Live News »

दिल्ली की सात संसदीय सीटों पर 1.43 करोड़ मतदाता करेंगे 164 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला 

दिल्ली की सात संसदीय सीटों पर 1.43 करोड़ मतदाता करेंगे 164 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला 

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के छठे चरण में सात राज्यों में 59 निर्वाचन क्षेत्रों के लिये कल वोट डाले जायेंगे। उत्तर प्रदेश में चौदह, हरियाणा में सभी दस, पश्चिम बंगाल, बिहार और मध्य प्रदेश में आठ-आठ, दिल्ली में सभी सातों तथा झारखंड में चार सीटों के लिये मतदान होगा। वहीं बात करें दिल्ली की तो इस चुनाव में कुल 164 उम्‍मीदवार मैदान में हैं जिनमें 16 महिला और 43 निर्दलीय है।

गौरतलब है कि दिल्ली की सात संसदीय सीटों पर कुल 1 करोड़ 43 लाख से अधिक मतदाता हैं, जिनमें से 78 लाख 73 हजार पुरूष और 64 लाख 42 हजार महिला मतदाता हैं। इस बार 2 लाख 54 हजार से ज्‍यादा ऐसे युवा मतदाता है जो पहली बार अपने मताधिकर का प्रयोग करेंगे। मतदान के लिए कुल 13 हजार 819 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें से 523 संवेदनशील है। चुनाव कार्य में लगाए गए कर्मचारियों की सुविधा के लिए दिल्‍ली मेट्रो की सेवाएं भी कल सुबह 4 बजे से उपलब्‍ध रहेगी।

किस सीट से कितने उम्मीदवार:
चांदनी चौक                 26
नई दिल्ली                   27
उत्तर पूर्वी दिल्ली          24
पूर्वी दिल्ली                   26
उत्तर पश्चिमी दिल्ली    11
पश्चिमी दिल्ली             23
दक्षिणी दिल्ली              27
कुल                           164

और पढ़ें

Most Related Stories

कोरोना संक्रमण को लेकर नया खुलासा, इतने दिन के बाद संक्रमित से नहीं फैलता वायरस

कोरोना संक्रमण को लेकर नया खुलासा,  इतने दिन के बाद संक्रमित से नहीं फैलता वायरस

नई दिल्ली: एक रिसर्च में इस बात की जानकारी सामने आई है कि कोरोना वायरस के मरीजों से 11वें दिन बाद संक्रमण नहीं फैलता. यहां तक की इस बात का भी फर्क नहीं पड़ता की वह 12वें दिन भी पॉजिटिव रहे. इस बात की जानाकारी सिंगापुर नेशनल सेंटर फॉर इंफेक्शस डिजीजेज (NCID) एंड अकेडमी ऑफ मेडिसीन की स्टडी में सामने आई है. शोधकर्ताओं के मुताबिक स्टडी के दौरान पाया गया कि कोरोना मरीजों के लक्षण दिखने के 7 से 10 दिन बाद तक संक्रमण फैलाने की क्षमता होती है. 

Coronavirus: भारत कोरोन संक्रमित देशों की सूची में टॉप-10 में शामिल, लगातार चौथे दिन सबसे ज्यादा बढोत्तरी 

मरीजों में एक्टिव वायरल रेप्लिकेशन घटने लगता है:
इस बारे में करीब 73 कोरोना पॉजिटिव मरीजों पर स्टडी करने पर उन्हें नई बात पता चली. शोधकर्ताओं के अनुसार 11 दिन के बाद कोरोना वायरस को आइसोलेट या Cultured नहीं किया जा सकता. शोधकर्ताओं के अनुसार लक्षण दिखने के एक हफ्ते बाद कोरोना मरीजों में एक्टिव वायरल रेप्लिकेशन घटने लगता है. ऐसे में इस बारे में हॉस्पिटल फैसला ले सकता है कि मरीजों को कब डिस्चार्ज किया जाए.  ऐसे में यह नहीं जानकारी डॉक्टरों के लिए महत्वपूर्ण हो सकती है. 

आज से शुरू हुआ नौतपा, आसमान से जमकर बरसेगी आग 

नई जानकारी को लेकर रिसर्चर्स विश्वस्त: 
शोधकर्ताओं का मानना है कि सैंपल साइज छोटा होने के बावजूद नई जानकारी को लेकर रिसर्चर्स विश्वस्त हैं. उनका मानना है कि बड़े सैंपल साइज में भी ऐसे ही परिणाम देखने को मिलेंगे. शोधकर्ताओं के अनुसार इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि कोरोना मरीज 11 दिन बाद संक्रामक नहीं होते हैं. बता दें कि दुनियाभर में लगातार कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है. आज सुबह तक दुनिया में कोरोना मरीजों की संख्या 54 लाख को पार कर चुकी है.  


 

पूर्व हॉकी कप्तान और तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रहे हॉकी लीजेंड बलबीर सिंह सीनियर नहीं रहे

पूर्व हॉकी कप्तान और तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रहे हॉकी लीजेंड बलबीर सिंह सीनियर नहीं रहे

चंडीगढ़: पूर्व हॉकी कप्तान और तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रहे 96 वर्षीय बलबीर सिंह सीनियर का निधन हो गया. सुबह 6 बजकर 17 मिनट पर उनका देहांत हो गया. 96 साल के थे. दो सप्ताह से अधिक समय तक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझने के बाद सोमवार को चंडीगढ़ के एक अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली. 

Coronavirus: भारत कोरोन संक्रमित देशों की सूची में टॉप-10 में शामिल, लगातार चौथे दिन सबसे ज्यादा बढोत्तरी 

उनके दिमाग में खून का थक्का जम गया था:
बलबीर सिंह सीनियर 18 मई से अर्ध चेतन अवस्था में थे और उनके दिमाग में खून का थक्का जम गया था. इस बार वह शुरू से ही वेंटिलेटर पर रहे और इस दौरान उन्हें तीन बार हार्ट अटैक भी आया. उन्हें फेफड़ों में निमोनिया और तेज बुखार के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इस बार उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती रही और सोमवार को उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. देश के महानतम खिलाड़ियों में से एक बलबीर सीनियर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा चुने गए आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलंपियनों में शामिल थे.

आज से शुरू हुआ नौतपा, आसमान से जमकर बरसेगी आग 

1956 के ओलंपिक में वह भारतीय हॉकी टीम के कप्तान बने थे:
बलबीर सिंह सीनियर लंदन ओलंपिक 1948, हेलसिंकी ओलंपिक 1952 और मेलबर्न ओलंपिक 1956 में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं. 1956 के ओलंपिक में वह भारतीय हॉकी टीम के कप्तान बने थे. इसके अलावा वह वर्ल्ड कप 1971 में ब्रॉन्ज और वर्ल्ड कप 1975 में गोल्ड जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के मुख्य कोच थे. भारत सरकार ने उन्हें 1957 में पद्मश्री से सम्मानित किया था.


 

Coronavirus: भारत कोरोन संक्रमित देशों की सूची में टॉप-10 में शामिल, लगातार चौथे दिन सबसे ज्यादा बढोत्तरी

Coronavirus: भारत कोरोन संक्रमित देशों की सूची में टॉप-10 में शामिल, लगातार चौथे दिन सबसे ज्यादा बढोत्तरी

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है. देश में जारी स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार कोरोना संक्रमण के अब तक 138,845 मामले सामने आ चुके  हैं. इसी के साथ भारत सबसे ज्यादा संक्रमित देशों की सूची में नंबर 10 पर पहुंच गया है. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 72 पॉजिटिव केस आए सामने, राजस्थान में फिलहाल 3081 कोरोना के एक्टिव केस 

लगातार चौथे दिन सबसे ज्यादा बढोत्तरी: 
पिछले 24 घंटों में देश में संक्रमित मरीजों के 6977 नए मामले सामने आए हैं. यह लगातार चौथे दिन सबसे ज्यादा बढोत्तरी है. वहीं इसके साथ ही पिछले 24 घंटे में 154 लोगों ने दम भी तोड़ा है. ऐसे में अब मृतकों की संख्या भी बढ़कर 4021 पहुंच गई है. वहीं राहत वाली खबर यह है कि 57 हजार 721 लोग ठीक भी हो चुके हैं. 

भारत दुनिया में कोरोन संक्रमित देशों की सूची में टॉप-10 में शामिल:
बता दें कि देश में कोरोना वायरस का पहला मामला 30 जनवरी को सामने आया था. तब से अब तक करीब 138,845 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते भारत दुनिया में कोरोन संक्रमित देशों की सूची में टॉप-10 में शामिल हो गया है. इस सूची में अमेरिका टॉप पर है. इसके बाद ब्राजील, रूस, स्पेन, ब्रिटेन, इटली, फ्रांस, जर्मनी और तुर्की हैं.

आज से शुरू हुआ नौतपा, आसमान से जमकर बरसेगी आग 

देश में लॉकडाउन लागू किए आज दो महीने पूरे:
वहीं देश में लॉकडाउन लागू किए आज दो महीने पूरे हो गए हैं. पीएम मोदी ने 24 मार्च को पहले लॉकडाउन की घोषणा की थी, जो कि 25 मार्च से लागू हुआ था. फिलहाल लॉकडाउन का चौथा चरण कुछ रियायतों के साथ 31 मई तक जारी रहेगी. 


 

आज से शुरू हुआ नौतपा, आसमान से जमकर बरसेगी आग

 आज से शुरू हुआ नौतपा, आसमान से जमकर बरसेगी आग

जयपुर: हिंदू कैलेंडर के अनुसार हर साल ज्येष्ठ महीने में सूर्य रोहिणी नक्षत्र में आ जाता है. जिससे गर्मी बढ़ने लगती है.  इस बार ज्येष्ठ महीने के शुक्लपक्ष की तृतीया तिथि यानी 25 मई को सूर्य कृतिका से रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेगा और 8 जून तक इसी नक्षत्र में रहेगा. सूर्य के नक्षत्र बदलते ही नौतपा शुरू हो जाएगा. यानी 9 दिनों तक तेज गर्मी रहेगी. इसकी वजह यह है कि इस दौरान सूर्य की लंबवत किरणें धरती पर पड़ती हैं. लेकिन इस बार शुक्र तारा अस्त होने से इसका प्रभाव कम रहेगा. 

300 साल में पहली बार ईद पर नहीं हुई सामूहिक नमाज, ईदगाह और जामा मस्जिद में 5-5 नमाजियों ने अदा की नमाज 

नौतपा के दौरान महिलाएं हाथ पैरों में मेहंदी लगाती हैं:
परंरपरा के अनुसार नौतपा के दौरान महिलाएं हाथ पैरों में मेहंदी लगाती हैं. क्योंकि मेहंदी की तासीर ठंडी होने से तेज गर्मी से राहत मिलती है. इन दिनों में पानी खूब पिया जाता है और जल दान भी किया जाता है ताकि पानी की कमी से लोग बीमार न हो. इस तेज गर्मी से बचने के लिए दही, मक्खन और दूध का उपयोग ज्यादा किया जाता है. इसके साथ ही नारियल पानी और ठंडक देने वाली दूसरी और भी चीजें खाई जाती हैं. 

25 मई से 2 जून तक रहेगा नौतपा: 
25 मई को सुबह करीब 8.10 पर सूर्यदेव रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेंगे. सूर्य जब रोहिणी नक्षत्र में होकर वृष राशि के 10 से 20 अंश तक रहता है तब नौतपा होता है. इस नक्षत्र में सूर्य करीब 15 दिनों तक रहेगा. लेकिन शुरुआती 9 दिनों में गर्मी बहुत बढ़ जाती है.  इसलिए इन 9 दिनों के समय को ही नौतपा कहा जाता है. ये समय 25 मई से 2 जून तक रहेगा. इसके अलावा ज्येष्ठ महीने के शुक्लपक्ष में चंद्रमा जब आर्द्रा से स्वाती तक 10 नक्षत्रों में रहता हो तो नौतपा होता है. रोहिणी के दौरान बारिश हो जाती है तो इसे रोहिणी नक्षत्र का गलना भी कहा जाता है. 

