मुंबई बटलर का जलवा जारी, राजस्थान रॉयल्स 15 रन से जीता

बटलर का जलवा जारी, राजस्थान रॉयल्स 15 रन से जीता

 बटलर का जलवा जारी, राजस्थान रॉयल्स 15 रन से जीता

मुंबई: जबरदस्त फॉर्म में चल रहे जोस बटलर (119 रन) के शतक के बाद प्रसिद्ध कृष्णा (22 रन देकर तीन विकेट) की गेंदबाजी की मदद से राजस्थान रॉयल्स ने शुक्रवार को यहां इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) रोमांचक क्रिकेट मैच में दिल्ली कैपिटल्स को 15 रन से हराकर पांचवीं जीत दर्ज की जिससे टीम तालिका में शीर्ष पर पहुंच गई है. आईपीएल 2022 में बटलर के तीसरे शतक और साथी सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडीक्कल (54 रन) के साथ पहले विकेट के लिये 155 रन की साझेदारी की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने दो विकेट पर 222 रन बनाये जो इस सत्र का सबसे बड़ा स्कोर भी है जिसमें 168 रन बाउंड्री (14 छक्के, 21 चौके) से बने.

बटलर ने शानदार लय जारी रखते हुए लगातार दूसरे सैकड़े के लिये 65 गेंद का सामना करते हुए नौ चौके और नौ छक्के जमाये.पडीक्कल (35 गेंद, सात चौके, दो छक्के) भी अपनी जोड़ीदार से प्रेरित होकर इस बार अच्छी शुरूआत को बड़ी पारी में बदलकर इस सत्र का पहला अर्धशतक जमाने में कामयाब रहे.इस विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली कैपिटल्स 20 ओवर में आठ विकेट पर 207 रन ही बना सकी जिसके लिये कप्तान ऋषभ पंत ने 44 रन, पृथ्वी साव और ललित यादव ने 37-37 रन, रोवमैन पॉवेल ने 36 रन और डेविड वार्नर 28 रन बनाकर मैच को करीबी बना दिया.

प्रसिद्ध कृष्णा ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए राजस्थान रॉयल्स को जरूरत के समय टीम को विकेट दिलाये, उन्होंने चार ओवर में एक मेडन से 22 रन देकर तीन विकेट झटके. इसमें उनका 19वां ओवर मेडन रहा जिसमें ललित यादव का विकेट भी शामिल रहा जो काफी अच्छा खेल रहे थे.रविचंद्रन अश्विन ने दो विकेट जबकि युजवेंद्र चहल ने एक विकेट झटका.दिल्ली कैपिटल्स को अंतिम ओवर में 36 रन चाहिए थे. रावमैन पॉवेल (15 गेंद, पांच छक्के) ने ओबेद मैकॉय (52 रन देकर एक विकेट) की पहली तीन गेंदों पर छक्के जड़ दिये. लेकिन तीसरी गेंद को अंपायर द्वारा ‘नो-बॉल’ करार नहीं करने पर पंत अपने खिलाड़ियों को मैदान से बाहर बुलाने लगे. कोच प्रवीण आमरे इशारे से ‘नो-बॉल’ चेक करने को कह रहे थे, इससे कुछ देर तक मैच रूक गया. मैच खत्म होने के बाद भी दोनों टीमों के खिलाड़ी इस पर चर्चा करते रहे.

लेकिन इससे आक्रामक खेल रहे पॉवेल की लय टूट गयी और वह अंतिम गेंद पर आउट हो गए. बटलर और पडीक्कल ने मैच में दिल्ली के कप्तान पंत की रणनीति विफल कर दी जिन्होंने पिछले मैच की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले स्पिन गेंदबाजों को बदल बदल कर इस्तेमाल किया. पर दोनों के आगे कोई भी तरकीब काम नहीं आई.बटलर और पडीक्कल के बीच यह पहले विकेट के लिये इस सत्र की पहली शतकीय साझेदारी भी रही. राजस्थान रॉयल्स के लिये भी यह 2015 के बाद सलामी जोड़ी की पहली शतकीय साझेदारी रही.

राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने 19 गेंद में पांच चौके और तीन छक्के से नाबाद 46 रन का योगदान दिया. उन्होंने बटलर का अच्छा साथ निभाया जिससे दूसरे विकेट के लिये 47 रन की भागीदारी बनी.शार्दुल ठाकुर (तीन ओवर में एक मेडन 29 रन) ने दो ओवर में एक मेडन से नौ रन दिये थे, लेकिन दिलचस्प रहा कि पंत ने उन्हें शुरू में दो ओवर देने के बाद बीच में गेंदबाजी नहीं दी और फिर अंतिम ओवर गेंदबाजी के लिये दिया. दिल्ली कैपिटल्स के लिये खलील अहमद ने पडीक्कल और मुस्तफिजुर रहमान ने बटलर का विकेट झटका.

बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद राजस्थान रॉयल्स की शुरूआत धीमी रही, टीम तीन ओवर में 12 रन ही बना सकी. बटलर ने पहले ओवर में खलील पर दो चौके लगाये जबकि दूसरा ओवर मेडन रहा.पडीक्कल ने हालांकि चौथे ओवर में मुस्तफिजुर पर एक्सट्रा कवर में, शार्ट फाइन लेग पर और फिर खूबसूरत कवर ड्राइव से लगातार तीन चौके लगाकर रन गति बढ़ायी. पहले पांच ओवर में टीम ने 29 रन बनाये.पावरप्ले के अंतिम ओवर में बटलर ने खलील पर 15 रन जोड़े जिसमें इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज ने डीप मिडविकेट पर दो गगनदायी छक्के जमाये. इससे छह ओवर के बाद स्कोर 44 रन था.

बटलर और पडीक्कल बीच बीच में शानदार शॉट्स लगाते रहे. राजस्थान रॉयल्स ने 10 ओवर में 87 रन बना लिये थे.बटलर ने अगले ओवर की पहली गेंद पर एक्सट्रा कवर में चौका लगाकर 50 रन पूरे किये जिसके लिये उन्होंने 37 गेंद में चार चौके और चार छक्के जमाये.पडीक्कल ने भी अपना अर्धशतक पूरा किया.
बटलर ने 15वें ओवर में कुलदीप यादव (तीन ओवर में 40 रन) पर लगातार दो छक्कों और एक चौके से टीम के खाते में 18 रन जोड़े.हालांकि अगले ओवर की पहली गेंद पर दिल्ली कैपिटल्स के रिव्यू लेने के बाद पडीक्कल आउट हो गये. खलील की पगबाधा की अपील अंपायर ने खारिज कर दी जिसके बाद पंत ने रिव्यू लिया और उन्हें पहली सफलता मिली. इससे 91 गेंद में 155 रन की शतकीय साझेदारी भी समाप्त हुई.

कप्तान सैमसन भी आते ही बटलर के रंग में रंग गये और तेजी से रन जुटाते रहे.मुस्तफिजुर ने 19वें ओवर की अंतिम गेंद पर बटलर को लांग आन पर वार्नर के हाथों कैच आउट कराया.शिमरोन हेटमायर (01) आये और सैमसन ने एक छक्के और दो चौके से अंतिम ओवर में 20 जोड़े.बल्लेबाजी के लिये मुफीद पिच पर दिल्ली कैपिटल्स को साव (27 गेंद, पांच चौके, एक छक्का) और डेविड वार्नर (14 गेंद, पांच चौके, एक छक्का) ने अच्छी शुरूआत करायी. पर प्रसिद्ध कृष्णा ने पांचवें ओवर में वार्नर का महत्वपूर्ण विकेट झटक लिया.अगले ओवर की पहली गेंद पर अश्विन ने आते ही सरफराज खान का विकेट हासिल किया जिनका कैच प्रसिद्ध कृष्णा ने लपका.पावरप्ले में दिल्ली का स्कोर दो विकेट पर 55 रन था.

नौंवा ओवर राजस्थान रॉयल्स के लिये काफी खर्चीला रहा जिसमें ओबेद मैकॉय ने 26 रन दिये और साथ ही लांग ऑन पर हेटमायर ने पंत का कैच भी छोड़ दिया.
दिल्ली कैपिटल्स ने इस ओवर में दो वाइड और नो बॉल का पूरा फायदा उठाया जिससे नौ ओवर के बाद टीम का स्कोर दो विकेट पर 95 रन था.अश्विन ने 10वें ओवर में दिल्ली को करारा झटका साव को आउट करके दिया जो कैरम गेंद पर बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में डीप एक्सट्रा कवर में बोल्ट को कैच बैठे.अगला ओवर भी दिल्ली कैपिटल्स के लिहाज से अच्छा साबित हुआ जिसमें पंत ने रियान पराग को उनके पहले ही ओवर में धो दिया जिसमें उन्होंने दो छक्के और एक चौके जड़े जिससे 22 रन जुड़े.

सैमसन ने फिर विकेट की तलाश में प्रसिद्ध कृष्णा को ही गेंद थमायी और उन्होंने कप्तान के भरोसे पर खरा उतरते हुए पंत का अहम विकेट झटक लिया. हालांकि इस ओवर में युजवेंद्र चहल के हाथों से पंत का कैच छूट गया था. लेकिन पडिक्कल ने कैच लपकने में कोई चूक नहीं की और राजस्थान रॉयल्स को मिला चौथा विकेट. अक्षर पटेल बल्लेबाजी करने उतरे जिन्हें आते ही चहल ने बोल्ड कर दिया. इससे 13 ओवर के बाद टीम का स्कोर पांच विकेट पर 127 रन था. फिर शार्दुल रन आउट हो गये. (भाषा) 

और पढ़ें