जयपुर Jaipur: नाम नहीं था, लेकिन लगवाया सबसे पहले टीका! बात जयपुर के जेके लोन अस्पताल की...

Jaipur: नाम नहीं था, लेकिन लगवाया सबसे पहले टीका! बात जयपुर के जेके लोन अस्पताल की...

Jaipur:  नाम नहीं था, लेकिन लगवाया सबसे पहले टीका! बात जयपुर के जेके लोन अस्पताल की...

जयपुर: प्रदेश में भी दुनिया के सबसे बड़े कोरोना टीकाकरण अभियान का आगाज हो चुका है. राजस्थान में शनिवार को 167 केंद्रों पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है. अगर बात राजधानी के जेके लोन अस्पताल की करे तो यहां एक ऐसा मामला सामने आया है जहां कोविड टीकाकरण में चिकित्सा अधीक्षक का नाम नहीं था लेकिन फिर भी उन्होंने उत्साहवर्धन के लिए अस्पताल में सबसे पहला टीका लगवाया. 

पहले दिन की सूची में नाम नहीं था:
बता दें कि अधीक्षक डॉ.अरविन्द शुक्ला का पहले दिन की सूची में नाम नहीं था लेकिन चिकित्सकों व अन्य स्टाफ के उत्साहवर्धन के लिए सबसे पहला टीका यहां उनको ही लगाया गया. कुछ अन्य HOD के भी पहले दिन की सूची में नाम नहीं थे लेकिन सभी ने अपने नाम लिखाकर टीके लगवाए. 

राजस्थान में वीबी सिंह को पहला टीका लगाया गया: 
प्रदेश में अजमेर मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल वीबी सिंह को पहला टीका लगाया गया है. उसके बाद सभी 33 जिलों में डॉक्टरों से वैक्सीनेशन की शुरुआत हो गई है. जयपुर में 21 सेंटर्स सहित प्रदेश के सभी शहरों इसके साथ ही अब हैल्थ वॉरियर्स को टीका लगाने का सिलसिला शुरू हो चुका है.  

SMS अस्पताल में अव्यवस्था नजर आईं:
राजस्थान के सबसे बड़े SMS अस्पताल में कोरोना वैक्सीनेशन के दौरान भी अव्यवस्था नजर आईं. यहां राज्य का पहला कोरोना वैक्सीन लगना था, लेकिन तैयारियां पूरी नहीं होने के कारण वैक्सीनेशन का काम शुरू होने में पोने 2 घंटे से ज्यादा की देरी हो गई. वहीं, दूसरे अस्पतालों में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू हो गई. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट


 

और पढ़ें