मायावती ने अखिलेश यादव पर बोला करारा हमला, कहा- मुसलमानों को टिकट देने का किया था विरोध

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/06/24 07:56

लखनऊ: रविवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी की बैठक हुई. इस बैठक में पार्टी में कई बड़े बदलाव किए गए. इसमें बसपा सुप्रीमो ने पार्टी उपाध्यक्ष पद अपने भाई आनंद कुमार को दिया है. साथ ही इसा दौरान मायावती ने अखिलेश यादव पर जमकर हंगामा बोला है. समाजवादी पार्टी से गठबंधन क्यों इस बारे में भी मायावती ने विस्तार से बताया. साथ ही उन्होंने अखिलेश यादव की राजनीतिक समझ पर भी सवाल खड़े कर दिए. 

मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को ज्यादा टिकट न दूं
मायावती ने अखिलेश यादव पर मुसलमानों को टिकट ना देने का दबाव बनाने की भी बात कही. मायावती ने कहा कि एक दिन अखिलेश उनसे मिलने उनके घर आए और कहा कि मुस्लिमों को टिकट देने से साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण हो सकता है. इससे गठबंधन को नुकसान होगा. लेकिन मैंने उनकी बात नहीं मानी. वहीं बैठक में संबोधन के दौरान मायावती ने लोकसभा चुनाव में हार का जिम्मेदार भी अखिलेश को ठहराया. 

बीएसपी के खिलाफ प्रचार करने का आरोप 
इसके अलावा मायावती ने लोकसभा चुनाव में एसपी पर बीएसपी के खिलाफ प्रचार करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि अखिलेश से कई बार शिकायत की मगर भितरघात होता रहा. अखिलेश ने अपने लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं की. नतीजे आने के बाद भी संपर्क किया मगर अखिलेश ने कोई बात नहीं की. मुझे उन्हें बताना चाहिए था कि आप के लोगों ने कहां-कहां सहयोग नहीं किया.

फोन तक नहीं किया
मायवती ने अखिलेश यादव पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि गठबंधन के चुनाव हारने के बाद अखिलेश ने मुझे कोई फोन नहीं किया. जबकि सतीश चंद्र मिश्रा ने उनसे कहा कि वे मुझे फोन कर लें, लेकिन फिर भी उन्होंने फोन नहीं किया. मैंने बड़े होने का फर्ज निभाया और काउंटिग के दिन 23 तारीख को उन्हें फोन कर उनके परिवार के हारने पर अफसोस जताया.

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in