Live News »

UP के मंत्री सुनील भराला के बिगड़े बोल, सोनाक्षी सिन्हा को बताया ' मनी एनिमल'

UP  के मंत्री सुनील भराला के बिगड़े बोल, सोनाक्षी सिन्हा को बताया ' मनी एनिमल'

नई दिल्ली सोनाक्षी को सोशल मीडिया मीडिया पर काफी ट्रोल किया जा रहा है उत्तर प्रदेश के मंत्री सुनील भराला जो कि श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष के रूप में मंत्री पद पर काबिज है उन्होंने बॉलीवुड अभिनेता सोनाक्षी सिन्हा को मनी एनिमल बताया है और कहा कि ऐसे लोगों के पास सीखने के लिए कोई समय नहीं होता और वह केवल पैसे कमाने की परवाह करते हैं सोनाक्षी सिन्हा पिछले सप्ताह लोकप्रिय टेलीविजन क्विज शो कौन बनेगा करोड़पति के दौरान रामायण से जुड़े एक सवाल का जवाब देने में असमर्थ थी.

सुनील भराला कौन बनेगा करोड़पति शो के 20 सितंबर के एपिसोड में रामायण से संबंधित एक सवाल का जवाब देने में सोनाक्षी की विफलता पर बोल रहे थे. शो में राजस्थान की एक प्रतियोगी का समर्थन करने के लिए सोनाक्षी सिन्हा से बिग बी ने पूछा था, ‘रामायण के अनुसार हनुमान संजीवनी बूटी किसके लिए लेकर आए?’ इस प्रश्न का उत्तर देने के लिए दिए गए चार विकल्पों में से उत्तर नहीं जानती थीं और अंत में प्रश्न का उत्तर देने के लिए एक जीवन रेखा का उपयोग किया.भारतीय महाकाव्य रामायण के बारे में सोनाक्षी सिन्हा के ज्ञान की कमी पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए शो के होस्ट अभिनेता अमिताभ बच्चन ने बाद में उन्हें याद दिलाया कि वह रामायण नामक घर में रहती है उनके पिता का नाम शत्रुघ्न सिन्हा है, जिनके तीन अन्य भाई राम, लक्ष्मण और भरत कहलाते हैं और उसके अपने भाइयों का नाम लव और कुश है.

हिंदुस्तान टाइम्स दो दिए बयान में सुनील भराला ने कहा, ‘आज के दौर में ये लोग सिर्फ पैसे के पीछे भागते हैं. वे सभी पैसा कमाने और उस पैसे को खुद पर खर्च करने की ही परवाह करते हैं.उन्हें इतिहास और देवताओं का कोई ज्ञान नहीं है.उनके पास सीखने का कोई समय नहीं है. इससे ज्यादा दुखद कुछ नहीं हो सकता है.रामायण की कहानी न जानने के लिए सोनाक्षी को सोशल मीडिया पर भी ट्रोल किया गया था. सोनाक्षी ने इसका जवाब भी दिया था
 

और पढ़ें

Most Related Stories

दो पक्षों के खूनी संघर्ष मामले में 23 साल बाद न्याय, 6 को ताउम्र कैद, अन्य 6 को सात साल की सजा

दो पक्षों के खूनी संघर्ष मामले में 23 साल बाद न्याय, 6 को ताउम्र कैद, अन्य 6 को सात साल की सजा

मथुरा: उत्तर प्रदेश में 23 साल पुराने खूनी संघर्ष मामले में अदालत ने अपना निर्णय सुना दिया है. अदालत ने जिले के गोहरी गांव में दो पक्षों में हुए संघर्ष के दौरान तीन लोगों की हत्या के जुर्म में छह अभियुक्तों को उम्र कैद की सजा सुनाई है. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संजय कुमार यादव ने दूसरे पक्ष के भी छह लोगों को हत्या की कोशिश के जुर्म में सात-सात साल के कठोर कारावास का दंड दिया है.

