Live News »

प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 50 RAS अधिकारियों के तबादले, कार्मिक विभाग ने जारी किए आदेश

जयपुर: प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया गया है. 50 RAS अधिकारियों के तबादले किए गए है. कार्मिक विभाग ने आदेश जारी किए है. 
प्रेम सिंह चारण,अतिरिक्त आयुक्त, पंचायतीराज, जयपुर 
भवानी सिंह पालावत, अतिरिक्त निदेशक, चिकित्सा शिक्षा
हरजीलाल अटल, सचिव, राज.पाठ्यपुस्तक मंडल, जयपुर
रामजीवन मीणा, CEO,जिला परिषद, झालावाड़, 

सुनील शर्मा, संयुक्त शासन सचिव, चिकित्सा, शिक्षा
पूनम प्रसाद सागर, सचिव, मदरसा बोर्ड, जयपुर
जयनारायण मीणा, संयुक्त शासन सचिव, राजस्व विभाग, 
वृद्धिचंद गर्ग, अतिरिक्त आयुक्त, TAD,उदयपुर

Corona in Rajasthan: 31 मार्च तक सभी पर्यटक स्थल और स्मारक बंद, 5 मेले किए रद्द 

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 11 मौत, 1171 नए केस, पाली में मिले सर्वाधिक 180 पॉजिटिव मरीज

 Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 11 मौत, 1171 नए केस, पाली में मिले सर्वाधिक 180 पॉजिटिव मरीज

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटे में 11 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 1171 नए पॉजिटिव केस सामने आये हैं. बारां में 3, बीकानेर में 1, जयपुर में 2, कोटा में 3, प्रतापगढ़ और उदयपुर में एक-एक मरीज की मौत हो गई. प्रदेश में मौत का आंकड़ा 778 पहुंच गया. वहीं कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 51 हजार 328 पहुंच गई हैं.

VIDEO: बसपा वाले 6 विधायकों को लेकर बोले कल्ला, कोर्ट से खिलाफ फैसला आने पर भी रणनीति तैयार

पाली में मिले 180 नए पॉजिटिव मरीज:
प्रदेश के पाली जिले में सर्वाधिक 180 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले. अजमेर में 93, अलवर में 91, बांसवाड़ा में 34, बाड़मेर में 27, भरतपुर में 16, भीलवाड़ा में 63, बीकानेर में 91, बूंदी में 3, चित्तौड़गढ़ में 1, दौसा में 4, धौलपुर में 15, डूंगरपुर में 22, हनुमानगढ़ में 1, जयपुर में 103, जैसलमेर में 3, झालावाड़ में 23, झुंझुनूं में 19,जोधपुर में 164, कोटा में 85, नागौर में 52, सीकर में 26,टोंक में 8,उदयपुर में 47 पॉजिटिव मिले हैं.

पॉजिटिव से नेगेटिव हुए 37 हजार 163 लोग:
प्रदेश में 37 हजार 163 लोग इलाज के बाद पॉजिटिव से नेगेटिव हुए हैं. वहीं इलाज के बाद कुल 34 हजार 576 लोग अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए हैं. वहीं बात करें एक्टिव मरीजों की तो, अस्पताल में उपचाररत कुल 13 हजार 387 मरीज हैं. कुल कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 8 हजार 307 पहुंच गई हैं. 

VIDEO: मुख्यमंत्री गहलोत के बड़े फैसले, करापवंचन के प्रकरणों के लिए राज्य स्तर पर विशेष न्यायालय होगा गठित 

VIDEO: मुख्यमंत्री गहलोत के बड़े फैसले, करापवंचन के प्रकरणों के लिए राज्य स्तर पर विशेष न्यायालय होगा गठित 

जयपुर: प्रदेश में एक तरफ कोरोना और सियासी संकट है, तो दूसरे तरफ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जयपुर में बैठकर राजकाज निपटा रहे हैं. मुख्यमंत्री गहलोत ने शनिवार को चार अहमों फाइलों का निस्तारण करते हुए जनता से जुड़े कामों को हरी झंडी दी. सियासी संकट का असर मानो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर बिलकुल नजर नहीं आ रहा. पिछले तीन दिनों से मुख्यमंत्री गहलोत एक के बाद एक बड़े फैसले ले रहे हैं. शुक्रवार को सीएम गहलोत ने भर्तियों की अहम फाइले निपटाई थी, तो शनिवार को चार बड़े फैसले किए.

फैसला नंबर एक
-करापवंचन के प्रकरणों के लिए विशेष न्यायालय गठित होगा
-विभिन्न कम्पनियों के डीमर्जर के दस्तावेजों और
-ऋण दस्तावेजों आदि में कर चोरी रोकने का प्रयास
-जयपुर में  DIG (मुद्रांक) करापवंचन का विशेष न्यायालय गठित होगा

VIDEO: बसपा वाले 6 विधायकों को लेकर बोले कल्ला, कोर्ट से खिलाफ फैसला आने पर भी रणनीति तैयार

फैसला नंबर दो
-राज्य एवं जिला स्तरीय समितियों के गठन को मंजूरी
-एफपीओ से मिलेंगे किसानों को आय के अधिक अवसर
-2023-24 तक 10 हजार नए कृषक उत्पादक संगठन (एफपीओ) के गठन का लक्ष्य
-कृषि विभाग के ACS/प्रमुख सचिव/ सचिव की अध्यक्षता में गठित होगी कमेटी
-प्रदेश में खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों का होगा विस्तार
-राज्य एवं जिला स्तरीय समितियों के गठन को मंजूरी
-कलक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समितियों का गठन होगा

फैसला नंबर तीन
-नवसृजित एवं क्रमोन्नत 16 तहसीलों तथा उप-तहसीलों का मामला
-तहसीलदार एवं नायब तहसीलदारों को पंजीयन के अधिकार
-अधिसूचना के प्रारूप का अनुमोदन किया है
-इन क्षेत्रों के आमजन को दस्तावेजों के पंजीयन में सुविधा होगी
-नवसृजित तहसील अरथूना (बांसवाड़ा), रायपुर (झालावाड़), सेखाला (जोधपुर) तथा -उप-तहसील से क्रमोन्नत तहसील उच्चैन (भरतपुर), पावटा (जयपुर), डग (झालावाड़), कानोड़ (उदयपुर), देलवाड़ा (राजसमन्द) एवं नवसृजित उप-तहसील कनेरा (चित्तौड़गढ़), खेजरोली (जयपुर), सांकड़ा (जैसलमेर), कुड़ी भगतासनी (जोधपुर), मंडरेला (झुंझुनूं), राहूवास एवं भाण्डारेज (दौसा) तथा खेरली मंडी (अलवर) के
तहसीलदारों एवं नायब तहसीलदारों को पंजीयन का अधिकार प्रदान किया जाएगा.

युजवेंद्र चहल की धनश्री वर्मा संग शादी हुई पक्की, रोका सेरेमनी की फोटो ट्विटर पर की शेयर

फैसला नंबर चार
-नजूल सम्पत्तियों के लिए गठित समिति का मामला
-अब समिति में सहायक पुलिस आयुक्त सदस्य होंगे
-उप पुलिस अधीक्षक के स्थान पर ACP होंगे सदस्य
-सामान्य प्रशासन सम्पदा विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी
-जयपुर में पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली के कारण लिया फैसला
-पुलिस उप अधीक्षक का पदनाम सहायक पुलिस आयुक्त हो गया है

राज्य स्तरीय समिति गठित करने को दी मंजूरी:
इसी के साथ मुख्यमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम के तहत प्रदेश में अधिक से अधिक खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों की स्थापना एवं उनके विस्तार के लिए कृषि विभाग के प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय समिति गठित करने को मंजूरी दी है. उन्होंने जिला कलक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समितियाें के गठन के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है.  गौरतलब है कि आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम के तहत केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों की स्थापना एवं विस्तार के लिए योजना प्रारम्भ की है. इस योजना के तहत इन इकाइयों की स्थापना एवं विस्तार के लिए 10 लाख रूपए तक के अनुदान का प्रावधान है. केन्द्र प्रवर्तित इस योजना में केन्द्र और राज्य के बीच 60ः40 के अनुपात में वित्तीय भागीदारी का प्रावधान है. सम्पूर्ण देश में 2 लाख खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों की स्थापना तथा विस्तार के लिए 10 हजार करोड़ का प्रावधान किया गया है.

VIDEO: बसपा वाले 6 विधायकों को लेकर बोले कल्ला, कोर्ट से खिलाफ फैसला आने पर भी रणनीति तैयार

VIDEO: बसपा वाले 6 विधायकों को लेकर बोले कल्ला, कोर्ट से खिलाफ फैसला आने पर भी रणनीति तैयार

जयपुर: कांग्रेस सरकार के वरिष्ठ मंत्री डॉ बीडी कल्ला ने कहा है कि भाजपा अब तक पर्दे के पीछे रहकर प्रदेश में सरकार गिराने का षडयंत्र रच रही थी, लेकिन अब भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी से यह पार्टी पर्दे के सामने आ गई है. कल्ला ने कहा कि हमारी पास अभी 103 विधायकों का समर्थन है और बसपा वाले विधायकों के खिलाफ भी कोर्ट का फैसला आ जाए, तो उनके वोट कांग्रेस को ही मिलेंगे. बीडी कल्ला से खास बात की हमारे संवाददाता नरेश शर्मा ने....

युजवेंद्र चहल की धनश्री वर्मा संग शादी हुई पक्की, रोका सेरेमनी की फोटो ट्विटर पर की शेयर

चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा बोले, कोरोना से होने वाली मृत्युदर को शून्य पर लाने के किए जाएंगे प्रयास 

 चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा बोले, कोरोना से होने वाली मृत्युदर को शून्य पर लाने के किए जाएंगे प्रयास 

जयपुर: प्रदेश में कोरोना की मृत्युदर में तेजी से गिरावट आ रही है. जहां प्रदेश में एक समय 2.34 प्रतिशत मृत्युदर थी वहीं अब यह 1.5 फीसद तक आ चुकी है. ये कहना है चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा का. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना से होने वाली मृत्युदर को शून्य पर लाने के प्रयास किए जा रहे है.डॉ. शर्मा ने कहा कि प्रदेश में व्यापक स्तर पर जांचें की जा रही हैं, यही वजह है कि पॉजिटिव की संख्या में भी बढ़ोतरी देखी जा रही है. जितना जल्दी हम पॉजिटव की पहचान कर सकेंगे उतनी ही जल्द कोरोना के प्रसार को नियंत्रित कर सकेंगे. रघु शर्मा ने कहा कि विभाग ने प्रतिदिन 45 हजार से ज्यादा जांचें करने की क्षमता विकसित कर ली है. 

80 प्रतिशत तक मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए:
उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव से नेगेटिव होने का अनुपात भी अन्य प्रदेशों की तुलना में खासा बेहतर है. प्रदेश में 80 प्रतिशत तक मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए हैं. वर्तमान में 70 से 80 प्रतिशत मरीज समुचित उपचार के जरिए दुरुस्त होकर घर पहुंच रहे हैं.डॉ. शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना की रोकथाम के लिए पूरी तरह सजग और सतर्क है. सरकार द्वारा प्रदेश भर में कोरोना जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, जिससे लोगों में मास्क लगाने, भीड़ या समूह में ना जाने, बार-बार साबुन से हाथ धोने जैसी आदत के प्रति जागरूकता आई है. शहरों के अलावा अब गांवों में भी लोग सजगता दिखाने लगे हैं.

जैसलमेर में PCC चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा-BJP की बाड़ेबंदी ने साबित किया कि साजिश हुई थी

आरटीपीसीआर है खरा टेस्ट
रघु शर्मा ने कहा कि अब तक आरटीपीसीआर टेस्ट ही खरा साबित हुआ है. आईसीएमआर द्वारा सुझाए एंटीजन टेस्ट पॉजिटिव को नेगेटिव और नेगेटिव को पॉजिटिव बता रहा है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार केंद्र सरकार से एंटीजन किट की लगातार मांग कर ही है, लेकिन केंद्र सरकार द्वारा उपलब्ध नहीं कराए गए. उन्हें डर है कि कहीं एंटीजन टेस्ट का भी हाल रैपिड टेस्टिंग किट जैसा ना हो, जिसे राजस्थान द्वारा खारिज किए जाने पर पूरे देश में प्रतिबंध लगाना पड़ा था. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा विदेशी कंपनियों से कोरोना जांच की सुविधा लेना जान जोखिम में डालना जैसा है. 

