायकों द्वारा विधायकी और पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दिए जाने के बाद कांग्रेस गुजरात कांग्रेस पार्टी सकते में हैं. राज्यसभा के चुनाव नजदीक है और कांग्रेस ने राज्यसभा उम्मीदवारी के लिए अपने दो उम्मीदवार मैदान में उतरने का फैसला लिया है. लेकिन कांग्रेस से जिस तरह लगातार विधायक अपने पद से इस्तीफा दे रहे हैं, जिससे गुजरात कांग्रेस की मुसिबतें बढने लग गई है. 

देशभर में अनलॉक-1 में बाजारों में लौटने लगी रौनक, दुकानें खुलने के साथ बाजारों में लौटने लगे ग्राहक

देशभर में अनलॉक-1 में बाजारों में लौटने लगी रौनक, दुकानें खुलने के साथ बाजारों में लौटने लगे ग्राहक

देशभर में अनलॉक-1 में बाजारों में लौटने लगी रौनक, दुकानें खुलने के साथ बाजारों में लौटने लगे ग्राहक

नई दिल्ली: देशभर में अनलॉक-1 के तहत बाजारों में रौनक लौटने लग गई है. दुकानें खुलने के साथ बाजारों में ग्राहक लौटने लग गए है. इससे पहले 77 दिनों से कोरोना की वजह से बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ था. कोरोना संकट के बीच देशव्यापी लॉकडाउन में इमरजेंसी सेवाओं को छोडकर सभी चीजें बंद थे. ऐसे में लोगों को घरों से निकले की पाबंदी थी. अब अनलॉक-1 के तहत केन्द्र सरकार और राज्य सरकार ने देशवासियों को राहत दी है. बाजारों को खोलने से पहले केन्द्र और राज्य सरकार की गाइडलाइन जारी हुई, जिसके बाद बाजारों को खोलने की अनुमति दी है.. सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क समेत कई नियमों को पालन करना होगा.

बाजार खुलते ही बाजारों में रौनक लौटने लगी:
अनलॉक 1 के तहत बाजार खुलते ही बाजारों में रौनक लौटने लगी है. रोजाना के इस्तेमाल होने वाले उत्पाद बिकने शुरू हो गए है. जिससे बाजार गुलजार होने लग गए है. अब सडकों पर वाहनों की चहल पहल होने लग गई है. देशभर में गाड़ियों के 90 फीसदी शोरूम खुल गए है. कपड़ों की जो दुकानें खुल रही वहां 40 फीसदी ग्राहक आना शुरू हो गए है.

अब योग से दूर होगा तनाव, अजमेर पुलिसकर्मियों ने किया योग

राजस्थान,केरल,कर्नाटक में दुकानों पर बढ़ रहे ग्राहक:
मीडिया रिपोर्टस की माने तो राजस्थान,केरल,कर्नाटक में दुकानों पर ग्राहक बढ़ रहे. देश का सबसे बड़ा सोने का बाजार मुंबई के झवेरी मार्केट में 10-15 प्रतिशत कारोबार हुआ. वहीं देशभर में जून में एक लाख कार बिकने की उम्मीद जताई जा रही है.

बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरू: 
कोरोना संकट के बीच बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरू हो गई है. ऐसे में अब अभिभावक 15 हजार से कम कीमत के मोबाइल फोन खरीद रहे है, जिससे बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई हो सके. जिसकी वजह से मोबाइल बाजार में बिक्री बढने लग गई है. हालांकि स्टोर पर इस सेगमेंट के फोन की आपूर्ति पूरी नहीं हो पा रही है. वहीं वर्क फ्रॉम होम के कारण लैपटॉप की बिक्री 60 प्रतिशत तक हो रही है.

हाउसिंग बोर्ड को मिली बड़ी जिम्मेदारी, विधायकों के नए आवासों के प्रोजेक्ट की कमान

हाउसिंग बोर्ड को मिली बड़ी जिम्मेदारी, विधायकों के नए आवासों के प्रोजेक्ट की कमान

जयपुर: विधायकों के लिए राजधानी के ज्योतिनगर में बनने वाले नए आवासों को लेकर शनिवार को विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के निवास पर बैठक आयोजित हुई. बैठक में फ़ैसला हुआ है कि  जालूपुरा और लालकोठी की जमीन की नीलामी अब जेडीए नहीं बल्कि प्रोजेक्ट के लिए नोडल एजेंसी बना हाउसिंग बोर्ड करेगा. विधायकों के नए आवासों के प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी हाउसिंग बोर्ड को मिलने के बाद इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के निवास पर हुई बैठक में कई और बड़े फैसले लिए गए हैं. इस प्रोजेक्ट के लिए जालूपुरा और लालकोठी की जमीन को भी अब हाउसिंग बोर्ड ही नीलाम करेगा. बोर्ड अपनी प्लानिंग और जरूरत के अनुसार इस जमीन की नीलामी कर सकेगा.

