Live News »

जया प्रदा पर दिए आपत्तिजनक बयान से घिरे आजम खान, कहा- साबित कर दे तो नहीं लडूंगा चुनाव

जया प्रदा पर दिए आपत्तिजनक बयान से घिरे आजम खान, कहा- साबित कर दे तो नहीं लडूंगा  चुनाव

रामपुर। उत्तरप्रदेश के रामपुर से सपा के लोकसभा उम्मीदवार आजम खान ने बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा पर की विवादित टिप्पणी के बाद विवादों के घेरे में और महिला आयोग के निशाने पर आ गए हैं। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए आजम खान ने कहा कि मेरे बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है। चुनाव आयोग जांच करा लें, अगर कुछ भी आपत्तिजनक आता है तो मैं चुनाव से हाथ पीछे कर लूंगा। बतादें, आजम ने कहा कि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया और अगर वह दोषी साबित होते हैं तो चुनाव से हाथ पीछे कर लेंगे। 

दरअसल, रविवार को रामपुर की शाहबाद तहसील में आयोजित एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए आजम खान बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उन्होंने जया का नाम लिए बगैर वहां मौजूद लोगों से पूछा, 'क्या राजनीति इतनी गिर जाएगी कि 10 साल जिसने रामपुर वालों का खून पिया, जिसे उंगली पकड़कर हम रामपुर में लेकर आए, उसने हमारे ऊपर क्या-क्या इल्जाम नहीं लगाए।

क्या आप उसे वोट देंगे?' आजम ने आगे कहा कि आपने 10 साल जिनसे अपना प्रतिनिधित्व कराया, उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवेअर खाकी रंग का है। 

रविवार को आजम ने कहा कि मैंने अपने बयान में किसी का नाम नहीं लिया है। मुझे पता है कि मुझे क्या कहना चाहिए। अगर कोई साबित कर सकता है कि मैंने किसी का नाम कहीं भी लिया है और किसी का अपमान किया है, तो मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा।

बहरहाल, इस बयान को गंभीरता से लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने आजम खां को नोटिसा भेजने का फैसला किया है। माना जा रहा है कि यह नोटिस आज यानी सोमवार को भेजा सकता है। नोटिस से पहले ही आजम ने अपने बयान पर सफाई दे दी है।

और पढ़ें

Most Related Stories

यूपी के गाजीपुर में ट्रेन के इंजन के आगे कूदे प्रेमी युगल, दोनों की हुई मौके पर मौत

यूपी के गाजीपुर में ट्रेन के इंजन के आगे कूदे प्रेमी युगल, दोनों की हुई मौके पर मौत

गाजीपुर: एक प्रेमी युगल ने ट्रेन के इंजन के आगे कूदकर जान दे दी. मामला उत्तर प्रदेश में गाजीपुर जिले के नोनहरा थाना क्षेत्र का है. जहां पर गुरुवार को एक प्रेमी युगल ने ट्रेन के इंजन के आगे कूदकर जान दी है. मृतका की अभी शिनाख्त नहीं हो सकी है. प्रेमी के जेब से एक प्रेम पत्र और उसमें लिपटा गुलाब का सूखा फूल मिला है. 

मुंबई से श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंची चूरू, 120 प्रवासियों को चूरू लेकर पहुंची ट्रेन

प्रेमी युगल ने अचानक ट्रेन के आगे कूदकर दी जान: 
खबरों के मुताबिक गुरुवार सुबह लगभग 8 बजे ट्रेन का इंजन वाराणसी की ओर जा रहा था कि एक प्रेमी युगल ने अचानक ट्रेन के आगे कूद गए. ट्रेन की टक्कर लगने से लड़की का सिर फट गया और लड़के को भी गंभीर चोट लगी. जिससे दोनों की दर्दनाक मौत हो गई. यह देखकर रेलवे के लाइन पर काम करने वाले और अटवा गांव के लोग मौके पर पहुंचे. लोगों ने पुलिस को सूचना दी. रेलवे पुलिस मौके पर पहुंची. 

