Live News »

एक शिक्षक के भरोसे विद्यार्थी, नाराज अभिभावकों ने स्कूल पर जड़ा ताला 

एक शिक्षक के भरोसे विद्यार्थी, नाराज अभिभावकों ने स्कूल पर जड़ा ताला 

भीनमाल (जालोर)। राजकीय प्राथमिक विद्यालय रेबारियों का वास रामसीन में छात्र छात्राओं और अभिभावकों ने विद्यालय के मुख्य द्वार पर ताला जड़ कर विरोध प्रदर्शन किया। छात्रों और अभिभावकों की मांग है कि, "प्राथमिक विद्यालय में कुल 135 विद्यार्थी अध्ययनरत है। विद्यालय में कुल 5 शिक्षक के पद स्वीकृत है लेकिन मात्र केवल एक दिव्यांग शिक्षक ही कार्यरत है। जिससे बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। वही एक शिक्षक द्वारा पांच कक्षाओं का अध्ययन करवाना बड़ी मुसीबत का विषय बना हुआ है, लेकिन इस ओर प्रशासन को कई बार अवगत करवाने के बावजूद भी अध्यापकों के रिक्त पदों को नहीं भरा जा रहा है।"

और पढ़ें

Most Related Stories

सुंधा माता मंदिर आज से 31 मार्च तक दर्शन के लिए बंद

सुंधा माता मंदिर आज से 31 मार्च तक दर्शन के लिए बंद

भीनमाल(जालौर): जिले सहित प्रदेश का ऐतिहासिक एवं पौराणिक तीर्थ स्थल सुंधा माता मंदिर आज से 31 मार्च तक दर्शनार्थियों के दर्शन के लिए बंद रहेगा. ट्रस्ट की बैठक में ये फैसला लिया गया जिसमें कोरोना वायरस के चलते यह निर्णय लिया गया है. दरअसल श्री चामुंडा माता ट्रस्ट ने देशभर में चल रहे कोरोना वायरस के खौफ को लेकर बैठक ली गई. वहीं बैठक में आज से 31 मार्च तक दर्शनार्थियों के लिए मंदिर के पट बंद रहेंगे. हालांकि यह जालौर जिले के साथ-साथ देशभर का बड़ा ऐतिहासिक मंदिर है जहां प्रदेश सहित अन्य राज्यों से भी लोग दर्शन के लिए आते हैं. 

डॉक्टर की पत्नी ने फांसी लगा दी जान, विधायक पिता बेंगलुरु में ज्योतिरादित्य के समर्थन में दे चुके इस्तीफा 

कोरोना के चलते भक्तों में भी काफी मायूसी:
बताया जाता है कि आज दिन तक किसी भी स्थिति में सुंधामाता मंदिर के पट बंद नहीं हुए हैं लेकिन केंद्र सरकार राज्य सरकार व प्रशासन की ओर से आदेश के बाद सुंधा माता ट्रस्ट की ओर से यह निर्णय लिया गया है. जिसमें 31 मार्च तक यह मंदिर बंद रहेगा जिसमें आने वाले श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए बंद रहेगा. हालांकि इस मंदिर में पूजा अर्चना होगी लेकिन कोरोना वायरस के खौफ के चलते दर्शनार्थियों के लिए मंदिर के पट बंद रहेंगे. वही आगामी चैत्र नवरात्रि पर यहां पर हजारों की तादाद में लोग माता के दर्शन के लिए आते हैं पर कोरोना के चलते भक्तों में भी काफी मायूसी देखने को मिल रही है. वहीं व्यापारियों में भी संकट आ गया है. 

निर्भया रेप मर्डर के अभियुक्तों को फांसी में शामिल मुकेश करौली निवासी, घर पर पसरा सन्नाटा 

सचिन पायलट ने भीनमाल पहुंच मनरेगा के तहत चल रहे कार्य का किया निरीक्षण

सचिन पायलट ने भीनमाल पहुंच मनरेगा के तहत चल रहे कार्य का किया निरीक्षण

भीनमाल(जालोर): जोधपुर संभाग के दौरे पर आए उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट आज भीनमाल पहुंचे. भीनमाल में उन्होंने पंचायत समिति में अधिकारियों की बैठक ली और उसके बाद उन्होंने भरुड़ी गांव में मनरेगा के तहत चल रहे तालाब खुदाई के कार्य का निरीक्षण किया. मनरेगा अभियान के तहत करीब 40 लाख रुपए की लागत से तालाब खुदाई का कार्य किया जा रहा है. मनरेगा कार्य के निरीक्षण के दौरान सचिन पायलट ने मेट और श्रमिकों से बात की और कार्यस्थल पर उपलब्ध करवाई जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी ली साथ ही नरेगा भुगतान के संबंध में भी श्रमिकों से जानकारी ली. 

मनरेगा डिमांड बेस कानून है 
मनरेगा कार्य के निरीक्षण के बाद सचिन पायलट ने पत्रकारों से वार्ता में कहा कि पिछले 6 महीने में राज्य सरकार ने मनरेगा के तहत अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में काम किया है और जहां 6 महीने पहले 9 लाख श्रमिकों को रोजगार दिया जा रहा था आज इनकी संख्या करीब 33 लाख तक पहुंच चुकी है. सचिन पायलट ने बताया कि मनरेगा डिमांड बेस कानून है और जिस गांव में कितने श्रमिक काम मांगे उन्हें काम उपलब्ध करवाया जाना सरकार की जिम्मेदारी है. पायलट ने कहा कि हम सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों की संयुक्त जिम्मेदारी है कि हम इस योजना का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाएं. 

मनरेगा के तहत जो कार्य करवाया जा रहा है काफी अच्छा प्रयास
उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत जो कार्य करवाया जा रहा है काफी अच्छा प्रयास है और इससे गांव में पानी की समस्या का समाधान होगा, साथ ही उन्होंने कहा कि कानून में बदलाव के तहत अब नरेगा के तहत श्रमिक अपने खेत में भी नरेगा कार्य कर भुगतान ले सकते हैं. उन्होंने बताया कि यहां काम करने वाले श्रमिकों के लिए पेयजल, छाया की व्यवस्था काफी अच्छी पाई गई साथ ही सभी कार्य स्थल पर पेयजल, छाया की व्यवस्था करने की सख्त हिदायत दी गई है. नरेगा में काम करने वाले श्रमिकों का भुगतान भी 5 से 7 दिनों के भीतर हो इसके लिए भी अधिकारी को निर्देश दिए गए हैं. सचिन पायलट ने बताया कि मनरेगा के तहत जहां कहीं भी भ्रष्टाचार की शिकायत आएगी और यदि उस शिकायत का सत्यापन होता है तो जो भी दोषी होगा उसके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी क्योंकि सरकार भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम कर रही हैं. 

युवक की निर्मम हत्या कर शव जलाने के मामले में पुलिस ने किया खुलासा

युवक की निर्मम हत्या कर शव जलाने के मामले में पुलिस ने किया खुलासा

जालोर: जिले के भीनमाल थाना क्षेत्र में युवक की निर्मम हत्या कर शव जलाने के प्रकरण में एसपी केसरसिंह ने आज प्रेस वार्ता कर पूरे मामले का खुलासा किया है. मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं मामले से जुड़ी एक युवती को हिरासत में लिया गया है जिसकी उम्र को लेकर पता लगाया जा रहा है.

हत्या के आरोपी भीमाराम को स्वयं की पत्नी व मृतक के बीच अवैध संबंध होने का शक था जिसको लेकर आरोपी भीमाराम व अजाराम ने अपने रिश्ते की युवती के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची. इसके बाद युवती ने मृतक को प्रेम जाल में फंसा कर गुजरात से गांव बुलाया और रात्रि में सुनसान जगह बुलाकर दोनों आरोपियों ने लाठियों से वार कर युवक की निर्मम हत्या कर दी.वहीं पेट्रोल छिड़ककर शव को जला दिया.

पुलिस टीम ने कॉल डिटेल खंगाल कर आरोपियों को धर दबोचा 
पुलिस टीम ने कॉल डिटेल खंगाल कर आरोपियों को धर दबोचा जिसमें आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में पूरे मामले का खुलासा किया. पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं मामले से जुड़ी युवती को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है जिसकी उम्र को लेकर पुलिस पता लगा रही है.

27 वर्षीय युवक ने बकरी को बनाया हवस का शिकार 

27 वर्षीय युवक ने बकरी को बनाया हवस का शिकार 

भीनमाल। प्रदेश में इन दिनों यौन शोषण और रेप के मामले बढ़ते जा रहे हैं। लोगों पर हवस की दरिंदगी इस कदर हावी है कि वे जानवरों को भी नहीं बख्श रहे। भीनमाल के न्यायालय में आज ऐसा ही एक अजीबो गरीब मामला देखने क़ो मिला। जहां एक युवक पर बकरी के साथ अप्राकृतिक क्रिया का आरोप लगा है। 

