Live News »

बालिका संरक्षण गृह में 7 लड़कियां निकलीं गर्भवती, प्रियंका गांधी ने साधा यूपी सरकार पर निशाना

बालिका संरक्षण गृह में 7 लड़कियां निकलीं गर्भवती, प्रियंका गांधी ने साधा यूपी सरकार पर निशाना

कानपुर: राज्य सरकार द्वारा संचालित बालिका संरक्षण गृह में रहने वाली 57 लड़कियों में से सात गर्भवती पाये जाने पर प्रशासन में हड़कंप मच गया. मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले का है. इन लड़कियों में से एक लड़की HIV से भी ग्रसित बताई जा रही है. यह खबर उजागर होने के बाद स्थानीय प्रशासन में हड़कंप मच गया. खबरों के मुताबिक इसके बाद कानपुर जिलाधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी ने बताया कि शेल्टर होम की 7 लड़कियां गर्भवती हैं, जिसमें से 5 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव भी पाई गई हैं. हालांकि, उनका कहना है कि यह लड़कियां शेल्टर होम में लाए जाने से पहले ही गर्भवती थीं. 

राजस्थान से जुड़े एक केन्द्रीय मंत्री के इस्तीफे की चर्चा! कुछ दिनों में हो सकता इसका खुलासा

3 लड़कियों का उपचार एक निजी अस्पताल में जारी:
जिलाधिकारी ने कहा कि इन लड़कियों को आगरा, एटा, कन्नौज, फिरोजाबाद और कानपुर की बाल कल्याण समितियों द्वारा यहां भेजा गया था. यह सभी लड़कियां बालिका संरक्षण गृह में लाए जाने के पहले से गर्भवती थीं. संक्रमित पाई गई 2 लड़कियों का इलाज लाला लाजपत राय अस्पताल में किया जा रहा है. वहीं अन्य 3 लड़कियों का उपचार एक निजी अस्पताल में चल रहा है.

प्रियंका गांधी ने साथा यूपी सरकार पर निशाना:
कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस मामले पर राज्य सरकार पर निशाना साधा है और इसे घोर लापरवाही बताया है. रविवार को ही प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस मसले पर बयान दिया. उन्होंने फेसबुक पर लिखा, कानपुर के सरकारी बाल संरक्षण गृह में 57 बच्चियों को कोरोना की जांच होने के बाद एक तथ्य आया कि 2 बच्चियां गर्भवती निकलीं और एक को एड्स पॉजिटिव निकला.प्रियंका गांधी ने लिखा कि मुजफ्फरपुर (बिहार) के बालिका गृह का पूरा किस्सा देश के सामने है. यूपी में भी देवरिया से ऐसा मामला सामने आ चुका है. ऐसे में पुनः इस तरह की घटना सामने आना दिखाता है कि जांच के नाम पर सब कुछ दबा दिया जाता है लेकिन सरकारी बाल संरक्षण गृहों में बहुत ही अमानवीय घटनाएं घट रही हैं.

लगातार 16वें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में जबरदस्त उछाल, जानें आज का रेट

और पढ़ें

Most Related Stories

Ram Mandir Bhoomi Pujan: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रखी राम मंदिर की आधारशिला, अयोध्या में रचा गया इतिहास

Ram Mandir Bhoomi Pujan: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रखी राम मंदिर की आधारशिला, अयोध्या में रचा गया इतिहास

अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन पूरा हो गया है और पीएम मोदी ने राम मंदिर की आधारशिला रख दी है. भूमि पूजन की सभी प्रक्रिया करने के बाद प्रधानमंत्री ने शुभ मुहूर्त के वक्त शिला रखी. प्रधानमंत्री ने शिला रखकर वहां भूमि पर प्रणाम किया. अयोध्या इस ऐतिहासिक घटना की साक्षी बनी और वहां मौजूद लोग जय श्रीराम का उद्घोष कर रहे हैं. पीएम मोदी ने ठीक 12.44.08 बजे शिला रखी. पूजा के दौरान 9 शिलाओं का अनुष्ठान किया गया, इसके अलावा भगवान राम की कुलदेवी काली माता की भी पूजी की गई.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर भूमि पूजन के अनुष्ठान में हिस्सा लिया और पूजा की सभी विधियां पूरी की. RSS प्रमुख मोहन भागवत, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी इस दौरान मौजूद रहे. पंडितों को इस भूमि पूजन के बाद पीएम मोदी की तरफ से दक्षिणा दी गई है. 