लड़की नहीं हुई शिनाख्त:
तलाशी लेने पर आधार कार्ड से लड़के की शिनाख्त की गई. मृतक का नाम किशन कुमार राजभर बताया जा रहा है. वे वाराणसी जिले के रुपनपुर नटुई आशापुर का रहने वाला था. मृतक लड़की शिनाख्त नहीं हो सकी है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि यह दोनों प्रेमी युगल थे. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

कोरोना का खौफ...! वक्त पर मिल जाती बुजुर्ग इंसान को मदद, तो बच सकती थी जान, 3 घंटे तक बाजार में रहा बेहोश 

अब गाजियाबाद ने भी सील की दिल्ली बॉर्डर, सिर्फ इमरजेंसी सेवा और पास वालों को एंट्री

अब गाजियाबाद ने भी सील की दिल्ली बॉर्डर, सिर्फ इमरजेंसी सेवा और पास वालों को एंट्री

नई दिल्ली: यूपी के गाजियाबाद में बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर जिला प्रशासन ने बड़ा फैसला लिया है. नोएडा के बाद अब गाजियाबाद ने भी दिल्ली बॉर्डर सील कर दिया है. अब यहां पर केवल पास वालों को प्रवेश दिया जाएगा. जानकारी के मुताबिक सोमवार को गाजियाबाद के जिलाधिकारी ने दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर सील करने का फरमान जारी किया है. 

फ्लाइट में 5 वर्षीय बच्चा अकेला ही सफर कर पहुंचा बेंगलुरु, 3 माह बाद मां के पास पहुंचा विहान

बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए लिया फैसला:
डीएम के मुताबिक गाजियाबाद में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमितों की संख्या को देखते हुए यह फैसला किया गया है. हालांकि, इस दौरान उन लोगों को प्रवेश की इजाजत मिलेगी जिनके पास पास होगा. इसके अलावा इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े लोगों को भी गाजियाबाद में प्रवेश दिया जाएगा. 

जिले में कुल दौ सौ से ज्यादा मामले:
जानकारी के अनुसार गाजियाबाद में कोरोना के अब तक 230 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से ज्यादातर गत एक सप्ताह में सामने आए हैं. जिले में अब तक कोरोना की चपेट में आने से 2 लोगों की मौत हो चुकी है. आपको बता दें कि गाजियाबाद से पहले नोएडा ने भी दिल्ली से जुड़े बॉर्डर को बंद करने का फैसला लिया था. दिल्ली की ओर से भले ही बॉर्डर खोल दिए गए हैं, लेकिन नोएडा ने अपने बॉर्डर नहीं खोले हैं. हालांकि, गाजियाबाद की तरह ही यहां भी पास वाले लोगों और इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े लोगों को प्रवेश दिया जा रहा है. 

महान हॉकी खिलाड़ी बलवरी सिंह सीनियर का निधन, पंजाब के मोहाली में 95 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

उत्तर प्रदेश में कल से 50 प्रतिशत स्टाफ के साथ खुलेंगे सरकारी दफ्तर, सुबह 9 से शाम 7 बजे तक 3 शिफ्ट में होगा काम 

उत्तर प्रदेश में कल से 50 प्रतिशत स्टाफ के साथ खुलेंगे सरकारी दफ्तर, सुबह 9 से शाम 7 बजे तक 3 शिफ्ट में होगा काम 

लखनऊ: कोरोना संकट से निपटने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन है. ऐसे में लॉकडाउन के चौथे चरण में देशभर में जनता को काफी छूट दी गई है. आपको बता दें कि यह छूट इसलिए दी गई है क्योंकि कोरोना के साथ ही साथ सरकारों को देश की अर्थव्यवस्था को भी पटरी पर बनाए रखने के काम करने थे. इसी के तहत यूपी की योगी सरकार का एक नया आदेश जारी किया है. जिसके तहत अब सोमवार से यूपी में सभी सरकारी दफ्तर 50 प्रतिशत  स्टाफ के साथ खोले जाएंगे.

50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ सरकारी कार्यालय खोलने के आदेश:
सरकारी दफ्तरों को 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ खोलने का यह आदेश राज्य के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने जारी किया है. आदेश के अनुसार अब सरकार से संबंधित सभी कार्यालय खुलेंगे. इसके लिए 3 शिफ्ट में समय का आवंटन भी किया गया है. नई व्यवस्था के अनुसार सरकारी दफ्तरों में सुबह 9 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक 3 शिफ्ट में काम होगा. 

COVID-19: पूरे विश्व में अब तक 54 लाख 04 हजार 586 कोरोना पॉजिटिव केस, अब तक 3 लाख से ज्यादा लोगों की हो चुकी है मौत

सोशल डिस्टेंसिंग की हो पूरी पालना:
पहली शिफ्ट सुबह 9 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक रहेगी. वहीं दूसरी शिफ्ट- सुबह 10 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक रहेगी. वहीं तीसरी शिफ्ट सुबह 11 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक रहेगी. आदेश के मुताबिक सरकारी दफ्तरों में कार्यावधि के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही साथ अन्य सुरक्षात्मक उपायों का पूरा ध्यान रखना होगा. इसके अलावा इस बात पर भी जोर दिया गया है कि हर कर्मचारी अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप का यूज करें.

SHO विष्णुदत्त विश्नोई आत्महत्या प्रकरण, परिजनों और सरकार में सहमति के बाद हुआ पोस्टमार्टम, पुलिस सम्मान के साथ शव किया सुपुर्द

यूपी: प्रयागराज में प्रवासी मजूदरों को ले जा रही बस पलटने से 35 मजदूर घायल, तीन की हालत गंभीर

यूपी: प्रयागराज में प्रवासी मजूदरों को ले जा रही बस पलटने से 35 मजदूर घायल, तीन की हालत गंभीर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में प्रवासी मजदूरों की बस पलटने से हादसे में 35 मजदूर घायल हो गए. मिली जानकारी के अनुसार इनमे से तीन मजदूरों की हालत गंभीर है. बाकि घायल मजदूरों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. हादसा टायर फटने से होना बताया जा रहा है. बस जयपुर से वेस्ट बंगाल जा रही थी तभी प्रयागराज के नवाबगंज इलाके में यह हादसा हो गया. हादसे के बाद घायलों का मौके पर ही प्राथमिक उपचार किया जा रहा है जबकि गंभीर घायलों को अस्पातल भेजा जा रहा है. 

विदेश से लौट रहे प्रवासियों के साथ ये कैसा मजाक ? अब देश में ही होटल में होना होगा क्वारंटीन, 14 दिन का खर्च भी खुद ही देना होगा

हालत से परेशान होकर मजदूर पलायन को मजबूर:
देश में 24 मार्च से जारी लॉकडाउन के चलते दिन प्रतिदिन प्रवासी मजदूरों की परेशानी बढ़ती जा रही है. हालत से परेशान होकर मजदूर पलायन को मजबूर हो गए हैं. देश में इस भीषण पलायन के दौर में अब तक कई मजदूर चलते-चलते रोड और ट्रेन एक्सीडेंट में मारे जा चुके हैं. 

पहनें मास्क, रखें दूरी...! लॉकडाउन में राजस्थान पुलिस ने की रिकॉर्ड कार्रवाई, 6 करोड़ से ज्यादा का वसूला जुर्माना

औरैया में 24 मजदूरों की मौत हो गई थी:
बता दें कि हाल में कुछ दिन पहले ही यूी के औरेया में सड़क हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई थी. वहीं 35 लोग घायल हो गए थे. लॉकडाउन के बीच हाईवे पर इन दिनों दर्द का अंतहीन सिलसिला चल रहा है. रोजी-रोटी के संकट के बीच प्रवासी मजदूर भयानक हालातों में अपने घरों को लौट रहे हैं. मजदूरों के पलायन की चौंकाने वाली तस्वीरें हर दिन सामने आ रही हैं. 


 

शाहजहांपुर के डीएम ने लि‍या गुरु जी बनने का निर्णय, ड्यूटी पूरी करने के बाद ऑनलाइन दे रहे बच्चों को ज्ञान

शाहजहांपुर के डीएम ने लि‍या गुरु जी बनने का निर्णय, ड्यूटी पूरी करने के बाद ऑनलाइन दे रहे बच्चों को ज्ञान

शाहजहांपुर: देशभर में कोरोना वायरस का प्रकोप फैलने से पिछले करीब दो महीने से पूरा प्रशासन अमला दिन-रात जुटा हुआ है. संक्रमण को रोकने के लिए तमाम चुनौतियों के बावजूद भी जिले के प्रशासनिक मुखिया ने उन बच्चों की भी फिक्र की जोकि घर में खाली बैठे थे. जी हां, हम बात कर रहे हैं शाहजहांपुर के डीएम इंद्र विक्रम सिंह की जिन्होंने बच्चों को शिक्षा देने लिए ऑनलाइन क्लास शुरू की है. डीएम को टीचर के तौर पर देखकर बच्चे भी बेहद खुश हैं और डीएम का शुक्रिया अदा करते नहीं थक रहे हैं. वहीं जिले के साथ पूरे राज्यभर में डीएम द्वारा उठाए गए इस कदम की प्रशंसा की जा रही है. 

लॉकडाउन में ये DM दे रहे हैं ऑनलाइन ...

विषयों का ज्ञान कराने के लिए पढ़ा रहे नए-नए टॉपिक: 
डीएम इंद्र विक्रम सिंह ड्यूटी पूरी करने के बाद शाम को अपनी एक ऑनलाइन पाठशाला शुरू करते हैं. जिसके जरिए वो बच्चों को हर दिन विषयों का ज्ञान कराने के लिए नए-नए टॉपिक पढ़ाते हैं. डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने भारत का संविधान, सुमित्र नंदन पंत की नौका विहार, मैथिलीशण गुप्त की कैकेई का अनुताप, कवितावली वन पथ पर व कबीर के दोहे ऑनलाइन पढ़ा चुके हैं.

shahjahanpur DM Indra Vikram singh Start online classes for class ...