जमीन हाउसिंग बोर्ड के नाम करने का महत्वपूर्ण फैसला:
अभी तक इस जमीन को नीलाम कर के धनराशि जुटाने की जिम्मेदारी जेडीए के पास थी लेकिन शनिवार को हुई बैठक में यह जमीन हाउसिंग बोर्ड के नाम करने का महत्वपूर्ण फैसला हुआ है. लालकोठी और जालूपुरा की जमीन जल्द हाउसिंग बोर्ड के नाम पर दर्ज होगी. इस सम्बंध में विधानसभा लिखित आदेश भी जारी करेगी. दोनों सम्पत्तियों को बोर्ड को देने के लिए कमिश्नर पवन अरोड़ा ने काफी प्रभावी तर्क दिए थे. अरोड़ा का कहना था कि क्योंकि प्रोजेक्ट का काम हाउसिंग बोर्ड को करवाना है ऐसे में अगर जेडीए की ओर से जमीनों को नीलाम करने में देरी हुई तो प्रोजेक्ट में देरी हो सकती है.प्रोजेक्ट का काम क्योंकि हाउसिंग बोर्ड कराएगा ऐसे में खर्चे के लिहाज से कब कितनी जमीन नीलाम करनी है यह भी बोर्ड ही बेहतर तरीके से तय कर सकता है.बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा के प्रभावी तर्कों के बाद लालकोठी और जालूपुरा की जमीन बोर्ड को देने का फैसला लिया गया. दोनों जमीनें बोर्ड के नाम दर्ज होने के बाद अब हाउसिंग बोर्ड अपनी गुडविल से प्रोजेक्ट की जरूरत के अनुसार जमीन की नीलामी कर सकेगा.  

अब योग से दूर होगा तनाव, अजमेर पुलिसकर्मियों ने किया योग

-विधायकों के नए आवासों के प्रोजेक्ट की नोडल एजेंसी  होगा हाउसिंग बोर्ड 
-अब पूरी तरह से हाउसिंग बोर्ड के पास रहेगी इस प्रोजेक्ट की कमान
-हाउसिंग बोर्ड को मिला लालकोठी और जालूपुरा की जमीनों को नीलाम करने का अधिकार
-पहले जेडीए को यहाँ की जमीनें बेचकर एकत्रित करनी थी प्रोजेक्ट के लिए धनराशि
-लेकिन हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा के तर्कों के बाद हाउसिंग बोर्ड के नाम दर्ज होंगी दोनों जमीनें
-दोनों जमीनें हाउसिंग बोर्ड के नाम दर्ज करने के लिए विधानसभा से जारी होंगे आदेश
-अब प्रोजेक्ट की जरूरत के हिसाब से जमीन की नीलामी करेगा हाउसिंग बोर्ड
-हाउसिंग बोर्ड की गुडविल से जमीनों की नीलामी भी हो सकेगी बेहतर

शांति धारीवाल की मौजूदगी में हुई बैठक:
UDH मंत्री शांति धारीवाल की मौजूदगी में हुई बैठक में यह फ़ैसला लिया गया कि जो विधायक लालकोठी और जालूपुरा के सरकारी आवास खाली करेंगे उन्हें बोर्ड की ओर से बोर्ड की लोकप्रिय योजनाएं  सरस्वती अपार्टमेंट,द्वारका ट्विन्स और व्यास अपार्टमेंट में रियायती दरों पर आवास खरीदने का प्रस्ताव दिया जाएगा.जो विधायक आवास खरीदना नहीं चाहेंगे उन्हें बोर्ड की ओर से यह आवास 30 हजार रुपए प्रति महीने की दर से किराए पर दिए जाएंगे.हाउसिंग बोर्ड को इस किराए का भुगतान विधानसभा की ओर से किया जाएगा.प्रोजेक्ट को गति देने के लिए बैठक के तय हुआ हुआ कि प्रोजेक्ट की मॉनीटिरिंग के लिए UDH मंत्री की ओर से बनाई गई कमेटी जिसमे मंत्री और विपक्ष के नेता भी शामिल हैं उस कमेटी को अगले 15 दिन में प्रोजेक्ट के आर्टिटेक्ट की ओर से तैयार की गई कॉन्सेप्ट रिपोर्ट का प्रजेंटेशन दिया जाएगा.हाउसिंग बोर्ड की ओर से जल्द ही इस प्रोजेक्ट की डिजाइज तैयार की जाएगी और डिजाइन तैयार होते ही बोर्ड की ओर से प्रोजेक्ट के लिए टेंडर कर दिए जाएंगे.