सहायक सरकारी अधिवक्ता मदन मोहन पांडे ने बताया कि छाता थाना क्षेत्र के गोहरी गांव में दो पक्षों में हुए संघर्ष में एक पक्ष के तीन लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जबकि दोनों पक्षों के कई लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे.उन्होंने बताया कि अदालत ने सभी दोषियों पर जुर्माना भी लगाया है और जुर्मना अदा नहीं करने पर उनकी सजा की अवधि बढ़ जाएगी.

अभियोजन के वकील ने बताया कि मामले में किशोर आरोपी को एक अन्य अदालत ने बरी कर दिया था. उन्होंने बताया कि मुकदमे की सुनवाई के दौरान तीन अन्य आरोपियों की मौत हो गई. देर से ही सही मगर पीड़ित परिवार को न्याय जरुर मिला. (सोर्स-भाषा)

{related}

 

ठेकेदार की अज्ञात कारणों से गोली मारकर हत्या, एक की मौत, दो घायल

ठेकेदार की  अज्ञात कारणों से  गोली मारकर हत्या, एक की मौत, दो घायल

गाजीपुर: उत्तर प्रदेशे के गाजीपुर जिले के मरदह थाना क्षेत्र के बोगना गांव में श्रमिक ठेकेदार अनिल सिंह की गोली मारकर हत्या करने का मामला सामने आया है. जिसके कारणों का अबतक कोई खुलासा नहीं किया गया है और ना ही खूनीयों की शिनाख्त की गई है. पुलिस के अनुसार इस घटना में सिंह का राजकुमार सिंह और एक राहगीर हरिकेश राम को भी गोलियां लगी हैं. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 

पुलिस ने बताया कि बोगना गांव के अनिल सिंह मुम्बई में श्रमिकों की आपूर्ति करने वाले ठेकेदार के रूप में काम करते थे. वह इन दिनों अपने गांव आये हुये थे. वे सोमवार देर शाम घर के बाहर बैठकर चाय पी रहे थे और उसी दौरान मोटरसाइकिल पर आए हमलावरों ने उन पर अंधाधुंध गोलीबारी की जिससे शरीर छलनी हो गया था. 

आगे पुलिस ने बताया कि उनका भतीजा गोलियों की आवाज सुनकर घर से बाहर आया और उसे भी गोली लग गयी है इस दौरान उधर से गुजर रहे हरिकेश राम भी गोली लगने से घायल हो गये है. अपर पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार झा ने बताया कि दो नामजद व दो अज्ञात हत्यारों की तलाश जारी है और उन्हें शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा. इस घटना की जांच शुरू कर दी गयी है. शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है तथा घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है. (सोर्स-भाषा)

{related}

ट्रक को ओवरटेक करने के चक्कर में टायर के नीचे दबे, 3 की मौत

ट्रक को ओवरटेक करने के चक्कर में टायर के नीचे दबे,  3 की मौत

​​​​बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से बेहद ही दुखद सड़क हादसे की जानकारी मिली है. जिले के पकड़ी थाना क्षेत्र के डकिनगंज चौराहे पर ट्रक से आगे निकलने के प्रयास में मोटरसाइकिल सवार तीन लोगों की इससे कुचलकर मौत हो गई है जिसकी पुष्टि  पुलिस ने की है और मामला दर्ज कर लिया है. 

पुलिस ने बताया कि रमाकांत राजभर (48), किशुनदेव राजभर (45) तथा रामाश्रय राजभर (36) मोटरसाइकिल पर सवार होकर जा रहे थे. ट्रक से मोटरसाइकिल को आगे निकालने के प्रयास में यह लोग ट्रक के नीचे आ गये जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई है. 

इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने नगरा थाना क्षेत्र के डिहवा ग्राम में चक्का जाम कर तकरीबन एक घण्टे तक नगरा-सिकंदरपुर मार्ग पर आवागमन बाधित कर दिया. प्रशासनिक अधिकारियों के सरकारी सहायता दिये जाने के आश्वासन पर जाम समाप्त हुआ. पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. बताया जा रहा है कि तीनों मृतक राज मिस्त्री थे. (सोर्स-भाषा)

{related}

महिला से सामूहिक दुष्कर्म, चार गिरफ्तार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म, चार गिरफ्तार

चित्रकूट: उत्तर प्रदेश से महिला के साथ सामूहिक ज्यादती का मामला सामने आया है. प्रदेश के चित्रकूट जिले की कर्वी कोतवाली पुलिस ने एक महिला से कथित सामूहिक दुष्कर्म के मामले में मंगलवार को चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.  हैरत की बात ये है कि आरोपियों में एक महिला भी शामिल है. 