दरअसल इस मामले में भीनमाल थाने में रिपोर्ट दर्ज हुई थी। जिसमें भीनमाल पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर भीनमाल न्यायालय में पेश किया गया। वहीं कोर्ट ने युवक को न्यायिक अभिरक्षा के लिए भेज दिया। उक्त मामले को लेकर भीनमाल कोर्ट की ओर से जमानत आज खारिज कर दी गई है। परिवादी के अधिवक्ता गणपत लाल कंसारा ने बताया कि 27 वर्षीय भीनमाल निवासी होकाराम उर्फ कांतिलाल पुत्र हंजाराम भील की ओर से बकरी के साथ अप्राकृतिक कार्य किया गया। जिसको लेकर भीनमाल कोर्ट की ओर से जमानत खारिज कर दी गई है। 

... भीनमाल से उत्तम गोस्वामी की रिपोर्ट 

भीनमाल में खाकी हुई दागदार, महिला कांस्टेबल के आशिक की निर्मम हत्या

भीनमाल में खाकी हुई दागदार, महिला कांस्टेबल के आशिक की निर्मम हत्या

जालोर। जिले के भीनमाल में खाकी दागदार होने का सनसनीखेज मामला सामने आया हैं। पहले महिला कांस्टेबल ने इश्क किया, फिर युवक के साथ अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो प्लानिंग कर रक्षक ही भक्षक बनते हुए युवक को मौत के घाट उतार दिया। हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा करते हुए महिला कांस्टेबल सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं अभी भी मुख्य आरोपी पुलिस कांस्टेबल सुरेश फरार है।  

भीनमाल में खाकी हुई दागदार
जालोर के भीनमाल थाना क्षेत्र के दांतिवास गांव निवासी महिला कांस्टेबल श्रवणी कुमारी सिरोही जिले के पिंडवाड़ा पुलिस थाने में कार्यरत थी। महिला कांस्टेबल श्रवणी कुमारी का भजनलाल नाम के युवक के साथ प्रेम प्रसंग शुरू हुआ इस दौरान दोनों के अश्लील फोटो कुछ दिन पूर्व सोशल मीडिया पर अचानक वायरल हो गए। फोटो वायरल होने से महिला कांस्टेबल श्रवणी और उसके परिजन तनाव में आ गए। महिला कांस्टेबल का भाई भी सिरोही पुलिस में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत है। 

अश्लील फोटो वायरल होने पर भाई के साथ बनाया हत्या का प्लान
कांस्टेबल सुरेश ने अपनी बहन महिला कांस्टेबल श्रवणी के अश्लील फोटो वायरल को लेकर युवक की हत्या का प्लान बनाया, डेयरी में काम करने वाले युवक अशोक कुमार ने हत्या करने के लिए वाहन उपलब्ध करवाया जिसके बाद मृतक युवक भजनलाल रात्रि में बाइक से भीनमाल से दांतीवास गांव जा रहा था तभी वाहन से टक्कर मारकर भजनलाल की हत्या कर दी। वहीं हत्या के मामले को सड़क हादसा दिखाने को लेकर प्रयास किया गया लेकिन मृतक के परिजनों की आशंका के चलते पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू की जिसमें हत्या से जुड़े खुलासे सामने आये।

महिला कांस्टेबल श्रवणी गिरफ्तार
चुनावी ड्यूटी के दौरान महिला कांस्टेबल श्रवणी को भीनमाल पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया वहीं वाहन उपलब्ध कराने के आरोपी अशोक कुमार को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया लेकिन हत्या के मास्टरमाइंड कांस्टेबल सुरेश पुलिस कार्रवाई की भनक लगते ही चुनावी ड्यूटी के बाद से फरार हो गया जिसकी में पुलिस टीमें लगातार तलाश कर रही है। भीनमाल थानाधिकारी देवेंद्रसिंह ने बताया कि हत्या के मामले में महिला कांस्टेबल को गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ की गई जिसमें महिला कांस्टेबल ने हत्या की साजिश रचने व हत्या करने का जुर्म कबूल किया। इस मामले में कई और भी आरोपियों के नाम सामने आएंगे इसको लेकर पुलिस गहनता से पूछताछ कर रही हैं। 

पुलिस की गहन जांच के चलते पूरे मामले का खुलासा 
महिला कांस्टेबल सहित दो आरोपियों को आज भीनमाल कोर्ट में पेश किया गया जहां से दोनों आरोपियों को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया। भीनमाल पुलिस की गहन जांच के चलते पूरे मामले का खुलासा हो गया ऐसे में अब हत्या का मास्टरमाइंड कांस्टेबल सुरेश जल्द ही पुलिस गिरफ्त में होगा और खाकी को बदनाम करने वाले दोनों भाई बहन जेल की सलाखों के पीछे होंगे। 