जरूरतमंदों को लगाए जा रहे हैं निःशुल्क जीवनरक्षक इंजेक्शन:
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में 40 हजार की लागत के जीवनरक्षक इंजेक्शन (टोसिलीजूमेब व रेमडीसीविर) भी आमजन को मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल के जरिए निःशुल्क उपलब्ध कराए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जिन मरीजों को भी ये इंजेक्शन लगाए हैं, उनका परिणाण भी सुखद रहा है. उन्होंने कहा कि मरीजों के इलाज के लिए बजट की कोई कमी नहीं है. 

VIDEO: विधायक संयम लोढ़ा ने किया भाजपा पर पलटवार, कहा-चोर के घर चांदणा

VIDEO: विधायक संयम लोढ़ा ने किया भाजपा पर पलटवार, कहा-चोर के घर चांदणा

जयपुर: वरिष्ठ विधायक संयम लोढ़ा ने भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि भाजपा का अपना अपराध बोध उनको विवश कर रहा है कि वे अपने विधायकों को दूसरे प्रदेश में ले जाए. संयम ने सिरोही के एक बिल्डर की इसमें भूमिका बताई. संयम ने कहा कि हकीकत तो यह है कि अभी कोई भी विधायक चुनाव नहीं चाहता और भाजपा के भीतर काफी अंतरविरोध है. संयम लोढा से विभिन्न मुद्दों पर खास बात की हमारे संवाददाता नरेश शर्मा ने...

जैसलमेर में PCC चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा-BJP की बाड़ेबंदी ने साबित किया कि साजिश हुई थी

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी, BJP के करीब 20 विधायकों को भेजा गया गुजरात

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच अब कांग्रेस के बाद भाजपा ने भी अपने विधायकों की बाड़ाबंदी शुरू कर दी. भाजपा विधायकों की गुजरात में बाड़ेबंदी को लेकर लटेस्ट अपडेट सामने आया है. भाजपा विधायक पोरबंदर के होटल लॉर्ड्स से रवाना हो गए हैं. इनोवा कार से विधायक सोमनाथ के लिए रवाना हुए. ये सभी विधायक रात्रि विश्राम सोमनाथ में ही करेंगे. सोमनाथ के एक रिसोर्ट में विधायकों के लिए कमरे बुक है हैं. 

एक दूजे के होंगे राणा दग्गुबाती और मिहिका बजाज, आज शादी के बंधन में बंध जाएंगे दोनों 

कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी:
सूत्रों के मुताबिक भाजपा के करीब 20 विधायकों को गुजरात भेजा गया हैं. इन सभी विधायकों को पोरबंदर के फर्न रिसोर्ट में ठहराया जाएगा. पोरबंदर-सोमनाथ रोड, माधोपुर के पास फर्न रिसोर्ट है हैं. सूत्रों के मुताबिक विधायक समाराम गरासिया, जगसीराम कोली, पूराराम चौधरी, धर्मनारायण जोशी, फूलसिंह मीणा, अमृतलाल मीणा,प्रताप गमेती, बाबूलाल खराड़ी, गौतम मीणा, अर्जुनलाल जीनगर, गोपीचंद मीणा, कैलाश मीणा, हरेन्द्र निनामा, निर्मल कुमावत, जब्बर सिंह सांखला, गुरदीप शाहपिनी, धर्मेंद्र मोची, गोपाल शर्मा को गुजरात ले जाया गया.

भाजपा भी अलर्ट मोड पर:
पार्टी सूत्रों की माने तो 11 अगस्त को बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय को लेकर हाईकोर्ट का निर्णय आने की संभावना है. ऐसे में भाजपा भी अलर्ट मोड पर है. इसी के चलते आलाकमान के निर्देश पर करीब एक दर्जन विधायकों को गुजरात शिफ्ट किया गया है.  

बसपा के 6 विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका, हाईकोर्ट में लंबित मामले को सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग

बसपा के 6 विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका, हाईकोर्ट में लंबित मामले को सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग

जयपुर: राजस्थान सियासी संकट के बीच बसपा के 6 विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. हाईकोर्ट में लंबित मामले को सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग की गई हैं. राजस्थान हाईकोर्ट में 11 अगस्त को मामले की सुनवाई होगी. बसपा और भाजपा विधायक मदन दिलावर ने याचिका दायर कर रखी है. बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय को असंवैधानिक बताया था.