कर्वी कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) अनिल पाठक ने बताया कि रैपुरा थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 35 वर्षीय महिला ने रविवार को रामनगर गांव के रहने वाले राजेश साहू और बरुई गांव के चिमन पटेल के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का और कर्वी के कसहाई रोड़ निवासी रेवतीरमण, उसकी पत्नी विद्या व बेटे मोनू के खिलाफ घटना की साजिश रचने का मामला दर्ज करवाया है. 

उन्होंने बताया कि मामले में चिमन पटेल को दुष्कर्म करने और रेवतीरमण, उसकी पत्नी विद्या और बेटे मोनू को साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है. फरार आरोपी राजेश साहू की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दी जा रही है, मगर वो अभी भी सलाखों के पीछे नहीं पहुंच पाया है. 

एसएचओ ने दर्ज प्राथमिकी के आधार पर बताया कि पीड़िता को 28 सितंबर को राजेश व चिमन पटेल किसी बहाने से कर्वी ले आये और यहां कसहाई रोड़ स्थित रेवतीरमण के घर में दोनों ने उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया और इसके बाद उसे उसे प्रयागराज ले जाया गया, जहां दुष्कर्म करते रहे और बाद में वहीं छोड़कर फरार हो गए.

उन्होंने बताया कि सोमवार को पीड़िता का चिकित्सीय परीक्षण कराया गया है, लेकिन अभी रिपोर्ट नहीं मिली है. फिलहाल आरोपियों को गिकफ्तार किया जा चुका है और चिकित्सकीय रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है क्योंकि उसके बाद  ही किसी नतीजे पर पहुंचा जा सकता है. (सोर्स-भाषा)

{related} 

NCR शहरों की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में: CPCB

NCR शहरों की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में: CPCB

नोएडा:  केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने हालिया जारी रिपोर्ट में दावा किया है कि एनसीआर शहरों की एयर क्वालिटी बहुत ही खराब स्थिती की है. हरियाणा में फरीदाबाद के कुछ स्थानों पर सोमवार को वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में रही जबकि उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर व गाजियाबाद तथा हरियाणा के गुड़गांव में हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में दर्ज की गई है. आपको बता दे की ये शहर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आते हैं.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, दिल्ली से सटे चारों जिलों में पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर भी काफी ज्यादा था. वायु गुणवत्ता शून्य से 50 के बीच अच्छी, 51 से 100 तक संतोषजनक, 101 से 200 तक मध्यम, 201 से 300 तक खराब, 301 से 400 तक बेहद खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर मानी जाती है. 

सीपीसीबी के रात नौ बजे के आंकड़ों के मुताबिक वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) फरीदाबाद में कुछ स्थानों पर बहुत खराब था लेकिन व्यापक तौर पर खराब श्रेणी में रहा है. आंकड़ों के अनुसार, गुड़गांव, गाजियाबाद और गौतबुद्धनगर में एक्यआई खराब श्रेणी में रहा है. इन क्षेत्रों में अत्यधिक मात्रा में पराली जलाने के कारण भी प्रदूषण बढ़ रहा है जिसकी रोकथान के उपाय किये जा रहे है. (सोर्स-भाषा)

{related}

बाइक बोट घोटाले में एक और गिरफ्तारी, 50 हजार का ईनामी है अपराधी

बाइक बोट घोटाले में एक और गिरफ्तारी, 50 हजार का ईनामी है अपराधी

नोएडा: उत्तर प्रदेश में करोड़ों रुपए के बाइक बोट घोटाले में शामिल 50 हजार रुपये के इनामी बदमाश को सोमवार रात उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एसटीएफ के एसपी कुलदीप नारायण ने बताया कि सोमवार देर रात नोएडा एसटीएफ यूनिट तथा आर्थिक अपराध शाखा मेरठ ने एक संयुक्त अभियान के तहत बदमाश ललित भाटी को गिरफ्तार किया है. 