राममय हुई अयोध्या:
राम मंदिर के भूमि पूजन से पहले अयोध्या राममय हो गई है. हर तरफ राम नाम का संकीर्तन हो रहा है. जय श्रीराम के नारे की गूंज सुनाई दे रही है. हल्की बारिश भी हो रही है. हालांकि, कार्यक्रम स्थल पर वाटरप्रूफ टेंट लगाए गए हैं.

भव्य राम मंदिर में 366 स्तंभ होंगे:
भव्य राम मंदिर में 366 स्तंभ होंगे, पांच मंडप वाले और 161 फुट ऊंचे इस मंदिर को दुनिया के बेहतरीन मंदिरों में से गिना जाएगा. इसके खंभों में किसी तरह के लोहे का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चांदी के फावड़े और कन्नी का इस्तेमाल करेंगे.

चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा:
राम मंदिर भूमि पूजन के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. अयोध्या की सीमा में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति और वाहन की जांच की जा रही है. कई इलाकों में रूट डायवर्ट किए गए हैं.


 

Ram Mandir Bhoomi Pujan: अयोध्या में विधिवत रूप से जारी है पूजा का कार्यक्रम, पंडित मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी से धार्मिक क्रियाएं करा रहे

Ram Mandir Bhoomi Pujan: अयोध्या में विधिवत रूप से जारी है पूजा का कार्यक्रम, पंडित मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी से धार्मिक क्रियाएं करा रहे

अयोध्या: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय अयोध्या में राम जन्मभूमि पूजन कर रहे हैं और तमाम मंत्रोच्चार के बीच राम जन्मभूमि का सालों का इंतजार खत्म हो गया है. पंडित और मुख्य यजमान इस समय मंदिर निर्माण से पहले समस्त भगवान के आह्वान के मंत्र पढ़ रहे हैं. RSS प्रमुख मोहन भागवत, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं.

मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी से धार्मिक क्रियाएं करा रहे: 
राम जन्मभूमि पूजन को संपन्न कराने वाले पंडित मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी से धार्मिक क्रियाएं करा रहे हैं. भूमि पूजन का लाइव प्रसारण भी किया जा रहा है और बड़े एलईडी स्क्रीन के जरिए समस्त उपस्थितगण भी इसको देख पा रहे हैं.

भव्य राम मंदिर में 366 स्तंभ होंगे:
भव्य राम मंदिर में 366 स्तंभ होंगे, पांच मंडप वाले और 161 फुट ऊंचे इस मंदिर को दुनिया के बेहतरीन मंदिरों में से गिना जाएगा. इसके खंभों में किसी तरह के लोहे का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चांदी के फावड़े और कन्नी का इस्तेमाल करेंगे.

चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा:
राम मंदिर भूमि पूजन के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. अयोध्या की सीमा में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति और वाहन की जांच की जा रही है. कई इलाकों में रूट डायवर्ट किए गए हैं.

Ram Mandir Bhoomi Pujan: पीएम मोदी ने किया रामलला को साष्टांग दंडवत प्रणाम, पारिजात का पौधा लगाया

Ram Mandir Bhoomi Pujan: पीएम मोदी ने किया रामलला को साष्टांग दंडवत प्रणाम, पारिजात का पौधा लगाया

अयोध्या: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामलला के दर्शन किए, उनकी पूजा की. इस दौरान पीएम ने साष्टांग दंडवत प्रणाम किया और परिसर में पारिजात का पौधा लगाया. अब पीएम मोदी यहां भूमि पूजन कर रहे हैं और इसी के साथ राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया विधिवत रूप से शुरू हो रही है.

