उप्र विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही पार्टी का चेहरा होंगे: स्वतंत्र

उप्र विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही पार्टी का चेहरा होंगे: स्वतंत्र

 उप्र विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही पार्टी का चेहरा होंगे: स्वतंत्र

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने मंगलवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही पार्टी का चेहरा होंगे. सिंह यहां पार्टी की ओर से आयोजित घर-घर संपर्क कार्यक्रम में आये थे, उन्होंने कहा कि वे पिछले साढ़े चार साल में उप्र सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों के साथ लोगों के पास जा रहे हैं.

कार्यक्रम के दौरान जनता को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि 2022 के विधानसभा चुनाव में एक बार फिर योगी (आदित्यनाथ) उप्र में मुख्यमंत्री का चेहरा होंगे और हम विकास चाहते हैं. हम अपराध और गुंडा मुक्त राज्य चाहते हैं. उप्र चल रहा है उत्तम प्रदेश बनने के लक्ष्य के साथ विकास की राह पर." सिंह का बयान इसलिये महत्वपूर्ण है क्योंकि उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा था कि राज्य के अगले मुख्यमंत्री का मुद्दा पहले ही "निपट" चुका है, भाजपा के शीर्ष नेताओं ने यह स्पष्ट कर दिया है कि आगामी विधानसभा चुनाव योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा.

शर्मा ने पीटीआई-भाषा को हाल ही में दिये गये साक्षात्कार में कहा था कि "यह एक सुलझा हुआ मुद्दा है, क्योंकि केंद्रीय नेतृत्व ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि पार्टी सत्ता में वापसी के लिए योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी.' बृहस्पतिवार (23 सितंबर) को केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश नई ऊंचाइयों को छू रहा है और राज्य को 2022 में फिर से भाजपा सरकार की जरूरत है.

केंद्रीय मंत्री प्रधान ने सिद्धार्थनगर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था, "मुख्यमंत्री योगी के नेतृत्व में राज्य नई ऊंचाइयों को छू रहा है. मुख्यमंत्री योगी ने उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदल दी है, 2022 में राज्य को फिर से भाजपा सरकार की जरूरत है." राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा के प्रभारी प्रधान ने यह भी कहा कि देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसा कोई नहीं है, और राज्य में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ जैसा कोई नहीं है. मुख्यमंत्री अकेले ऐसे नेता हैं जिन्होंने उत्तर प्रदेश को हर क्षेत्र में नंबर वन बनाया है.(भाषा) 

और पढ़ें