उन्होंने बताया कि उस पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित था. ललित बाइक बोट घोटाले में दर्ज 26 मामलों में वांछित था. एसटीएफ ने आर्थिक अपराध शाखा के साथ मिलकर इस मामले में वांछित चल रहे 50-50 हजार रुपए के दो इनामी बदमाश सचिन भाटी और पवन भाटी को सात अक्टूबर को गिरफ्तार किया था. 

गौरतलब है कि संजय भाटी नाम के एक शख्स ने बाइक टैक्सी चलाने के नाम पर एक कम्पनी खोली, कई लोगों को उससे जोड़ा और फिर एक साल में पैसे दोगुना करने का प्रलोभन देकर लोगों से पैसे ठगे. इस मामले में संजय भाटी सहित उसके गिरोह के कई लोग जेल में है. फिलहाल मामला की कार्यवाही जारी है. (सोर्स-भाषा)

{related}

अपराध पर अंकुश लगाएगी प्रयागराज पुलिस की ई-मुखबिर योजना

अपराध पर अंकुश लगाएगी  प्रयागराज पुलिस की ई-मुखबिर योजना

प्रयागराज:  उत्तर प्रदेश की प्रयागराज पुलिस ने अपराध और अपराधियों पर नियंत्रण रखने के लिए सोमवार को 'ई-मुखबिर' योजना शुरू की जिसके तहत जिले के आम नागरिक अपराध रोकने में पुलिस की मदद कर सकेंगे और जनता की सेवा में तत्पर रह सकेंगे. 

जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने यहां संवाददाताओं को बताया कि अपराध और अपराधियों के बारे में नागरिकों से जानकारी प्राप्त करने और नागरिकों को पुलिस के साथ जोड़ने के उद्देश्य से ई-मुखबिर योजना शुरू की गई है. 

उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत समाज के सभी लोग यदि कहीं अपराध होते देखते हैं और उन्हें लगता है कि इस बारे में पुलिस को जानकारी दी जानी चाहिए तो ऐसे लोगों के नाम, पते आदि गोपनीय रखते हुए पुलिस सूचना प्राप्त कर कार्रवाई करेगी. 

त्रिपाठी ने बताया कि ई-मुखबिर योजना एक व्हाट्सऐप ग्रुप के जरिए चलाई जा रही है जिसका नंबर 9918101617 है. इस नंबर पर कोई भी व्यक्ति सूचना दे सकता है, फोटोग्राफ और आवाज की रिकार्डिंग या वीडियो क्लिप भेज सकता है. ये बहुत ही कारगर साबित होगी ऐसा दावा किया जा रहा है. (सोर्स-भाषा)

{related}

रेप के आरोपी को 10 साल की सजा

रेप के आरोपी को 10 साल की सजा

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में फास्ट ट्रैक अदालत ने एक शख्स को बलात्कार के जुर्म में सोमवार को 10 साल की कैद की सजा सुनाई है. जिला  सरकारी अधिवक्ता आदर्श त्यागी ने बताया दोषी जिले के साहिबाबाद इलाके के शालीमार गार्डन का रहने वाला है. वह भारतीय दंड संहिता की धारा 376 के तहत दोषी पाया गया है. उसपर 20,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है.

वह भारतीय दंड संहिता की धारा 323 और 506 के तहत भी दोषी पाया गया है. अदालत ने उसे धारा 323 के तहत पांच बरस की और 506 के तहत दो साल की सजा सुनाई है. साथ में जुर्माना भी लगाया है. जिसके बाद पीड़ित परिवार ने अदालत और न्याय व्यवरस्था का आभार जताया. आपको बता दे कि आरोपी रेप के आरोप में पुलिस हिरासत में था और लंबे अरसे से मामला की सुनवाई चल रही थी.  (सोर्स-भाषा)

{related}