नई दिल्ली: मत्स्य सब्सिडी पर WTO में एक सितंबर से शुरू होगा गहन विचार-विमर्श

मत्स्य सब्सिडी पर WTO में एक सितंबर से शुरू होगा गहन विचार-विमर्श

मत्स्य सब्सिडी पर WTO में एक सितंबर से शुरू होगा गहन विचार-विमर्श

नई दिल्ली: मत्स्य सब्सिडी पर प्रस्तावित समझौते को लेकर मतभेदों को दूर करने के लिए जिनेवा में विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के सदस्यों देशों के बीच एक सितंबर से गहन बातचीत शुरू होगी. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया कि इस बातचीत का उद्देश्य जल्द वार्ता को पूरा करना है ताकि सदस्य देश 12वें मंत्रिस्तरीय सम्मेलन से पहले संधि के ब्योरे को अंतिम रूप दे सकें. मंत्रिस्तरीय सम्मेलन 30 नवंबर से जिनेवा में होना है.

उन्होंने बताया कि सदस्यों देशों के बीच बातचीत दो चरण में होगी. पहला चरण एक से 12 सितंबर तक चलेगा. दूसरा चरण 13 सितंबर से आठ अक्टूबर तक होगा. पहले चरण के दौरान नियमों पर वार्ता समूह के प्रमुख राजदूत सैंटियागो विल्स विभिन्न स्वरूपों में परामर्श करेंगे. इसके तहत सदस्य देश प्रमुख मुद्दों पर विल्स से मिलेंगे या आपस में विचार-विमर्श करेंगे. वही 13 सितम्बर से आठ अक्टूबर के बीच दूसरे चरण में मूल मुद्दों पर गहरी बातचीत होगी, जिन पर सदस्य देशों के अलग-अलग विचार हैं. दूसरे चरण का मुख्य उद्देश्य मतभेदों को कम करना और वार्ता के मसौदे में सुधार करना है.

अधिकारी ने कहा कि इस बातचीत का उद्देश्य 12वें मंत्रिस्तरीय सम्मेलन से पहले पूरी तरह से सहमति के बाद ब्योरे को अंतिम रूप देना है. इससे पहले डब्ल्यूटीओ की मंत्रिस्तरीय बैठक में वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि विकासशील और अल्प विकसित देशों (एलडीसी) की चिंताओं को दूर करने के लिए सदस्य देशों को अभी भी महत्वपूर्ण सुधार करने की आवश्यकता है. (भाषा) 

और पढ़ें