40 किलो चांदी की ईंट से रखी जाएगी मंदिर की नींव:
पीएम मोदी अयोध्या पहुंचेंगे. भूमि पूजन के दौरान वो 40 किलो की चांदी की ईंट राममंदिर की नींव में रखी जाएगी. इसके बाद वो मंदिर परिसर में पारिजात का पौधा लगाएंगे. सबसे पहले वो हनुमान गढ़ी में दर्शन के लिए जाएंगे. 

सवा लाख लड्डू होंगे तैयार: 
भूमि पूजन समारोह के लिए अयोध्या में करीब सवा लाख लड्डू तैयार हो रहे हैं. इन्हें प्रसाद के रूप में पूरे देश में वितरित किया जाएगा.

भव्य राम मंदिर में 366 स्तंभ होंगे:
भव्य राम मंदिर में 366 स्तंभ होंगे, पांच मंडप वाले और 161 फुट ऊंचे इस मंदिर को दुनिया के बेहतरीन मंदिरों में से गिना जाएगा. इसके खंभों में किसी तरह के लोहे का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चांदी के फावड़े और कन्नी का इस्तेमाल करेंगे.

चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा:
राम मंदिर भूमि पूजन के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. अयोध्या की सीमा में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति और वाहन की जांच की जा रही है. कई इलाकों में रूट डायवर्ट किए गए हैं.

Ram Mandir Bhoomi Pujan: भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धोती-कुर्ता पहने पहुंचे

Ram Mandir Bhoomi Pujan: भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धोती-कुर्ता पहने पहुंचे

अयोध्या: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पहुंच गए हैं. हेलिपेड से पीएम मोदी सीधे हनुमानगढ़ी मंदिर जाएंगे. वहां पर पूजा करने के बाद भूमि पूजन स्थल के लिए रवाना होंगे. भूमि पूजन के लिए मोदी धोती-कुर्ता पहने हुए हैं. पीले रंग का कुर्ता मोदी पर खूब जंच भी रहा है. मोदी राम जन्मभूमि जाने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं. 

पीएम मोदी पूरे 28 साल बाद अयोध्या पहुंचे:
पीएम मोदी पूरे 28 साल बाद अयोध्या पहुंचे हैं और इससे पहले वो 1992 में अयोध्या आए थे. उस समय वो राम मंदिर आंदोलन का हिस्सा थे और इस समय वो बतौर प्रधानमंत्री अयोध्या में रामलला के दर्शन करने पहुंचे हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी की अगवानी की. 

मोहन भागवत राम जन्मभूमि कार्यक्रम के लिए पहुंच चुके:
इससे पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत राम जन्मभूमि कार्यक्रम के लिए पहुंच चुके हैं. वो भूमि पूजन के लिए होने वाले कार्यक्रम के लिए बने मंच पर बैठने वाले पांच लोगों में शामिल हैं.

चांदी का एक सिक्का भेंट किया जाएगा: 
भूमि पूजन समारोह में शामिल हर शख्स को लड्डू के साथ प्रसाद के रूप में चांदी का एक सिक्का भेंट किया जाएगा. चांदी के सिक्के के एक तरफ राम दरबार की छवि है. जिसमें भगवान राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान हैं. दूसरी तरफ ट्रस्ट का प्रतीक चिह्न है.

2 साल 8 महीने का लगेगा समय: 
भूमि पूजन का कार्यक्रम के बाद जल्द से जल्द मंदिर निर्माण को लेकर काम शुरू हो जाएगा. ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण करने वाली कंपनी को मंदिर निर्माण पूरा करने के लिए अगले 32 महीने का वक्त दिया है यानी अब से 2 साल 8 महीने बाद भव्य राम मंदिर का निर्माण पूरा हो सकता है. राम मंदिर में 366 स्तंभ, 5 मंडप होंगे. ये 161 फुट ऊंचा होगा.

