जयपुर आय से अधिक संपत्ति मामला: 3 अधिकारियों के आवास की तलाशी, मिली करोड़ों रुपए की चल-अचल सम्पतियां

आय से अधिक संपत्ति मामला: 3 अधिकारियों के आवास की तलाशी, मिली करोड़ों रुपए की चल-अचल सम्पतियां

जयपुर: आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में एसीबी में दर्ज प्रकरणों पर शुक्रवार को जो तीन अधिकारियों के 10 ठिकानों पर रेड मारी थी उसमें बड़े स्तर पर चल-अचल सम्पत्ति उजागर हुई है. एसीबी ने ये रेड अजमेर विद्युत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता गिरीश कुमार जोशी, बूंदी में सहायक विकास अधिकारी पद पर तैनात चिरंजीलाल और रीको जयपुर में सीनियर डी.जी.एम. (सिविल) पद पर तैनात सतीश कुमार गुप्ता के ठिकानों पर डाली थी. इन सभी के यहां से लगभग 53 करोड़ रुपए मूल्य से ज्यादा की सम्पत्ति के दस्तावेज बरामद हुए है.

गिरीश कुमार जोशी के 4 स्थानों पर तलाशी:
एसीबी के महानिदेशक बीएल सोनी ने बताया कि अजमेर विद्युत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता गिरीश कुमार जोशी के मामले में उनके 4 स्थानों पर तलाशी की. जिसमें श्योभागपुरा, उदयपुर में व्यावसायिक भूखण्ड, ग्राम कुण्डाल में 3 बीघा 14 बिस्वा जमीन, उदयपुर के ग्राम पावडिया बडगांव में 9.10 बिस्वा कृषि भूमि, आर्शीवाद नगर उदयपुर में 2600 वर्गफीट के दो भूखण्ड, ग्राम सौभागपुरा में 6896 के दो भूखण्ड, 50 लाख रुपए मूल्य की बेनामी कृषि भूमि के एग्रीमेंट पत्र, ग्राम इसवाल में 3.14 हैक्टयर कृषि भूमि, नाथद्वारा में 1 मकान, एसबीआई, यूनियन बैंक, आईसीआईसीआई सहकारी बैंक एवं डाक घर में कुल 23 बैंक खातें, जिनमें लगभग 25 लाख रूपये जमा राशि, नगद राशि 4 लाख 13 हजार रूपए और 315 ग्राम सोने के ज्वैलरी मिली है. उन्होने बताया कि पूरी सम्पत्ति का बाजार मूल्य 20 करोड़ रुपए अनुमानित है.

सीनियर डीजीएम के ठिकानों से क्या मिला:
महानिदेशक ने बताया कि रीको जयपुर में सीनियर डीजीएम के ठिकानों पर मारे छापे के दौरान हमे जयपुर के अलावा उत्तर प्रदेश के वाराणसी में फ्लैट खरीद के भी दस्तावेज मिले है. उन्हेाने बताया कि गुप्ता के पास अलवर में 20 बीघा कृषि भूमि के 4 मकान और 21 दुकानो के कागजात मिले है. वहीं जयपुर में 15 आवासीय भूखण्डों के कागजात, 1 फ्लेट व 1 मकान के कागजात और उत्तर प्रदेश के वाराणसी 1 फ्लेट के कागजात मिले है. इन सबके अलावा विभिन्न बैकों में 20 खाते, 1 किलो 400 ग्राम सोने और 3 किलो चांदी की ज्वैलरी मिली है, जो अनुमानित 80 लाख रुपए की है. उन्होने बताया कि इस तरह पूरे सम्पत्तियों की अनुमानित बाजार कीमत 20 करोड़ रुपए से ज्यादा है.

सहायक विकास अधिकारी के पास से क्या मिला:
पंचायत समिति केशोरायपाटन बूंदी में तैनात सहायक विकास अधिकारी के 4 ठिकानों की तलाशी में बड़ी मात्रा में चल-अचल सम्पत्ति मिली है. इसमें ज्ञान सरोवर बूंदी रोड कोटा में एक भूखण्ड, लैण्डमार्क सिटी कोटा में भूखण्ड, पाश्र्वनाथ एन्क्लेव, नान्ता कोटा में एक फ्लैट, कानाकुंज ग्राम बालिता में दो भूखण्ड, पत्नी के नाम से जमीन खरीद के दस्तावेज, बूंदी के लाखेरी में मकान और 5 बीघा कृषि भूमि के दस्तावेज के अलावा विभिन्न बैंक खातों में लाखों रुपए की नकदी, दो चौपहिया वाहन, 10 लाख रुपए से अधिक मूल्य की ज्वैलरी बरामद हुई है. इन सभी का बाजार मूल्य 13 करोड रुपए से अधिक है.फिलहाल एसीबी अब पूरे मामले की जांच कर रही है और एसीबी जल्द ही ईडी को भी इस पुरे मामले की जानकारी देगी. 

और पढ़ें