Rajasthan: गांवों में कांग्रेस को फिर मजबूत करने की तैयारी, घर-घर पहुंचाएंगे पार्टी की विचारधारा

Rajasthan: गांवों में कांग्रेस को फिर मजबूत करने की तैयारी, घर-घर पहुंचाएंगे पार्टी की विचारधारा

Rajasthan: गांवों में कांग्रेस को फिर मजबूत करने की तैयारी, घर-घर पहुंचाएंगे पार्टी की विचारधारा

जयपुर: गांव-देहातों में कांग्रेस को फिर से मजबूत करने और गांव की नई पीढ़ी को कांग्रेस की रीति-नीति से अवगत करवाने की तैयारी प्रदेश कांग्रेस ने शुरू कर दी है. इसके लिए प्रदेश कांग्रेस की ओर से जल्द ही पंचायत राज और स्थानीय जनप्रतिनिधियों का एक प्रदेश स्तरीय सम्मेलन जयपुर में आयोजित किया जा रहा है, जिसमें जिला प्रमुख, उपप्रमुख, प्रधान, उपप्रधान, नगर पालिका के चेयरमैन और स्थानीय जनप्रतिनिधियों को गांव-देहातों में कांग्रेस की रीति-नीति, विचारधारा, संस्कृति से अवगत करवाने का टास्क दिया जाएगा और आगामी सालों में होने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस को अभी से ही मजबूत करने की तैयारी भी की जाएगी. हालांकि प्रदेश स्तरीय सम्मेलन की तारीख अभी तय नहीं हुई है, लेकिन प्रदेश कांग्रेस के नेताओं की मानें तो सितंबर माह के आखिरी सप्ताह में प्रदेश स्तरीय सम्मेलन आयोजित किया जाएगा.

पार्टी के विश्वस्त नेताओं की माने तो गांव-देहातों में फिर से कांग्रेस को मजबूत करने और गांव की नई पीढ़ी को कांग्रेस की रीति-नीति, सिद्धांतों और कल्चर से अवगत करवाने की वजह यह है कि पूर्व में हमेशा से कांग्रेस को गांवों में मजबूत माना जाता रहा है, लेकिन गांवों में अब नई पीढ़ी के लोगों का रुझान भाजपा और मोदी सरकार की तरफ बढ़ा है और जिसका नुकसान कांग्रेस पार्टी को लोकसभा और पंचायत चुनावों में भुगतना पड़ा है. बीते साल और इस साल हुए ग्राम पंचायत और पंचायत चुनाव में भी कांग्रेस पिछड़ी हुई नजर आई थी और अप्रत्याशित तौर पर भाजपा को फायदा पहुंचा था.

पूर्व में पंचायत राज के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी भी देंगे:
प्रदेश स्तरीय सम्मेलन के बाद पंचायतों और नगर-निकायों के स्थानीय जनप्रतिनिधि गांव ढाणियों में जाकर कांग्रेस की रीति-नीति, सिद्धांत, कल्चर के बारे में अवगत करवाएंगे साथ ही कांग्रेस की सरकारों की ओर से पूर्व में पंचायत राज के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी भी देंगे. इसके साथ ही राजस्थान की गहलोत सरकार की ओर से किसानों और गांव के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी भी दी जाएगी. वहीं किसानों को लेकर केंद्र सरकार की गलत नीतियों का भी जानकारी ग्रामीणों तक पहुंचाई जाएगी. प्रदेश कांग्रेस के नेताओं की माने तो प्रदेश सम्मेलन के बाद सभी जिलों में भी ऐसे सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे, जिसमें ज्यादा से ज्यादा भागीदारी गांव-ढाणियों से जुड़े लोगों की होगी. स्थानीय जनप्रतिनिधियों के प्रदेश के सम्मेलन का रोडमैप तैयार हो चुका है. इसी सप्ताह में सम्मेलन होना हैं, तारीख की घोषणा भी जल्द होगी. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें