पुणे Maharashtra: सांगली में एक ही परिवार के नौ सदस्यों को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में 13 लोग गिरफ्तार

Maharashtra: सांगली में एक ही परिवार के नौ सदस्यों को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में 13 लोग गिरफ्तार

Maharashtra: सांगली में एक ही परिवार के नौ सदस्यों को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में 13 लोग गिरफ्तार

पुणे: पुलिस ने महाराष्ट्र के सांगली जिले में एक परिवार के नौ सदस्यों को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपी 25 लोगों में से 13 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन लोगों से परिवार ने धन उधार लिया था. एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि वानमोरे परिवार के लोगों को आरोपी ‘‘परेशान’’ किया करते थे क्योंकि परिवार उनसे लिया गया कर्ज नहीं लौटा पा रहा था और शायद इसी कारण से परिवार के लोगों ने यह आत्मघाती कदम उठाया.

पुलिस अधिकारी के अनुसार गिरफ्तार किए गए कुछ आरोपियों के खिलाफ पहले भी पैसे उधार देने के मामले दर्ज हैं. उन्होंने बताया कि पोपट वानमोरे (54) शिक्षक थे और उनके भाई पशुचिकित्सक डॉ मणिक वानमोरे (49),उनकी 74वर्षीय मां,दोनों की पत्नियां और चार बच्चे जिले के म्हैसाल गांव में अपने मकानों में मृत पाए गए. उन्होंने बताया कि राजधानी मुंबई से करीब 350 किलोमीटर दूर स्थित गांव में दोनों भाइयों के मकानों में ‘सुसाइड नोट’ भी मिले हैं. पुलिस के अनुसार प्रारंभिक जांच से पता चला है कि दोनों भाइयों ने कई लोगों से काफी पैसा उधार लिया था. सांगली के पुलिस अधीक्षक दीक्षित गेदाम ने संवाददाताओं को बताया कि सुसाइड नोट की विषयवस्तु यह दर्शाती है कि परिवार ने कुछ लोगों से धन उधार लिया था और उसे लौटाने में उन्हें मुश्किलें आ रही थीं. अधिकारी ने कहा कि उन्हें इस वजह से परेशान किया जा रहा था और इसी के चलते उन्होंने यह कदम उठाया है.  उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि उन्होंने किसी कारोबार के लिए धन उधार लिया था. 

पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमने 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है जिनसे परिवार ने धन उधार लिया था. परिवार को उन लोगों द्वारा परेशान किया जा रहा था,जिसके चलते उन्होंने यह कदम उठाया. उन्होंने कहा कि पुलिस ने इन 25 लोगों में से 13 लोगों को भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए कुछ आरोपियों के खिलाफ पहले भी पैसे उधार देने के मामले दर्ज हैं. अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीम बनाई गयी हैं. यह पूछे जाने पर कि क्या परिवार ने एक साथ जहरीला पदार्थ खाया, उन्होंने कहा कि इस संबंध में जांच की जा रही है. मामले में अंधविश्वास के किसी कोण को लेकर पूछे गए सवाल पर एसपी ने कहा कि प्रथम दृष्टया कर्ज का बोझ घटना का कारण दिख रहा है, लेकिन पुलिस सभी संभावित पहलुओं को लेकर जांच करेगी. सोर्स- भाषा

और पढ़ें