आखिरी दो दिन तेज हवा-आंधी चलने व बारिश होने के भी योग:
इस बार नौतपा के दौरान 31 मई को शुक्र ग्रह वक्री होकर अपनी ही राशि में अस्त हो जाएगा और सूर्य के साथ रहेगा. रोहिणी नक्षत्र का का स्वामी ग्रह चंद्रमा है. सूर्य के साथ शुक्र भी वृषभ राशि में रहेगा. शुक्र रस प्रधान ग्रह है, इसलिए वह गर्मी से राहत भी दिलाएगा. इसलिए देश के कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी और कुछ जगहों पर तेज हवा और आंधी-तूफान के साथ बारीश होने की संभावना ज्यादा है. नौतपा के आखिरी दो दिन तेज हवा-आंधी चलने व बारिश होने के भी योग बन रहे हैं. वराहमिहिर के बृहत्संहिता ग्रंथ में ने बताया है कि ग्रहों के अस्त होने से मौसम में बदलाव होता है. 

SHO की आत्महत्या का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, CBI जांच की मांग लेकर जनहित याचिका दायर 

देश के रेगिस्तानी और पर्वतीय इलाकों में ज्यादा बारीश की संभावना:
इस साल संवत्सर के राजा बुध है और रोहिणी का निवास संधि में है. इससे बारीश तो समय पर आ जाएगी लेकिन कहीं पर ज्यादा तो कहीं पर कम बारिश हो सकती है. इस बार देश के रेगिस्तानी और पर्वतीय इलाकों में ज्यादा बारीश हो सकती है. बारीश के कारण अनाज और धान की पैदावार अच्छी रहेगी. धान्य, दूध व पेय पदार्थों में तेजी रहेगी. जौ, गेहूं, राई, सरसों, चना, बाजरा, मूंग की पैदावार आशानुकूल होगी. 

आज शुरू हुईं घरेलू उड़ान सेवा, इन दो राज्यों को छोड़कर पूरे देश में संचालन बहाल

आज शुरू हुईं घरेलू उड़ान सेवा, इन दो राज्यों को छोड़कर पूरे देश में संचालन बहाल

नई दिल्ली: 25 मार्च से लागू देशव्यापी लॉकडाउन के करीब दो महीने तक उड़ानें निलंबित रहने के बाद घरेलू विमानों का संचालन देशभर में आज से बहाल हो गया है. दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 4 बजकर 45 मिनट पर पुणे के लिए सबसे पहली फ्लाइट रवाना हुई. ये फ्लाइट इंडिगो की थी. लेकिन अभी भी आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में हवाई सेवा की शुरुआत नहीं होने वाली है. इस दौरान यात्रियों में उत्साह के साथ कोरोना का डर भी देखने को मिला.

गर्मी की दस्तक के साथ ही पेयजल की किल्लत, नल के पास दिनभर बैठने के बाद एक घड़ा पानी होता है नसीब 

दिल्ली एयरपोर्ट पर रविवार देर रात से यात्री उमड़ने लगे:
दिल्ली एयरपोर्ट पर रविवार देर रात से यात्री उमड़ने लगे. सोशल डिस्टनसिंग के लिए एयरपोर्ट सिक्योरिटी तैनात की गई है. लगातार टर्मिनल के बाहर जो यात्रियों को सोशल डिस्टनसिंग करने की सलाह देते हुए नज़र आये. एयरपोर्ट पर लगातार अनाउंसमेन्ट होती हुई भी नज़र आई. उसी के साथ साथ सभी यात्री मास्क पहने हुए दिखे.

राजकीय सम्मान के साथ हुआ SHO विष्णुदत्त विश्नोई का अंतिम संस्कार, नम आंखों से हजारों लोगों ने दी अंतिम विदाई

आंध्र प्रदेश में 26 और पश्चिम बंगाल में 28 मई से होगी शुरुआत: 
घरेलू विमान सेवा की शुरुआत को लेकर नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर जानकारी दी थी कि देश में नागरिक उड्डयन कार्यों की सिफारिश करने के लिए विभिन्न राज्यों के साथ बातचीत का एक लंबा दिन रहा. आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर सोमवार से पूरे देश में घरेलू उड़ानों की शुरुआत होगी. उन्होंने बताया कि सोमवार से मुंबई और राज्य के अन्य हवाई अड्डों से अनुमोदित और अनुसूची के अनुसार मुंबई से सीमित उड़ानें होंगी. वहीं आंध्र प्रदेश में 26 मई और पश्चिम बंगाल में 28 मई से घरेलू उड़ानों की शुरुआत की जाएगी.