सीएम गहलोत का धर्मगुरुओं से संवाद, 50 से अधिक धर्मगुरुओं से किया सीएम ने संवाद

-विधायकों को सरकारी आवास खाली करने के बाद नहीं आने दी जाएगी कोई असुविधा
-विधायकों को दिया जाएगा हाउसिंग बोर्ड की शानदार योजनाओं में रियायती दरों पर फ्लैट खरीदने का प्रस्ताव
-फ्लैट नहीं खरीदने वाले विधायकों को किराए पर आवास उपलब्ध कराएगा हाउसिंग बोर्ड
-प्रोजेक्ट की नोडल एजेंसी बनते ही हाउसिंग बोर्ड ने संभाला मोर्चा
-अगले 15 दिन में UdH मंत्री की ओर से बनी मंत्रियों की कमेटी को दिया जाएगा प्रजेंटेशन
-प्रजेंटेशन के बाद डिजाइन फ़ाइनल करने का काम करेगा हाउसिंग बोर्ड
-डिजाइन ओके होते ही कर दिए जाएंगे इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट के लिए टेंडर

विधानसभा अध्यक्ष के निवास पर हुई इस महत्वपूर्ण बैठक में UDH मंत्री के साथ ही UDH के प्रमुख शासन सचिव भास्कर सावंत,हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा,जेडीसी टी रविकांत,विधानसभा सचिव प्रमिल माथुर समेत कई अधिकारी मौज़ूद रहे.

...फर्स्ट इंडिया के लिए शिवेंद्र सिंह परमार की रिपोर्ट

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 13 मौतें, 253 नए पॉजिटिव केस, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 10 हजार 337 

जयपुर: राजस्थान में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा होता ही जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 13 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 253 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. राजस्थान में अब तक 231 लोगों की कोरोना की चपेट में आने से मौत हो चुकी है. वहीं कुल 10 हजार 337 मामले सामने आ चुके है. 

पिछले 24 घंटे में 13 मरीजों की मौत:
अकेले जयपुर में सर्वाधिक 4 मरीजों की मौत हो गई. इसके अलावा भरतपुर, भीलवाड़ा, धौलपुर, जोधपुर, कोटा, नागौर, सवाई माधोपुर में एक-एक मरीज की मौत हो गई.राज्य से बाहर के 2 मरीज की भी मौत हुई. 

सीएम गहलोत का धर्मगुरुओं से संवाद, 50 से अधिक धर्मगुरुओं से किया सीएम ने संवाद

भरतपुर में मिले सबसे ज्यादा मरीज:
शनिवार को अजमेर में 1, बारां में 1, बाड़मेर में 1, भरतपुर में 63, भीलवाड़ा में 3, बीकानेर में 1, चित्तौड़गढ़ में 3, चूरू में 10, दौसा में 2, धौलपुर में 1, डूंगरपुर में 1, जयपुर में 36, झुंझुनूं में 1, जोधपुर में 56, करौली में 9, कोटा में 3, नागौर में 4, पाली में 14, राजसमंद में 1, सवाईमाधोपुर में 15, सीकर में 13, सिरोही में 4, उदयपुर में 9, अन्य राज्य से 1 मरीज पॉजिटिव मिला. 

शुक्रवार को प्रदेश में 222 नए रोगी सामने आए:
इससे पहले शुक्रवार को प्रदेश में 222 नए रोगी सामने आए. वहीं पांच रोगियों ने दम भी तोड़ा है. इनमें अजमेर में 2, जयपुर व सवाई माधोपुर में 1-1 तथा एक बाहरी राज्य के रोगी की मौत हुई. सर्वाधिक 51 पॉजिटिव मरीज अकेले जोधपुर में चिह्नित किए गए है. बारां 4, भरतपुर 42, भीलवाड़ा 3, जयपुर 16 मरीज पॉजिटिव, झालावाड़ 24, झुंझुनूं 8, कोटा 2, नागौर में 9 मरीज पॉजिटिव, पाली 19, राजसमंद 12, सवाई माधोपुर एक, सीकर 17 मरीज पॉजिटिव, सिरोही 10, उदयपुर में 1 और राज्य से बाहर के 3 मरीज पॉजिटिव मिले है. 

