जयपुर सीएम गहलोत का कटारिया पर पलटवार, कहा-जनता को जवाब हमें देना है आप क्यों चिंता कर रहे हो

सीएम गहलोत का कटारिया पर पलटवार, कहा-जनता को जवाब हमें देना है आप क्यों चिंता कर रहे हो

सीएम गहलोत का कटारिया पर पलटवार, कहा-जनता को जवाब हमें देना है आप क्यों चिंता कर रहे हो

जयपुर: राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने संबोधन में कहा कि जो भी सदस्य बोलते है मैं उसका पूरा ध्यान रखता हूं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कैलाश मेघवाल का धन्यवाद किया, सीएम गहलोत ने कहा मेघवाल ने खुलकर अपनी बात की. मैंने दांडी मार्च में कहा था कि छुआछूत मानवता पर कलंक है. सद्भावना की नई शुरुआत देश में करो. राज्य सरकार ने शांति व सद्भाव का नया प्रकोष्ठ व विभाग बनाया है. इस पर एक दिन सदन में चर्चा भी हो सकती है. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि क्या हम वित्त के विशेषज्ञ हैं. कुछ बात तो हमें वित्त विभाग के अधिकारियों पर छोड़ना चाहिए. पीडी खाते का अपना महत्व होता है. वसुंधरा जी ने आपको देवस्थान मंत्री के रूप में ऐसे ही थोड़ा भेज दिया. प्रदेश के बाहर देवस्थान की प्रॉपर्टी है,तो फिर आपकी सरकार ने क्या किया, या फिर आप मंत्री के रूप में अपनी राय देते कि क्या करना चाहिए.

17 हजार भर्तियों के किए जा चुके है परिणाम जारी:

कटारिया पर सीएम गहलोत ने कटाक्ष किया. सीएम गहलोत ने कहा कि लगता है कि आप सच बोलते है,लेकिन ऐसा होता नहीं है. मुख्यमंत्री गहलोत ने नौकरियों पर कहा कि क्या आपकी सरकार द्वारा घोषित नौकरियों को हम रोक दें? यह तो एक सतत प्रक्रिया है, अभी तक हमने 97 हजार नियुक्ति दी है. 17 हजार भर्तियों के परिणाम जारी किए जा चुके है,जल्द नियुक्ति दी जाएगी. 37 हजार नौकरी देने के लिए विज्ञप्ति जारी की जा चुकी है. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि पता नहीं आप कहां से आकंड़े लेकर आते है. कटारिया ने कहा कि मैं घर से आंकड़े थोड़े लाया हूं. यदि गलत है तो सजा भुगतने को तैयार हूं. सीएम गहलोत ने कहा कि मैं कौनसा घर से आंकड़े लाया हूं. मैं भी वहीं से आंकड़े लाया हूं जहां से आप लाये हो. गहलोत ने गुलाबचंद कटारिया से कहा कि आप बोलते हो कि मेरे बातों का जवाब नहीं देते, तो मैं आपके पास आ जाता हूं या आप मेरे घर आ जाओ. मैं सभी अफसरों को बुलाकर आपकी सभी बातों का जवाब दूंगा. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि पीएम को सामाजिक समरसता की तरफ आगे बढ़ना चाहिए. शांति अहिंसा का हमने प्रकोष्ठ तक बनाया. 

सीएम गहलोत ने कसा कटारिया पर तंज:

मेघवाल जी ने जो बात कही है तो हम चाहेंगे कि एक दिन शांति अहिंसा पर चर्चा भी हो जाए. जहां तक पीडी अकाउंट का सवाल है, उस पर आप ने जो बात कही,वह सही नहीं है. PD खातों में सोच समझ कर भेजा जाता है, जहां तक आपने देवस्थान की बात की. आप के वक्त भी देवस्थान विभाग रहा होगा,आपने क्या किया. वह अगर आप सदन में बताते तो अच्छा होता. मैं नेता प्रतिपक्ष से भी अपील करना चाहूंगा कि कोविड-19 से स्थिति बहुत बदली है,केंद्र भी कुछ सोचे. सीएम गहलोत ने कटारिया पर तंज कसते हुए कहा कि आपको गुस्सा बहुत आता है, कल भी आपको गुस्सा आया. आप में कौन सा भाव उत्पन्न होता है, जिसके बाद आप तू ता तू ता पर आ जाते हो.

