मुंबई Cruise-Drugs मामले में आरोपियों ने NCB से कहा-अवसाद से उबरने के लिए मादक पदार्थों का सेवन किया

Cruise-Drugs मामले में आरोपियों ने NCB से कहा-अवसाद से उबरने के लिए मादक पदार्थों का सेवन किया

Cruise-Drugs मामले में आरोपियों ने NCB से कहा-अवसाद से उबरने के लिए मादक पदार्थों का सेवन किया

मुंबई: क्रूज जहाज पर मादक पदार्थ (ड्रग्स) जब्त किए जाने के मामले में कुछ आरोपियों ने स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (NCB) से कहा है कि उन्होंने अवसाद से उबरने तथा अकादमिक ए‍वं पेशेवर कामकाज के तनाव से निपटने के लिए ड्रग्स लेना शुरू किया था.

NCB ने एक क्रूज जहाज पर छापेमारी के दौरान कथित तौर पर मादक पदार्थ बरामद होने के बाद पिछले साल अक्टूबर में इस मामले में गिरफ्तार किए गए 20 में से 14 लोगों के खिलाफ शुक्रवार को मुंबई की एक अदालत में करीब 6,000 पृष्ठों का आरोपपत्र दाखिल किया. केंद्रीय एजेंसी ने कहा कि साक्ष्यों के अभाव के चलते बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान सहित इनमें से छह लोगों को आरोपपत्र में नामजद नहीं किया गया है.

कभी-कभार उसका सिर भारी हो जाता है और हशीश का सेवन करने पर उसे सुकून मिलता:

आरोपपत्र के मुताबिक, मामले में सह-आरोपी और आर्यन खान के दोस्त अरबाज मर्चेंट (26) ने कहा कि शराब पीने के बाद कभी-कभार उसका सिर भारी हो जाता है और हशीश का सेवन करने पर उसे सुकून मिलता है. उसने कहा कि यही कारण है कि उसने क्रूज जहाज पर अपने जूतों में हशीश छिपाकर रखी थी. आरोपपत्र के अनुसार, एक अन्य आरोपी आचित कुमार (22) ने खुद के मादक पदार्थों का सेवन करने के लिए अकादमिक दबाव को जिम्मेदार ठहराया.

अकादमिक दबाव से निपटने के लिए वह गांजे का सेवन करता था: 

कुमार ने कहा कि वह जानता था कि आयातित गांजा एक मादक पदार्थ है और इसकी बिक्री, उपभोग व खरीद अवैध है. उसने बताया कि हालांकि, अकादमिक दबाव से निपटने के लिए वह गांजे का सेवन करता था और इस कारण उसकी पढ़ाई बुरी तरह से प्रभावित हुई थी.

एक अन्य आरोपी एवं फैशन मॉडल मुनमुन धामेचा (29) ने NCB को दिए अपने बयान में कहा कि वह पारिवारिक समस्याओं के कारण अवसाद से उबरने के लिए चरस का सेवन करती है. वहीं, मामले के एक और आरोपी श्रेयस नायर (23) ने स्वीकार किया कि उसने 2017 में मादक पदार्थों का सेवन शुरू किया था, जब वह होटल प्रबंधन की पढ़ाई कर रहा था. नायर ने माना कि वह कभी-कभार हशीश का भी सेवन करता है. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें