VIDEO: मिशन 25 के लिए कांग्रेस प्रोजेक्ट शक्ति के तहत मैदान में उतारेगी 40 हजार कार्यकर्ता

Naresh Sharma Published Date 2019/02/10 10:03

जयपुर (नरेश शर्मा)। लोकसभा चुनाव में मिशन 25 की जंग जीतने के लिए कांग्रेस ने अब पूरी तरह कमर कस ली है। विधानसभा चुनाव में मिली जीत के सिलसिले को बदस्तूर जारी रखने के लिए कांग्रेस तमाम रणनीति पर काम कर रही है और अब करीब 40 हजार कार्यकर्ताओं को प्रोजेक्ट शक्ति के तहत मैदान में उतार रही है।

राजस्थान में सरकार बदलने में सफलता हासिल करने के बाद अब कांग्रेस लोकसभा में भी पिछली हार का आंकड़ा बदलने में जुट गई है। कांग्रेस लोकसभा चुनाव में जीत के लिए कोई कौर-कसर नहीं छोड़ना चाहती है। इसके लिए कांग्रेस ने प्रशिक्षण शिविरों की शुरुआत की है और  कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने के गुर भी सीखा रही है। इसके तहत 11 और 12 फरवरी को जयपुर में दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र बाड़ा पदमपुरा पर शक्ति प्रोजेक्ट कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जाएगा। इसमें  करीब 200 प्रमुख कार्यकर्ताओं को शक्ति प्रोजेक्ट को लेकर प्रशिक्षित किया जाएगा।  कार्यकर्ताओं का शिविर पूरी तरह आवासीय रहेगा, यानी यही रहना, यही खाना और यही सोना।

कांग्रेस अब भाजपा को भाजपा के अंदाज में ही टक्कर देने में जुटी है। अब तक भाजपा में ही आवासीय शिविर लगते आये है। लेकिन अब कांग्रेस ने भी यह तरीका अपना लिया है। मिशन लोकसभा सामने है। बूथ स्तर तक की तैयारी की जा रही है। शिविर में यह भी सिखाया जाएगा कि मतदान के दिन कार्यकर्त्ताओ को क्या क्या करना है। जब तक वोटिंग मशीन मतगणना स्थल तक नहीं पहुँच जाए तब तक पीछा नहीं छोड़ना है। घर घर हाथ के निशान भी बांटे जाएंगे और यह भी बताया जाएगा कि भाजपा व कांग्रेस की नीति रीति में क्या अंतर है।

जयपुर प्रशिक्षण लेने के बाद यह कार्यकर्ता लोकसभा और विधानसभा वार प्रशिक्षण शिविरों की 15 फरवरी से शुरुआत करेंगे, जो पूरे राजस्थान में 25 फरवरी तक कर लिए जाएंगे. इन शिविरों में प्रत्येक बूथ से कम से कम एक कार्यकर्ता को प्रशिक्षित किया जाएगा । इस कार्यक्रम के लिए प्रदेश स्तर पर एआईसीसी के संयुक्त सचिव  शशांक शुक्ला, प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष  मुमताज मसीह, संगठन महासचिव  महेश शर्मा, सचिव  सुशील आसोपा एवं डाटा एनालिटिक्स विभाग के प्रदेश संयोजक  विशाल मीणा सम्पूर्ण कार्यक्रम की मॉनिटरिंग करेंगे तथा प्रदेश कांग्रेस द्वारा नियुक्त लोकसभा क्षेत्रवार प्रभारी प्रत्येक लोकसभा में इन कार्यक्रमों के लिए समन्वय करेंगे। 

भाजपा व संघ की तर्ज पर हो रहे इन प्रशिक्षण शिविर में यह भी सिखाया जाएगा कि भाजपा व क्षेतीय दल लोकतंत्र के लिए किस तरह नुकसान वाले है। देश को आजदी दिलाने में कांग्रेस की क्या भूमिका रही और आजदी के बाद कांग्रेस काल मे देश मे किस तरह विकास के आयाम स्थापित हुए इसका ककहरा भी शिविर में पढ़ाया जाएगा। देखना यह है कि शक्तिकेन्द्र प्रोजेक्ट के तहत तैयार कांग्रेस के योद्धा लोकसभा चुनाव के दिन कितनी ततपरता से मतदाताओं को खींच कर ला पाते है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in