अंता काली सिंध नदी के टापू पर फंसे 19 लोगों को निकाला बाहर, 22 घंटे से फंसे थे सभी लोग

काली सिंध नदी के टापू पर फंसे 19 लोगों को निकाला बाहर, 22 घंटे से फंसे थे सभी लोग

काली सिंध नदी के टापू पर फंसे 19 लोगों को निकाला बाहर, 22 घंटे से फंसे थे सभी लोग

अंता(बारां): प्रदेश के बारां जिले के अंता में काली सिंध नदी के बीच टापू पर बने खेत पर मजदूरी करने गए डेढ दर्जन मजदूर काली सिंध नदी में तेज बहाव आ जाने की वजह से फंस गए, जिन्हें शुक्रवार को एसडीआरएफ की टीम द्वारा रेस्क्यू करके 20 घण्टे बाद सुरक्षित निकाला गया. अंता के नागदा के पास काली सिंध नदी के बीचों बीच एक बड़ा सा टापू बना हुआ है, जिस पर खेती की जाती है. गुरुवार को सवेरे 10 बजे लगभग 19 मजदूर खेत पर कार्य करने गए थे. 

मजदूरों ने पूरी रात टापू पर गुजारी:
परन्तु सायं को काली सिंध नदी में तेज बहाव आ जाने की वजह से सभी मजदूर टापू पर फंस गए. ऐसे में मजदूरों ने पूरी रात टापू पर बने खेत पर ही गुजारी.  सुबह इसकी सूचना गांव वालों द्वारा प्रशासन को दी गई. एसडीएम रजत विजयवर्गीय और थानाधिकारी उमेश मेनारिया ने घटना स्थल पर पहुंच कर एसडीआरएफ की टीम को रेस्क्यू के लिए बुलाया गया. 

SDRF टीम ने सभी को निकाला सुरक्षित बाहर:
SDRF टीम ने घटना स्थल पर पहुंच कर सभी मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाला. मजदूरों ने टापू से बाहर आने के बाद राहत की सांस ली, वहीं दूसरी ओर काली सिंध नदी के टापू में मजदूरों के फंसे होने की सूचना के बाद नदी पर लोगों की की भीड़ जमा हो गई. वहीं एसडीओ रजत विजयवर्गीय ,थानाधिकारी उमेश मेनारिया व नायाब तहसीलदार भी घटना स्थल पर मौजूद रहे. 

और पढ़ें