मौसम विभाग ने राजस्थान में लू चलने का अलर्ट किया जारी, हरियाणा और दिल्ली में भीषण गर्मी की संभावना 

मौसम विभाग ने राजस्थान में लू चलने का अलर्ट किया जारी, हरियाणा और दिल्ली में भीषण गर्मी की संभावना 

नई दिल्ली: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार को राजस्थान में भीषण गर्मी की वजह से लू चलने की चेतावनी दी है. केवल राजस्थान ही नहीं बल्कि पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और चंडीगढ़ में भी भीषण गर्मी की वजह से लू चलने की संभावना है. 

2 दिन भीषण गर्मी रहने का अनुमान:
जानकारी के मुताबिक अगले 4-5 दिन तक राजस्थान समेत पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में भीषण गर्मी के कारण लू चलने का अनुमान है. वहीं तटीय आंध्र प्रदेश समेत यनम और तेलंगाना में अगले तीन दिन तक भीषण गर्मी के कारण लू चलने की संभावना है और मराठवाड़ा और रायलसीमा में अगले 2 दिन भीषण गर्मी रहने का अनुमान है. 

एक पिता की अनूठी पहल, प्रवासी बेटे के आइसोलेशन के लिए बना दिया सर्व सुविधाओं युक्त ढाई दिन का झोपड़ा

राजस्थान के इन जिलों में चलेंगी लू:
राजस्थान के कई जिलों में मौसम विभाग ने रविवार को लू चलने का अलर्ट जारी किया है. राजस्थान के बीकानेर, चूरू, कोटा, बारां, बूंदी, झालावाड़, धौलपुर, करौली, झुंझुनूं,सवाई माधोपुर, बाड़मेर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, श्रीगंगानगर, नागौर, जोधपुर में रविवार को मौसम विभाग ने लू चलने का अलर्ट जारी किया है. 

SHO विष्णुदत्त विश्नोई आत्महत्या प्रकरण, DGP ने प्रारम्भिक तथ्यात्मक रिपोर्ट मुख्यमंत्री गहलोत को दी 

COVID-19: देश में 24 घंटे में 6767 नए केस और 140 मरीजों की मौत, कुल मरीजों की संख्या हुई 1 लाख 31 हजार 868

COVID-19: देश में 24 घंटे में 6767 नए केस और 140 मरीजों की मौत, कुल मरीजों की संख्या हुई 1 लाख 31 हजार 868

नई दिल्ली: देश में तेजी से कोरोना का ग्राफ बढ़ रहा है. कोरोना वायरस के मामले बढ़कर  1 लाख 31 हजार 868 पहुंच गए है. वहीं अब तक कोरोना की चपेट में आने से 3 हजार 867 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में कोरोना के 73 हजार 560 कुल एक्टिव केस है. कोरोना के अब तक 54,441 मरीज ठीक हो गए है. 24 घंटे में कोरोना के 6,767 नए मामले सामने आये है. जबकि 140 मरीजों की मौत हो गई है. 

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मौत:
अगर बात करें महाराष्ट्र की. तो यहां पर कोरोना के मामले सबसे ज्यादा है. यहां कोविड-19 के कुल 47 हजार 190 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं, जो किसी भी राज्य से कई गुना ज्यादा है. इनमें से 13 हजार 404 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है. महाराष्ट्र में अब तक 1577 लोगों की मौत हो चुकी है.  

दूसरे नंबर पर तमिलनाडु:
कोरोना वायरस ने देश के महाराष्ट्र राज्य के बाद तमिलनाडु में कहर बरपाया है. तमिलनाडु में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 15512 हो चुकी है. यहां इस महामारी से 103 की मौत भी हो चुकी है और 7491 पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 52 नये पॉजिटिव केस आए सामने, सर्वाधिक 18-18 केस अजमेर और जयपुर में आए सामने

राजधानी दिल्ली में 12 हजार से ज्यादा मामले:
राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार बढ़ते ही जा रही है. दिल्ली में कोरोना वायरस के अब तक 12 हजार 910 मामले आ चुके हैं. कोविड-19 महामारी से जहां 231 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 6267 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं. 

