5100 दीप जलाकर कायम की मिसाल, हिन्दू-मुस्लिम लोगों ने ली शपथ

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/01 12:52

बिसाऊ (झुंझुनूं)। दीपावली से पूर्व एकता दिवस पर बिसाऊ संघर्ष समिति के तत्वावधान में आयोजित हुए 5 हजार 100 दीपकों की रोशनी से नहाया गांधी चौक भारत माता वंदेमातरम् के जयकारों से गूंजा। वहीं गांधी चौक में सात रंगों के रंग से उकेरे गए भारत माता व नक्शा तथा तिरंगा, शहीद भगतसिंह का चित्र व वंदेमातरम्, दोनों साईडों में रंगोली के चित्रों पर जगमगाते 5100 दीपकों की दीपमाला से रोशनी हुई।

इस कार्यक्रम का शुभारम्भ अंतरशाह दरगाह के पीर निशार खान, गोगामेडी के गणेशनाथ आश्रम के महंत रविनाथ, पालिकाध्यक्ष हारून खत्री, आदि अतिथियों ने दीप जलाकर किया। दीपमाला को देखने उमड़े कस्बे के लोगों ने शहीदों के सम्मान में दो मिनट का मौन रखा। भारत माता की जय, वंदेमातरम्, लालबहादुर शास्त्री और सरदार पटेल के जयकारे लगाए। अतिथियो ने अपने उद्बोधन में कहा कि, "देश भक्ती के ऐसे आयोजन हमें सभी जाति धर्म को भूलाकर भाईचारे के साथ एकता में रहने का संदेश देते है।" आयोजन में स्वदेशी वस्तुएं अपनाने व चाइनीज उत्पादों के बहिष्कार की भी अपील की गई। संघर्ष समिति के संगठन मंत्री बसंत कुमार चेजारा ने आयोजन को सफल बनाने के लिए सभी का अभार जताया।

आपको बता दें कि दीपावली पर्व को पारंपरिक संस्कृति से मनाने व स्वदेशी शिल्पकला को संरक्षण देने के उद्देश्य से देशभर में सार्वजनिक स्थानों पर सामूहिक रूप से मिट्‌टी के दीपक जलाकर दिए जा रहे संदेश की कड़ी में रात को बिसाऊ के गांधी चौक में भी कार्यक्रम हुआ। बिसाऊ संघर्ष समिति के तत्वावधान में गांधी चौक पर 5100 मिट्‌टी के दीपक जलाकर स्वदेशी शिल्पकला व संस्कृति को संरक्षण का संदेश देते हुए दीपावली पर केवल मिट्टी के दीपक जलाने की शपथ ली। इस मौके पर हिन्दू और मुस्लिम भाईचारे की मिसाल देते हुए सभी को शपथ दिलाई। इस कार्यक्रम की खास बात यह थी कि इस दौरान जलाये गये दीपक में जो तेल डाला गया वह आधा हिन्दु समाज के लोग और आधा तेल व बत्ती मुस्लिम समाज के लोग लाये थे।

बिसाऊ से संवाददाता अशोक सोनी की खबर 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in