कई अफसर अलग-अलग विषयों को पढ़ा रहे: 
डीएम ने बताया कि लॉकडाउन में स्कूल के बच्चे ना ही कोचिंग जा पा रहे हैं और ना ही स्कूल. इसी को ध्यान में रखते हुए यूट्यूब पर शाहजहांपुर ऑनलाइन पाठशाला अकाउंट शुरू किया गया है. जिस पर जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी महेंद्र सिंह तंवर सहित कई अफसर अलग-अलग विषयों की पाठशाला के जरिए बच्चों को पढ़ा रहे हैं. इस पाठशाला में विशेष तौर पर जिलाधिकारी कक्षा 9वीं, 10वीं और 11वी के बच्चों को पढ़ा रहे हैं.

Shahjahanpur DM teaching Indian Constitution to children on YouTube

तैयार की परिकल्पना:
डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने मुख्य विकास अधिकारी महेंद्र सिंह तंवर के साथ मिलकर अप्रैल के पहले सप्ताह में ऑनलाइन पाठशाला की परिकल्पना तैयार की. उनके कहने पर जिला विद्यालय निरीक्षक शौकीन सिंह यादव ने यूट्यूब चैनल तैयार कराया. इसके बाद अन्य अधिकारियों से बात कर डीएम ने कहा कि पढ़ाई के दौरान अधिकारी जिस विषय में माहिर थे, वही बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाएं. उसके बाद 11 अप्रैल से यह क्रम अनवरत जारी है.   

 ...शिशिर अवस्थी की रिपोर्ट

 

मुख्यमंत्री योगी को बम से उड़ाने की धमकी, खास समुदाय का बताया दुश्मन

मुख्यमंत्री योगी को बम से उड़ाने की धमकी, खास समुदाय का बताया दुश्मन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है. यह धमकी पुलिस मुख्यालय के वॉट्सऐप नंबर पर मैसेज भेजकर दी गई है. जिस नंबर से धमकी भरा मैसेज आया है, पुलिस ने उसके आधार पर एफआईआर दर्ज कर ली है. मैसेज में सीएम योगी को एक विशेष समुदाय के लिए पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है. पुलिस के आला अधिकारियों के अनुसार इस मामले से जुड़े आरोपी को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा. 

विदेश से वतन लौटने वालों की आज आएगी पहली फ्लाइट, एयरपोर्ट के पास 10 होटल में क्वॉरंटीन के लिए 810 कमरे बुक 

सीएम योगी को मैं बम से मारने वाला हूं:
जानकारी के अनुसार यूपी पुलिस के 112 मुख्यालय में गुरुवार देर रात लगभग साढ़े बारह एक वॉट्सऐप मैसेज आया. मैसेज में लिखा था कि सीएम योगी को मैं बम से मारने वाला हूं. (एक खास समुदाय का नाम लिखा) की जान का दुश्मन है वो. मैसेज मिलने के बाद इस बात की सूचना उच्चाधिकारियों को दी गई. अधिकारियों ने मामले को गंभीरता से लेते हुए नंबर के आधार पर एफआईआर दर्ज कर ली है. अब रिकॉर्ड निकाला जा रहा है कि यह नंबर किसके नाम का है. 

पीटीआई भर्ती 2018 में नियम से ज्यादा अभ्यर्थियो का किया चयन, हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से मांगा जवाब 

पुलिस ने तुरंत एफआईआर दर्ज की:
अधिकारियों के मुताबिक गोमती नगर थाने में धारा 505 (1) बी, 506 और 507 के तहत केस दर्ज किया गया है. मामले में कोई ढील न देते हुए पुलिस ने तुरंत एफआईआर दर्ज की है. उसके बाद धमकी देने वाले की तलाश की जा रही है. पुलिस के अनुसार उसे जल्द की गिरफ्तार कर लिया जाएगा. 

राम जन्मभूमि के समतलीकरण के दौरान मिल रही देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प कलश और कलाकृतियां

राम जन्मभूमि के समतलीकरण के दौरान मिल रही देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प कलश और कलाकृतियां

नई दिल्ली: अयोध्या में धीरे-धीरे राम मंदिर का काम शुरू हो गया है. इसी बीच राम जन्मभूमि के समतलीकरण के दौरान मंदिर के अवेशष मिलने का दावा किया गया है.  इन अवशेषों में कई पुरातात्विक मूर्तियां खंभे और शिवलिंग. आमलक, कलश और चौखट शामिल हैं. बता दें कि इसी महीने 11 मई से राम जन्मभूमि परिसर में समतलीकरण का काम शुरू हुआ है.

