थानागाजी गैंगरेप मामले में आज 500 पेज की चार्जशीट SC-ST कोर्ट में की गई पेश 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/18 04:25

अलवर: अलवर जिले के थानागाजी के गांव में घटित गैंग रेप के मामले में आज अलवर पुलिस ने चालान पेश कर दिया है और इसकी आगामी पेशी 22 मई निर्धारित की गई है. अलवर पुलिस अधीक्षक पारिस देशमुख ने बताया कि थानागाजी के बहुचर्चित गैंगरेप मामले में सभी छह आरोपियों के खिलाफ चालान पेश कर दिया गया है, जो करीब 500 पेज की है. 

चालान एससी एसटी कोर्ट में पेश:
दरअसल इन आरोपियों में से पांच आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा के तहत मुकदमा दर्ज किए गए थे. जिनमें रास्ता रोकना, अपहरण करना, मारपीट करना, छेड़छाड़ करना, निर्वस्त्र करना और जाति सूचक शब्द कहना, सामूहिक दुष्कर्म करना और डकैती के मुकदमें शामिल थे. इसके अलावा छठे आरोपी के खिलाफ आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया था. जिसके खिलाफ चालान पेश किया गया है उनमें हंसराज, इंद्राज, महेश, अशोक, मुकेश और छोटेलाल के नाम शामिल हैं. यह चालान एससी एसटी कोर्ट में पेश किया गया है. इन चालान के साथ सभी एविडेंस, टेक्निकल साक्ष्य, सीडीआर एफएसएल की रिपोर्ट तकनीकी विशेषज्ञ की रिकॉर्ड वॉयस टेस्ट आदि शामिल किए गए हैं. अभियुक्तों द्वारा पीड़िता को बार-बार फोन करने की रिकॉर्डिंग को भी एफएसएल जांच के लिए भेजा गया है, जिसकी भी शीघ्र रिपोर्ट आ जाएगी. 

केस ऑफिसर नियुक्त:
अलवर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अभियुक्त का वॉइस टेस्ट लिया गया है और एफएसएल टीम भेजा गया है, इसको भी सुनवाई में शामिल किया जाएगा. इसके अलावा इस मामले की एफएसएल रिपोर्ट भी तैयार होगी, रिपोर्ट आने के बाद अदालत में प्रस्तुत कर दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि इस मामले में केस ऑफिसर नियुक्त किया जाएगा, जो इस पूरे प्रकरण को हैंडल करेगा. 

वीडियो डिलीट के लिए यूट्यूब और फेसबुक को भी पत्र:
उन्होंने बताया कि इस मामले में अभी तक वीडियो वायरल करने के करने वालों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर उन्होंने कहा कि एक यूट्यूब पर चलने वाले चैनल के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है. साथ ही यूट्यूब और फेसबुक को भी पत्र लिखा गया है कि इस वीडियो को डिलीट करें. राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा और राजस्थान सरकार की मंत्री ममता भूपेश द्वारा पीड़िता की पहचान उजागर करने के मामले में उन्होंने कहा कि उनको भी जांच के दायरे में लाया जाएगा.

आरोपी पक्ष की ओर से कोई वकील नहीं:
विशेष लोक अभियोजक एडवोकेट कुलदीप जैन ने बताया कि आज चार्जशीट पेश कर दी गई है, जिसमें 35 गवाह हैं और विभिन्न धाराओं में प्रमाणित साक्ष्य पेश किए गए हैं. इस मामले पर जल्दी से जल्दी सुनवाई हो इसके लिए अदालत से निवेदन किया जाएगा और अभी तक आरोपी पक्ष की ओर से कोई वकील सामने नहीं आया है. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in