ज्योतिष की भविष्यवाणी- 2019 में गहलोत बन सकते है गठबंधन सरकार के प्रधानमंत्री

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/01 11:42

जोधपुर(राजीव गौड़)। राजस्थान में 7 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा-कांग्रेस किसी भी पल प्रत्याशी की सूची जारी कर सकती है । इसी बीच ज्योतिषीय आधार की बात करें तो जोधपुर के शनिधाम महंत पंडित हेमन्त बोहरा ने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की जन्म कुंडली देखकर यह कहा है कि गहलोत के उच्च राजयोग होने के कारण प्रधानमंत्री बन सकते हैं।

पूर्व सीएम अशोक गहलोत गठबंधन सरकार के प्रधानमंत्री बन सकते हैं । वर्तमान में इसका प्रबल राजयोग बन रहा है । शनिदेव के प्रबल गजकेसरी योग से गुरु का केंद्र में होने से छठे स्थान पर राहु तीसरे स्थान पर केतु होना चाहिए,जो अद्भुत योग बनता है गुरु और चंद्रमा की युति से सरकार के मुखिया बनने का योग नवंबर 2019 तक है यह योग अशोक गहलोत का  है। ये हम नही कह रहे यह कहना है  जोधपुर के शास्त्री नगर स्थित शनि धाम के महंत पंडित हेमंत बौहरा का, जिन्होंने वर्ष 1997 में भी  गहलोत के मुख्यमंत्री बनने को लेकर भविष्यवाणी की थी और वह भविष्यवाणी भी सही साबित हुई थी। 

गहलोत के राज योग प्रबल
पंडित हेमंत बोहरा की मानें तो लग्न मिथुन उत्तराभाद्रपद नक्षत्र मीन राशि 1998 से 2019 तक अशोक गहलोत के राज योग प्रबल हैं राजनीति के हर क्षेत्र में माहिर तीसरा केतु होने से वाक चातुर्य से काम बनाने की क्षमता, शत्रुओं का नाश करने की कला, नवे राहु गुरु केंद्र में होने से सभी दोष भी माफ माने जाते हैं। 

बोहरा ने बताया कि नवंबर 2019 तक समय श्रेष्ठ रहेगा इनका बुद्ध ग्यारहवें भाव में प्रभावशाली होकर प्रशासनिक पावर प्रदान कर्ता है कुल मिलाकर अशोक गहलोत के राज योग प्रबल हैं । उन्होंने बताया कि राहुल गांधी के राजयोग नहीं है गठबंधन सरकार अगर आती है तो सर्वमान्य प्रधानमंत्री उम्मीदवार अशोक गहलोत हो सकते हैं और उनकी जीत प्रबल होगी। 

शनि देव की दशा गहलोत के लिए श्रेष्ठ राज कारक 
गहलोत की कुंडली प्रबल जीत के आसार बनाती है बृहस्पति की दशा शनि देव की दशा गहलोत के लिए श्रेष्ठ राज कारक है कुल मिलाकर नेतृत्व पर निर्भर है कि वह अपने तुरूप के पत्ते को इस्तेमाल करते हैं या नहीं बाकी अशोक गहलोत का भविष्य उज्जवल है। गुरु और चंद्रमा दसवें भाव में गजकेसरी योग अद्भुत योग सरकार का मुखिया बनने का योग बनता है लग्नेश बुध ग्यारहवें भाव में सूर्य के साथ बुधादित्य योग का निर्माण करता है जातक की वाणी प्रभावशाली और कई विद्याओं का जानकार होता है गुरु केंद्र में दसवें भाव में शुभ योग है केंद्र में गुरु कुंडली के सभी दोष दूर करते हैं शुक्र बारहवें भाव में मीन राशि में स्थित है खूब प्रसिद्धि प्राप्त होगी गुरु केंद्र में स्वयं की राशि में अच्छा योग बनाता है प्रधानमंत्री पद प्राप्त कर सकते हैं राहु नौवें भाव में अपनी चतुर प्रति लोगों को प्रभावित करते हैं कुल मिलाकर सर्वश्रेष्ठ योग चल रहे हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

प्रधानमंत्री कार्यालय के PRO जगदीश ठक्कर का निधन

धौलपुर जेल से कैदी का वीडियो वायरल
मासूम बच्चो की प्रस्तुतियों ने मोहा मन
प्रेरक वक्ता राम चंदानी ने दिए सफलता के मूल मंत्र, जिंदगी वैसी बनाएं जैसी जीना चाहते है
मासूम बच्चो की प्रस्तुतियों ने मोहा मन
थम गई सरिस्का के बाघ ST-4 की साँसे
रूस के पायलेट उड़ाएँगे भारत के विमान, जोधपुर मेँ अवींद्र ड्रिल आज से
श्री गंगानगर के करणपुर के बूथ नंबर 163 पर आज पुनर्मतदान
loading...
">
loading...