राम मंदिर निर्माण से पहले समतलीकरण ...

अवशेषों के मिलने का सिलसिला शुरू हो चुका: 
सुप्रीम कोर्ट के राम मंदिर के पक्ष में फैसले के बाद अधिग्रहित क्षेत्र में निर्माण की शुरुआती प्रक्रिया शुरू हो गई है. जन्मभूमि परिसर में राम मंदिर निर्माण के लिए तैयारियां व ट्रेंचों को भरने, समतलीकरण और लोहे की जालियों को हटाने का कार्य जोरों पर है. कोरोना संकट को देखते हुए इन जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जा रहा है. इसी बीच अवशेषों के मिलने का सिलसिला शुरू हो चुका है.

राम मंदिर निर्माण से पहले समतलीकरण ...

देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प कलश, कलाकृतियां आदि चीजें निकली: 
जानकारी के अनुसार अब तक जहां-जहां खुदाई हुई है, वहां से और आसपास की जगहों से देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प कलश, कलाकृतियां आदि चीजें निकली हैं. हालांकि ट्रस्ट की ओर से दी गई जानकारी में अवशेष के बारे में कुछ विस्तार से नहीं बताया गया है. ऐसा बताया जा रहा है कि विशेषज्ञों के निरीक्षण के बाद ही इस पर विस्तार रूप से बताया जा सकता है.

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से ...

5 फुट आकार के नक्काशीयुक्त शिवलिंग की आकृति भी प्राप्त हुई:
इन अवशेषों में देवी देवताओं की खंडित मूर्तियां, अन्य कलाकृतियां के पत्थर, 7 ब्लैक टच स्टोन के स्तंभ व 6 रेड सैंड स्टोन के स्तंभ और 5 फुट आकार के नक्काशीयुक्त शिवलिंग की आकृति प्राप्त हुई है.


 

मजदूरों के लिए बसों को लेकर बोली प्रियंका गांधी, कहा- बीजेपी के झंडे लगाने हों तो लगा लें लेकिन परमिशन दीजिए

मजदूरों के लिए बसों को लेकर बोली प्रियंका गांधी, कहा- बीजेपी के झंडे लगाने हों तो लगा लें लेकिन परमिशन दीजिए

नई दिल्ली: प्रवासी मजदूरों को बस मुहैया कराए जाने के मुद्दे पर प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर अपनी बात रखी है. उन्होंने कहा कि राजनीति से इस वक्त परहेज रखना चाहिए. हमारी पेशकश के पीछे सेवा का भाव है. साथ ही कहा कि बीजेपी के झंडे लगाने हों तो लगा लें लेकिन हमारी बसों को चलने दें. इससे 92 हजार लोगों को मदद मिलेगी. हमारी बसें अभी भी खड़ी हैं लेकिन योगी सरकार अनुमति नहीं दे रही है. प्रियंका गांधी ने बताया कि हमने अब तक 67 लाख लोगों की मदद की.

कोरोना काल के सच्चे पब्लिक सर्वेंट, चार युवा IAS अधिकारियों ने जरूरतमंदों की मदद कर छोड़ी छाप 

यूपी में कांग्रेस पार्टी मदद करने के लिए आगे आई:  
प्रियंका ने कहा कि इस कठिन समय में सभी राजनीतिक दल लोगों की मदद में शामिल हों. यूपी में कांग्रेस पार्टी मदद करने के लिए आगे आई है. हर जिले में हमने वॉलंटियर्स तैनात किए हैं. हाईवे पर टास्क फोर्स बनाए हैं. ताकि ये लोग जरूरतमंदों को मदद करें, खाना दें. 

Rajasthan Corona Updates: प्रदेश में 102 नए पॉजिटिव केस आए सामने, मरीजों का ग्राफ पहुंचा 5952, जिलेवार जाने आंकड़े 

इससे राह चलते लोगों को मदद मिलेगी:
बता दें कि बसों को लेकर पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस और उत्तर प्रदेश सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. दोनों तरफ से एक दूसरे को कई पत्र भी लिके गए हैं. इसी के चलते प्रियंका ने सोशल मीडिया पर अपनी बात रखते हुए कहा कि इससे राह चलते लोगों को मदद मिलेगी. हम बसों की दूसरी लिस्ट देने के लिए तैयार हैं. 

Open Covid-19