उत्तर प्रदेश में सप्ताह में दो दिन रहेगा लॉकडाउन, बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों की वजह से लिया निर्णय  

इससे पहले बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय प्रकरण में हाईकोर्ट से दोनों याचिकाओं के निस्तारण के आदेश दिए थे. इसके साथ ही एकलपीठ को स्टे एप्लीकेशन के निस्तारण के आदेश दिए थे. वहीं कोर्ट ने सभी 6 बसपा विधायकों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए थे.

नोटिस तामील कराने के दिए थे निर्देश:
कोर्ट ने जैसलमेर डीजे को 8 अगस्त तक सभी बसपा विधायकों को आदेश नोटिस तामील कराने के निर्देश दिए थे. जरूरत पड़ने पर कोर्ट ने एसपी की मदद लेने के भी निर्देश दिए है. नोटिस अखबारों के बाड़मेर-जैसलमेर के एडिशन में प्रकाशित होंगे. CJ इंद्रजीत महांति व जस्टिस प्रकाश गुप्ता की खंडपीठ ने फैसला सुनाया है. अब स्टे एप्लीकेशन पर एकलपीठ 11 अगस्त को सुनवाई करेगी. 

एक दूजे के होंगे राणा दग्गुबाती और मिहिका बजाज, आज शादी के बंधन में बंध जाएंगे दोनों 

VIDEO: आखिर कहां तक जा सकती कल्पना की उड़ान? इन दिनों वसुंधरा राजे के संदर्भ में चल रहा कुछ ऐसा ही...

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच भाजपा नेता भी सक्रिय हो गए हैं. पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने शुक्रवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर प्रदेश के राजनीतिक हालात पर चर्चा की. वहीं कल राजस्थान के समाचार पत्रों में प्रकाशित एक सनसनीखेज खबर ने राजनीतिक गलियारों में हलचल मचा दी. भाजपा के 46 विधायकों के साथ राजे द्वारा कोई नई पार्टी बनाने की खबर देखकर खुद वसुंधरा राजे सकते में आ गई. ऐसे में अब सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा हो रहा है कि कल्पना की उड़ान आखिर कहां तक जा सकती है? क्योंकि मौजूदा राजनीतिक हालात में कोई दूर-दूर तक ऐसा नहीं सोच सकता तो फिर आखिर किन लोगों ने मीडिया में ऐसी खबर 'प्लान्ट' करवाई.  

VIDEO: 2 बार की मुख्यमंत्री हैं वसुंधरा राजे उनकी सलाह की जरूरत हुई तो लेंगे- सतीश पूनिया  

यह खबर देख दिल्ली ने भी मैडम को किया बाकायदा फोन: 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह खबर देख दिल्ली ने बाकायदा मैडम को फोन किया और मैडम से इस खबर का सच जानना चाहा? इस पर राजे ने दो टूक जवाब देते हुए कहा कि आप खुद ही पता लगवा लीजिए. अब जानकार सूत्रों ने इस बात के संकेत दिए है कि आलाकमान इन खबरों की सच्चाई का पता लगा सकता है. आलाकमान के हाथ बहुत लंबे है और केवल 24 घंटे में ही अपनी एजेंसियों से आलाकमान सच्चाई का पता लगा सकता है. कुल मिलाकर भाजपा की यह अंदरूनी गुटबाजी कोई अच्छा संकेत नहीं है. 

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस के बाद अब BJP ने भी शुरू की बाड़ेबंदी, इन 12 विधायकों को अहमदाबाद भेजने की सूचना!  

मुख्यमंत्री पद के संभावित भाजपाई उम्मीदवारों में मची भागदौड़:
जानकारों की माने तो इस बढ़ती गुटबाजी का शायद एक कारण यह भी है कि राजस्थान में सीएम पद की कोई 'वैकेंसी' नहीं होने के बावजूद मुख्यमंत्री पद के संभावित भाजपाई उम्मीदवारों में भागदौड़ मची है. वहीं मुख्यमंत्री पद की इस भागदौड़ को देखकर खुद पायलट खेमा भी हैरान है. क्योंकि सीएम बनने की दौड़ में पायलट कैंप अभी स्वयं को सबसे आगे मान रहा है. 


 

Open Covid-19