असम में 2008 के सीरियल बम ब्लास्ट मामले में 15 लोग दोषी करार

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/28 06:57

गुवाहाटी। असम में सीबीआई की विशेष अदालत ने 2008 के सीरियल बम ब्लास्ट मामले में आज पंद्रह लोगों को दोषी करार दिया है। इनमें प्रतिबंधित गुट नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड का सरगना रंजन दैमारी शामिल है। सीबीआई की विशेष अदालत अब इस मामले पर सज़ा 30 जनवरी को सुनाएगी।

गौरतलब है कि यह बम विस्फोट 30 अक्टूबर 2008 की दोपहर में हुआ जब गुवाहाटी और उसके आसपास पश्चिमी असम इलाके में एक के बाद एक 18 धमाके बाजार के अंदर हुए थे। इस घटना में 81 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 470 लोग घायल हो गए थे। एनडीएफबी ने उस दिन गुवाहाटी, कोकराझार, बोंगईगांव और बारपेटा को निशाना बनाया था। 

बता दें कि स्पेशल पब्लिक प्रसिक्यूटर टीडी गोस्वामी के अनुसार राज्य सरकार की तरफ से फांसी की मांग की गई है। दैमारी के अलावा जॉर्ज बोडो, बी. थरई, राजू सरकार, निलिम दैमारी, अंचाई बोडो, इन्द्र ब्रह्मा, लोको बासुमतारी, खड़गेश्वर बासुमतारी, प्रभात बोडो, जयंत बोडो, अजय बासुमतारी, मृदुल गोयारी, माथुराम ब्रह्मा और राजेन गोयारी को भी दोषी करार दिया गया है।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in