नई दिल्ली भारत ने ‘ग्राम स्वराज’, ‘पंचायतों के लोकतांत्रिक सशक्तीकरण’ में हासिल किए नए मुकाम: प्रधानमंत्री

भारत ने ‘ग्राम स्वराज’, ‘पंचायतों के लोकतांत्रिक सशक्तीकरण’ में हासिल किए नए मुकाम: प्रधानमंत्री

भारत ने ‘ग्राम स्वराज’, ‘पंचायतों के लोकतांत्रिक सशक्तीकरण’ में हासिल किए नए मुकाम: प्रधानमंत्री

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि पिछले आठ वर्ष में भारत ने ग्राम स्वराज और पंचायतों के सशक्तीकरण में नए मुकाम हासिल किए हैं. उन्होंने देश भर में गांवों के सरपंचों से सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने, जल संरक्षण करने और आने वाले योग दिवस को विशेष बनाने का आह्वान भी कहा.सरकार के आठ साल का कार्यकाल पूरा होने के कुछ दिनों बाद देश भर में सरपंचों को लिखे एक पत्र में प्रधानमंत्री ने कई मुद्दों का उल्लेख किया और उनसे उन पर सहयोग मांगा. साथ ही उन्होंने पिछले आठ सालों में उनके योगदान की सराहना भी की.

उन्होंने सरपंचों से कहा कि वे 21 जून को मनाए जाने वाले आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को विशेष बनाएं और अपने-अपने गांवों में सभी को इससे जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करें.उन्होंने आग्रह किया कि वे योग के लिए अपने गांव के किसी प्राचीन या पर्यटन स्थल या क्षेत्र में कहीं भी तालाब या जल निकाय का चयन करें और सभी को इसमें शामिल करें. साथ ही उन्होंने इसकी तस्वीरें भी साझा करने का अनुरोध किया ताकि अन्य लोगों को उससे प्रेरणा मिले.

प्रधानमंत्री ने पत्र में लिखा कि योग दिवस लोग बहुत ही उत्साह के साथ मनाते हैं और आसमान से लेकर हिमालय और समुद्र तक में देश के विभिन्न क्षेत्रों में योग करते लोगों की तस्वीरें पिछले कुछ सालों में हर भारतीय को गौरव का एहसास कराती रही हैं.उन्होंने बताया कि इस बार के योग दिवस का मुख्य विषय मानवता के लिए योग है. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान लोगों को अपने जीवन में स्वास्थ्य के महत्व का एहसास हुआ और पता चला कि इसमें योग कितनी बड़ी भूमिका निभाता है.

जल की हर एक बूंद बचाने की आवश्यकता पर जोर देते हुए मोदी ने गांवों के प्रमुखों से कहा कि वे इस दिशा में अपने प्रयासों को जारी रखें और वर्षा के जल का संचय करने के लिए हरसंभव कदम उठाएं.उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए सरकार ने आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर हर जिले में 75 अमृत सरोवर बनाने का संकल्प लिया है.

केंद्र सरकार की सभी महत्वाकांक्षी परियोजनाओं का शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने पर अक्सर जोर देते रहे मोदी ने सरपंचों से कहा कि इसमें उनकी बहुत बड़ी भूमिका है. उन्होंने सरपंचों से अपने प्रयासों को और गति देने को कहा ताकि कोई भी सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित ना रह जाए.उन्होंने कहा, ‘‘जब गांव के हर व्यक्ति तक योजनाओं का पूरा लाभ पहुंचेगा तो गांव के साथ ही पूरा देश भी समृद्ध होगा.

प्रधानमंत्री ने उनसे स्वच्छ भारत अभियान के तहत अपने प्रयासों को जारी रखने को भी कहा.ग्राम स्वराज और गरीब कल्याण के बारे में मोदी ने कहा कि ग्राम स्वराज और पंचायतों के लोकतांत्रिक सशक्तीकरण में नए मुकाम हासिल किए गए हैं. पत्र में मोदी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा हाल ही में आशा कार्यकर्ताओं को पुरस्कृत किए जाने का भी उल्लेख किया और देश में अच्छे मॉनूसन की कामना की.(भाषा) 

और पढ़ें