भाजपा की पिछली सरकार ने जाते वक्त की थी किसानों के कर्ज माफी की घोषणा:

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि भाजपा की पिछली सरकार ने जाते वक्त की थी किसानों के कर्ज माफी की घोषणा. कर्ज माफी के लिए ₹8000करोड़ की घोषणा की थी, लेकिन बांटे सिर्फ 2000 करोड ही,6000 करोड़ का भार हमारे पर आया. आपकी सरकार के समय बिना टेंडर की सड़कें ठोक देते थे वह द्रव्यवती नदी रो रही है. आपने कहा कि बजट इंप्लीमेंट कैसे होगा. मुझे आपकी यह बात अच्छी लगी. मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि हम बजट पूरा करके दिखाएंगे. आपने कहा कि पिछली बार पूरा बजट खर्च नहीं किया. 31 दिसंबर तक हमने 62 प्रतिशत बजट खत्म किया और अभी 31 मार्च तक बहुत कुछ हम खर्च कर देंगे. केंद्र सरकार खासकर राजस्थान के साथ ठीक व्यवहार नहीं कर रही. आपने पूर्ववर्ती सरकार में 46 प्रतिशत तक बजट खर्च किया. हमारे कई प्रोग्राम आपकी सरकार ने बंद कर दिए थे.आपकी सरकार का काम यही है कि पिछली सरकार के फैसले कैसे बदले जाएं.

जिस तरह मैंने रिफाइनरी के लिए किया था संघर्ष:

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि जिस तरह मैंने रिफाइनरी के लिए संघर्ष किया था. उसी तरह का संघर्ष ईस्टर्न कैनाल योजना के लिए करने को तैयार हूं. हम इस योजना को नेशनल प्रोजेक्ट घोषित करवा कर ही रहेंगे. पक्ष और विपक्ष को इस बारे में मिलकर काम करना चाहिए. चाहे तो आप तीनों नेता केंद्र से पहले मिल ले और हम बाद में जाकर केंद्र से मिलेंगे. CM गहलोत ने राठौड़, पूनियां व गजेंद्रसिंह की तरफ इशारा किया.
राजस्थान के लिए पूर्व घोषित योजनाओं को केंद्र द्वारा बंद करने पर सीएम गहलोत बरसे. सीएम गहलोत ने कहा कि आयुष्मान भारत,राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए 1 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन शुरू होगा. 1 मई से यह योजना पूरे प्रदेश में लागू होगी. जीएसटी को लेकर सीएम गहलोत ने कहा कि केंद्रीय मंत्री ने 5000 करोड़ के लिए तो कह दिया. कि यह एक्ट ऑफ गॉड के कारण नहीं मिलेगा. यह समझ के परे है कि जब केंद्र सरकार को पिछले वर्ष की तरह ही रेवेन्यू मिल रहा है. तो फिर राजस्थान का हिस्सा कम क्यों कर रहे हैं. देश में जो हालात बने हैं वह चिंता का विषय है. सीएम ने सदन में मजाकिया अंदाज में कहा कि-'कल आप सब के फोन टेप हो रहे थे. 

मुख्यमंत्री गहलोत का गुलाबचंद कटारिया पर पलटवार:

मुख्यमंत्री गहलोत ने गुलाबचंद कटारिया पर पलटवार करते हुए कहा कि जनता को जवाब हमें देना है आप क्यों चिंता कर रहे हो. आपका वित्तीय प्रबंधन बिल्कुल बकवास रहता है. साथ ही कटारिया पर गहलोत ने चुटकी भी ली. सीएम गहलोत ने कहा कि अगर आप चिंता कर रहे हो तो फिर इधर आ जाओ. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि भाजपा सरकार ने हमेशा वित्तीय कुप्रबंधन का इतिहास बनाया है. हमने जो बजट पेश किया है आपका राजस्थान में स्वागत हो रहा है. आप जितना ज्यादा जोर से बोलोगे उतना ही फायदा रहेगा. बजट इतना पॉपुलर हुआ है कि लगातार मांगें आती जा रही है.

और पढ़ें