जयपुर 237 चिकित्सकों के नियुक्ति आदेश निरस्त, हाल ही में दी गई थी 737 चिकित्सकों को नियुक्ति

237 चिकित्सकों के नियुक्ति आदेश निरस्त, हाल ही में दी गई थी 737 चिकित्सकों को नियुक्ति

237 चिकित्सकों के नियुक्ति आदेश निरस्त, हाल ही में दी गई थी 737 चिकित्सकों को नियुक्ति

जयपुर: कोरोना महामारी में चिकित्सा अधिकारियों की नियुक्ति के बाद अपने कार्य क्षेत्र में ज्वॉइन नहीं करने के मामले को गंभीर मानते हुए चिकित्सा विभाग ने 237 चिकित्सा अधिकारियों की नियुक्ति के आदेश निरस्त कर दिए. चिकित्सा अधिकारियों की नियुक्ति आदेश निरस्त कर प्रतीक्षा सूची के आधार पर 237 चिकित्सकों को चिकित्सा अधिकारी के पद पर नियुक्ति दे दी है.

राजस्थान में प्रवासियों ने बढ़ाया कोरोना का खतरा ! एक सप्ताह से आ रहे रोजाना औसतन 100 पॉजिटिव, अब तक 818 पॉजिटिव

737 पदों के लिए आयोजित हुई थी परीक्षा:
दरअसल 19 जनवरी को चिकित्सा अधिकारी के 737 पदों के लिए परीक्षा आयोजित की गई थी. परीक्षा में 3547 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था. परीक्षा में 3430 अभ्यर्थी शामिल हुए. 28 जनवरी को परीक्षा का परिणाम घोषित हुआ था. इसके बाद फरवरी माह में अभ्यर्थियों के दस्तावेजों का सत्यापन किया गया. इनमें 735 अभ्यर्थियों का चयन किया गया। इसके बाद 237 चिकित्सा अधिकारियों को 25 मार्च को प्रदेश के विभिन्न जिलों में नियुक्ति दी गई. चिकित्सा विभाग के अनुसार चिकित्सा अधिकारियों को कार्यग्रहण करने के लिए चार बार एक्सटेंशन दिया गया.

237 चिकित्सकों ने अभी तक नहीं दी ज्वाइनिंग:
लेकिन किसी ने भी अपने कार्य क्षेत्र में ज्वॉइन नहीं किया. विभागीय अधिकारियों का कहना है कि कोरोना महामारी में जहां प्रदेश में चिकित्सकों की कमी को देखते हुए चिकित्सकों की भर्ती की जा रही हैं, वहीं चिकित्सा अधिकारियों का ज्वॉइन नहीं करना गंभीर बात है. इसलिए उनकी नियुक्ति के आदेश निरस्त कर दिए गए हैं. बताया जा रहा है कि अधिकांश अभ्यर्थियों का पीजी में चयन हो गया था. इसलिए पीजी पूरी करने के लिए अभ्यर्थियों ने ज्वॉइन नहीं किया.

जयपुर डेयरी की कर्फ्यू ग्रस्त इलाकों में दूध की डोर टू डोर सप्लाई, मई माह में सरस के दूध और अन्य उत्पादों की बिक्री में बढ़ोतरी दर्ज

और पढ़ें