.....लूणाराम दर्जी फर्स्ट इंडिया न्यूज़ जालोर

पथरीली डगर पर साथी बन दिखा रहे कामयाबी की राह

पथरीली डगर पर साथी बन दिखा रहे कामयाबी की राह

भीनमाल(जालोर)। कहते हैं कि मंजिल उन्हें मिलती है जिनके सपनों में जान होती है पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है। ऐसा ही वाक्य भीनमाल उपखंड मुख्यालय पर अर्पण डे केयर दिव्यांग संस्थान ने करके दिखाया। अर्पण दिव्यांग संस्थान एक ऐसा संस्थान है जहां पर दिव्यांग बच्चों को तालीम दे रहा है। साथी जो दिव्यांग बच्चे कभी सपने में भी या नहीं सोचते थे की हम भी समाज की मुख्यधारा के साथ जुड़ पाएंगे सामान्य बच्चों की तरह ही स्कूल जा पाएंगे लेकिन ऐसा कर दिखाया है।  2 युवाओं ने जिन्होंने भामाशाह और जनप्रतिनिधियों के सहयोग से दिव्यांगों के लिए एक संस्थान की शुरुआत की देखते ही देखते संस्थान को भामाशाह का सहयोग मिलते ही इन्हीं युवाओं ने डेढ़ वर्ष(अगस्त 2017) में 29 दिव्यांगों को अर्पण संस्थान से जुड़ा है यहां पर दिव्यांग बच्चों को शिक्षा और जीवन में होने वाली क्रियाओं के बारे में भी जानकारी दी जाती है वही यहां पर प्रोजेक्ट और अन्य दिव्यांगों को पढ़ाने के लिए सामग्री है उसे पढ़ाया भी जाता है साथिया पर दिव्यांग बच्चों के लिए महिला स्टाफ की भी व्यवस्था है । इन बच्चों को एक मां की तरह लाड प्यार के साथ में शिक्षा एवं विभिन्न प्रकार के बयान खेलकूद थेरेपी के द्वारा उनको कौशल विकास के लिए प्रयास किए जा रहे हैं । 

संस्था के संचालक प्रवीण कुमार और पीयूष दवे ने फर्स्ट इंडिया न्यूज को बताया कि जब हमने संस्थान को शुरू किया तब यह बच्चे बिल्कुल उठना बैठना भी नहीं जानते थे यहां तक की टॉयलेट का भी ध्यान नहीं रहता था और शौच भी अंदर ही करते थे लेकिन हमने एक विशेष प्रकार का प्रशिक्षण देकर काफी बदलाव आया है इन बच्चों में अब यह संगीत के साथ भी प्रार्थना बोलते हैं कुछ बच्चों को जीवन यापन के लिए प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है कई बच्चों एवं बच्चियों को सिलाई का प्रशिक्षण भी दिया जाता है कई बच्चे या पर घरेलू सामग्री उपयोग आने वाली सामग्री जैसे दीपक अलग-अलग प्रकार के प्रशिक्षण देकर उनको आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं । साथ ही संस्था में इन बच्चों के लिए विशेष व्यवस्था के तौर पर स्कूल की समय सारणी के हिसाब से यह संस्थान चलाया जाता है बच्चों को लाने ले जाने के लिए ऑटो की व्यवस्था भी की गई है वही इस स्कूल को देवू बैन माणकचन्द जी कोठारी का विशेष सहयोग मिल रहा है।

अर्पण डे केयर संस्थान के पास में किराए का एक छोटा सा भवन है वह भी किराए पर है जिसमें पर्याप्त सुविधाएं मुहैया नहीं कराई जा सकती संस्थान के अध्यापकों का कहना है कि हमें सरकारी योजनाओं के तहत भूखंड मिल जाए तो अंबा माता के सहयोग से एक भवन तैयार करवाकर जिले के दिव्यांग बच्चों को अपनी शिक्षा एवं उनको आवासीय विद्यालय के रूप में एक नई भव्य रूप दे सकते हैं । वहीं नए भवन निर्माण के लिए जनप्रतिनिधियों से कई बार गुहार भी लगाई एवं प्रशासन को भी अवगत करवाया लेकिन अब यह तो आने वाला समय ही बताएगा कि इन दिव्यांगों के लिए सरकार फेल करके कोई भूखंड आवंटित करती है या फिर महज आश्वासन ही बना रहेगा। अगर सरकार द्वारा किसी सरकारी भवन का निर्माण या भूखंड आवंटित करवाया जाता है तो वह भी इससे ज्यादा दिव्यांग बच्चों बच्चों को इस संस्थान से जोड़ा जा सकता है लेकिन पर्याप्त भूखंड और भवन नहीं होने की वजह से यहां पर महज 29 बच्चों की देखभाल के साथ साथ उन्हें शारीरिक शिक्षा और मानसिक शिक्षा के बारे में भी विकसित करने के प्रयास जारी है। 

...उत्तम गोस्वामी फर्स्ट इंडिया न्यूज़ भीनमाल 

Open Covid-19