VIDEO: पाकिस्तान में फंसी जोधपुर की जनता, 14 साल बाद मां से मिलने गई थी पाकिस्तान

जोधपुर: पाकिस्तान से भारत आए सैकड़ों परिवारों को एक और जहां भारतीय नागरिकता का इंतजार है, तो वहीं वर्षों से भारत में रह रही जनता 14 साल बाद अपनी मां से मिलने पाकिस्तान गई थी. लेकिन पाकिस्तान के कायदों ने उसे वहीं रख लिया और जनता के 3 बच्चों को लेकर उसका पति लीलाराम भारत आ गया. जोधपुर के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड इलाके में रहने वाले लीलाराम पेशे से मजदूर है. जब उसकी पत्नी जनता पाकिस्तान में रह गई तो सीधा वह पाक विस्थापित नेता हिंदू सिंह सोढा के यहां पहुंचा. वहां पर अपनी दास्तान सुनाई.

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, वाइब्रेंट डेमोक्रेसी यानी जीवंत लोकतंत्र भारत की मुख्य ताकत, चीन नहीं कर सकता भारत का मुकाबला

केन्द्र सरकार से की जनता को भारत लाने की मांग:
हिंदू सिंह सोढा ने केन्द्र सरकार से आग्रह किया है कि इस संबंध में पाकिस्तानी दूतावास से बात की जाए और किसी भी तरह जनता को पाकिस्तान से भारत लाने के लिए जरूरी इंतजाम किए जाएं. क्योंकि जिस इलाके में जनता का घर है. उस इलाके में आए दिन बहु बहन बेटियों को जबरन धर्म परिवर्तन कराया जाता है. ऐसे में लीलाराम के परिवारजनों को इस बात का भी खतरा सता रहा है कि कहीं उसके साथ भी धर्म परिवर्तन जैसा हादसा नहीं हो जाए.

खान महाघूसकाण्ड: पूर्व IAS अशोक सिंघवी को बड़ा झटका, राजस्थान हाईकोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

जनता ने लगाई वतन वापसी की गुहार:
सवाल लीलाराम के पेशे से मजदूर होने या पत्नी के पाकिस्तान में रह जाने का नहीं है. बल्कि जनता के 3 छोटे-छोटे मासूम बच्चे हैं. एक ही उम्र 9 साल,दूसरे की उम्र 8 साल और तीसरे की उम्र 6 साल है. मां के बिना बच्चों के बूरे हाल हो गए है. देखना यह है कि भारत सरकार पाकिस्तान दूतावास से बात करके क्या जनता को भारत ला पाती है या फिर जब तक इन बच्चों को अपनी मां के बिना पिता के सहारे ही रहना पड़ेगा. पाकिस्तान से बकायदा वीडियो जारी करके खुद जनता ने गुहार लगाई की, वे अपने बच्चों के बिना नहीं रह सकती, इसलिए जल्द से जल्द पाकिस्तान से भारत लाया जाये. हमारे सवांददाता राजीव गौड़ ने इस परिवार के अलावा पाक विस्थापित नेता हिंदू सिंह सोढा से खातचीत की.
...फर्स्ट इंडिया के लिए राजीव गौड़ की रिपोर्ट

और पढ़ें