गुजरात में 13 हजार से ज्यादा मामले:
महाराष्ट्र और तमिलनाडु के बाद गुजरात में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले है. गुजरात में कोरोना के 13 हजार 664 मामले अब तक आए हैं, जिनमें 829 लोगों की मौत हो चुकी है और 6169 लोग या तो स्वस्थ हो चुके हैं या फिर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.  

-मध्य प्रदेश में 6371 मरीज, अब तक 281 लोगों की मौत
-आंध्र प्रदेश में 2757 कुल केस, 1809 का इलाज के बाद छुट्टी, 56 मरीज की मौत 
-बिहार में 2380 मरीज, अब तक 11 लोगों की मौत, 653 लोग ठीक हुए.
-उत्तर प्रदेश में कुल 6017 केस, 3406 लोग पूरी तरह से स्वस्थ, 155 लोगों की मौत
-राजस्थान में कुल 6742 केस, 160 लोगों की मौत, 3786 लोग ठीक हुए
-पश्चिम बंगाल में 3459 मामले, 269 लोगों की मौत, 1281 लोग ठीक हुए 

जम्मू कश्मीर और केरल में आज मनाई जा रही है ईद, बाकी जगह सोमवार को मनाया जाएगा ये त्योहार

जम्मू कश्मीर और केरल में आज मनाई जा रही है ईद, बाकी जगह सोमवार को मनाया जाएगा ये त्योहार

जम्मू कश्मीर और केरल में आज मनाई जा रही है ईद, बाकी जगह सोमवार को मनाया जाएगा ये त्योहार

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर और केरल में आज ईद मनाई जा रही है. लोगों ने घरों में ही ईद की नमाज अदा की. वहीं केरल में भी आज ईद मनाई जा रही है. मालापुरम में लोगों ने ईद की नमाज घर पर ही अदा की. वहीं जम्मू-कश्मीर से अलग हुए लद्दाख में शनिवार को ईद मनाई गई. लद्दाख, करगिल क्षेत्र में शुक्रवार को चांद देखा गया था, इसलिए लद्दाख में 23 मई को ईद-उल-फितर मनाया गया.

देश के अन्य हिस्सों में कल मनाई जाएगी ईद:
जबकि देशभर के अन्य हिस्से में ईद सोमवार को मनाई जाएगी. दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी और फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ्ती मुकर्रम ने शनिवार देर शाम को ऐलान किया कि देशभर में कहीं से चांद दिखने की इत्तला नहीं हुई है लिहाजा ईद-उल-फितर सोमवार को होगी.

उत्तर प्रदेश में कल से 50 प्रतिशत स्टाफ के साथ खुलेंगे सरकारी दफ्तर, सुबह 9 से शाम 7 बजे तक 3 शिफ्ट में होगा काम 

सोशल डिस्टेंसिंग की पालना:
इस बार कोरोना संकट के बीच पूरे देशभर में ईद मनाई जाएगी, जिसमें लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए घर में ही ईद की नमाज अदा करनी पड़ेगी. दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम ने कोरोना वायरस और लॉकडाउन को लेकर लोगों से अपील की है कि बेहद सादगी के साथ घरों में रहकर ईद मनाएं. नमाज भी घर में ही अदा करें. लॉकडाउन में मस्जिदों में आम लोगों के जाने पर पाबंदी है, इसलिए एहतियात बरतें.आपको बता दें कि ईद की नमाज जमात में अदा की जाती है. हालांकि इस बार कोरोना संकट को देखते हुए सभी धार्मिक स्थल बंद हैं, इसलिए मस्जिद में नमाज अदा करने की इजाजत नहीं है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 52 नये पॉजिटिव केस आए सामने, सर्वाधिक 18-18 केस अजमेर और जयपुर में आए सामने

Open Covid-19