जयपुर आज से 17 मई तक महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा, सीएम गहलोत बोले, गाइडलाइन की पूरी कड़ाई से करवाएं पालन 

आज से 17 मई तक महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा, सीएम गहलोत बोले, गाइडलाइन की पूरी कड़ाई से करवाएं पालन 

आज से 17 मई तक महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा, सीएम गहलोत बोले, गाइडलाइन की पूरी कड़ाई से करवाएं पालन 

जयपुर: कोरोना वायरस के बढते मामलों को लेकर आज से 17 मई तक महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा शुरू हो गया हैं. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को कहा कि जीवन रक्षा के लिए कोरोना प्रोटोकॉल की सख्ती से पालन कराना बहुत जरूरी है. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सोमवार शुरू हो रहे महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाडे़ की गाइडलाइन की पूरी कड़ाई से पालन करवाएं और इसमें किसी तरह की ढिलाई नहीं हो. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से राज्य में कोरोना संक्रमितों की बढती संख्या को देखते हुए मेडिकल ऑक्सीजन का आवंटन बढ़ाए जाने के लिए केंद्र सरकार से लगातार समन्वय बनाए रखने के निर्देश दिए हैं.

इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार के माध्यम से आयात किए जा रहे ऑक्सीजन परिवहन के टैंकरों में से राजस्थान को जरूरत के मुताबिक टैंकर उपलब्ध कराने के लिए भी पुरजोर पैरवी करने के निर्देश दिए है. गहलोत रविवार रात वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से ऑक्सीजन आपूर्ति, दवाओं की उपलब्धता,कोरोना संक्रमण और सोमवार से शुरू हो रहे 'महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़े' को लेकर समीक्षा बैठक कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि बढ़ते संक्रमण के कारण राज्य में ऑक्सीजन की खपत तेजी से बढ़ रही है. चूंकि केंद्र सरकार राष्ट्रीय योजना के तहत ऑक्सीजन का आवंटन कर रही है, ऐसे में राजस्थान की आवश्यकता को देखते हुए आवंटन की मात्रा बढ़ाया जाना बेहद जरूरी है. मुख्यमंत्री ने ऑक्सीजन सांद्रक की जल्द से जल्द खरीद करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि विदेशों से इनका आयात करने के लिए गठित अधिकारियों की समिति प्रक्रिया को तेज करे, ताकि कोरोना रोगियों के उपचार में मदद मिले.

गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार अपने तमाम प्रयासों से कोविड रोगियों को बेहतर उपचार उपलब्ध करवाने के लिए जुटी है, लेकिन संक्रमण की कड़ी तोड़ने के लिए जनता की भागीदारी भी उतनी ही जरूरी है. उन्होंने कहा कि अगर हम अपने व्यवहार को अनुशासित कर लेंगे और जन अनुशासन पखवाडे़ के नियमों की अक्षरशः पालना सुनिश्चित कर लेंगे तो इस चुनौती से लड़ने में काफी हद तक कामयाब हो सकेंगे. चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि राज्य में प्रतिदिन नमूनों की कोविड-19 जांच क्षमता अब बढ़ाकर एक लाख 44 हजार कर दी गई है.

और पढ़ें