प्राधिकरण,न्यास और शहरी निकायों की लापरवाही, फायर सेस जमा करने में बरती जा रही लापरवाही 

सीएम गहलोत का धर्मगुरुओं से संवाद, 50 से अधिक धर्मगुरुओं से किया सीएम ने संवाद

सीएम गहलोत का धर्मगुरुओं से संवाद, 50 से अधिक धर्मगुरुओं से किया सीएम ने संवाद

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना महामारी के कारण आमजन के लिए बंद किए गए धर्म स्थलों को पुनः खोलने के लिए शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभी धर्मों के धर्म गुरूओं, संत-महंतों, धर्म स्थलों एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ विस्तृत चर्चा की. सभी ने एक राय से मुख्यमंत्री गहलोत को कहा कि धार्मिक स्थान का लॉक डाउन 30 जून तक जारी रखना चाहिए. इस बीच चर्चा में आए सुझावों के आधार पर धर्म स्थल खोलने के लिए सीएम ने जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी गठित करने का निर्णय लिया.

सभी प्रमुख मंदिरों के महंतों-पुजारियों से की बात:
मुख्यमंत्री गहलोत ने बड़ी पहल करते हुए शनिवार को प्रदेश के प्रमुख धर्मगुरुओं और धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ तीन घंटे तक गहन विचार विमर्श किया. प्रदेश के विभिन्न जिलों से प्रमुख धार्मिक स्थानों के 232 प्रतिनिधि मौजूद थे. मुख्यमंत्री ने इनमें से 50 से अधिक प्रतिनिधियों और धर्मगुरुओं से चर्चा की. मोती डूंगरी गणेश मंदिर महंत कैलाश शर्मा से सीएम गहलोत ने चर्चा की शुरुआत की. कैलाश शर्मा ने कहा कि अभी धार्मिक स्थान खोलने में जल्दबाजी होगी, क्योंकि संक्रमण अभी फैल रहा है. ऐसे में धार्मिक स्थान खोलने से पहले पुलिस व प्रशासन पूरी तैयारी करे. अन्य धार्मिक प्रतिनिधियेां ने भी इसी सुर में सुर मिलाते हुए कहा कि धार्मिक स्थानों पर लॉक डाउन 30 जून तक रखना चाहिए. खाटूश्यामजी व सालासर बालाजी मंदिर के अलावा अजमेर दरगाह कमेटी के प्रतिनिध भी मौजूद थे. अमीन पठान, राजेंद्र गोधा, अवधेशाचार्य, खानू खान, अंजन कुमार सहित कई लोगों ने चर्चा में हिस्सा लिया.

8 जून से खुलेंगे रणथंभौर और सरिस्का, एनटीसीए ने दोनों को खोलने की दी मंजूरी

धर्म स्थलों को खोलने के संबंध में देगी सुझाव: 
इस वीसी में सीएम गहलोत ने कहा कि जिला स्तरीय कमेटी धार्मिक स्थलों की स्थिति, सोशल डिस्टेंसिंग, सैनेटाइजेशन सहित अन्य हैल्थ प्रोटोकॉल के साथ संक्रमण से बचाव के विभिन्न उपायों पर विमर्श कर धर्म स्थलों को खोलने के संबंध में सुझाव देगी. कमेटी में पुलिस अधीक्षक और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के साथ ही सभी धर्मों के धर्मगुरू, जिले के प्रमुख धार्मिक स्थलों के मुख्य महंत, ट्रस्टी एवं व्यवस्थापक सदस्य के रूप में शामिल होंगे.मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के मामले जैसे ही सामने आये, राज्य सरकार ने इस चुनौती से निपटने के लिए धर्म गुरूओं, जनप्रतिनिधियों, स्वयंसेवी संगठनों, उद्यमियों सहित सभी वर्गों को साथ लिया. उन्होंने कहा कि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, ऎसे में धर्म स्थलों को फिर से खोले जाने में आप सबके सुझाव महत्वपूर्ण हैं. धर्म गुरूओं के संदेश का समाज में एक अलग प्रभाव होता है.

चिकित्सा के आधारभूत ढांचे को मजबूत करने की पहल:
चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि संकट की इस घड़ी को राज्य सरकार ने एक अवसर के रूप में लेते हुए प्रदेश में चिकित्सा के आधारभूत ढांचे को मजबूत करने की पहल की है. उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर राजस्थान की उपलब्धियों की सर्वत्र प्रसंशा हो रही है. प्रदेश की सभी धार्मिक संस्थाओं ने इस लड़ाई में भरपूर सहयोग दिया है. अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा रोहित कुमार सिंह ने बताया कि प्रदेश में अब तक कोरोना के 10 हजार से अधिक मामले सामने आए हैं, जिनमें से 7384 रोगी ठीक भी हो चुके हैं. वीडियो कॉन्फेंस के दौरान राज्य मंत्रिमण्डल के सदस्य, अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह राजीव स्वरूप, पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह, सूचना एवं जनसम्पर्क आयुक्त महेन्द्र सोनी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

फिर से लौटेगी होटल, रेस्टोरेंट और क्लबों में रौनक, इन गतिविधियों को सशर्त दी गई खोलने की अनुमति

Open Covid-19