Ram Mandir Bhumi Pujan: राम जन्मभूमि पूजन की धूम देश ही नहीं विदेश में भी, पीएम मोदी अयोध्या के लिए रवाना

Ram Mandir Bhumi Pujan: राम जन्मभूमि पूजन की धूम देश ही नहीं विदेश में भी, पीएम मोदी अयोध्या के लिए रवाना

नई दिल्ली: अब से कुछ देर बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अयोध्या में आज 12 बजकर 15 मिनट और 15 सेकंड पर राम मंदिर का भूमिपूजन करेंगे. इसको लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी आज ट्वीट किया और लिखा कि- भूमि पूजन के मौक़े पर पूरे देश को बधाई भगवान राम का आशीर्वाद हम पर बना रहे. उनके आशीर्वाद से हमारे देश को भुखमरी, अशिक्षा और ग़रीबी से मुक्ति मिले और भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली राष्ट्र बने. आने वाले समय में भारत दुनिया को दिशा दे. जय श्री राम! जय बजरंग बली!

राम जन्मभूमि पूजन की धूम देश ही नहीं विदेश में भी:
राम जन्मभूमि पूजन की धूम देश ही नहीं विदेश में भी है. अमेरिका में भारतीय समुदाय के लोग वॉशिंगटन डीसी के कैपिटल हिल के बाहर इक्ट्ठे हुए. उन्होंने अयोध्या में होने वाले शिलान्यस कार्यक्रम के लिए अपनी खुशी जताई.

USA: Members of the Indian community gathered outside the Capitol Hill in Washington DC to celebrate the foundation laying ceremony of #RamTemple in #Ayodhya pic.twitter.com/NofEWuM3E5

— ANI (@ANI) August 5, 2020

पीएम मोदी अयोध्या के लिए रवाना: 
पीएम नरेंद्र मोदी दिल्ली से अयोध्या के लिए विशेष विमान से रवाना हो गए हैं. 10:35 पर पीएम मोदी के विशेष विमान की लखनऊ एयरपोर्ट पर लैंडिंग होगी. इसके बाद 10:40 बजे हेलिकॉप्टर से अयोध्या के लिए निकलेंगे. 

चांदी का एक सिक्का भेंट किया जाएगा: 
भूमि पूजन समारोह में शामिल हर शख्स को लड्डू के साथ प्रसाद के रूप में चांदी का एक सिक्का भेंट किया जाएगा. चांदी के सिक्के के एक तरफ राम दरबार की छवि है. जिसमें भगवान राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान हैं. दूसरी तरफ ट्रस्ट का प्रतीक चिह्न है.

2 साल 8 महीने का लगेगा समय: 
भूमि पूजन का कार्यक्रम के बाद जल्द से जल्द मंदिर निर्माण को लेकर काम शुरू हो जाएगा. ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण करने वाली कंपनी को मंदिर निर्माण पूरा करने के लिए अगले 32 महीने का वक्त दिया है यानी अब से 2 साल 8 महीने बाद भव्य राम मंदिर का निर्माण पूरा हो सकता है. राम मंदिर में 366 स्तंभ, 5 मंडप होंगे. ये 161 फुट ऊंचा होगा.

Ram Mandir Bhumi Pujan: आज राम मंदिर के लिए भूमि पूजन, 366 स्तंभ, पांच मंडप और 161 फुट ऊंचा होगा राम मंदिर

Ram Mandir Bhumi Pujan: आज राम मंदिर के लिए भूमि पूजन, 366 स्तंभ, पांच मंडप और 161 फुट ऊंचा होगा राम मंदिर

अयोध्या: अयोध्या में भव्य श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण की 5 सदी से चली आ रही प्रतीक्षा समाप्त होने का ऐतिहासिक पल आ गया है. राम मंदिर के शिलापट्ट का अनावरण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे. शिलापट्ट का अनावरण 12.30 बजे होगा. पीएम मोदी और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत भूमि पूजन के कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे. 12.44 बजे भूमि पूजन होगा.

रैपिड टेस्ट के बाद अब सवालों के घेरे में एंटीजन टेस्ट! चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने फिर उठाए केन्द्र पर सवाल

राममय हुई अयोध्या:
राम मंदिर के भूमि पूजन से पहले अयोध्या राममय हो गई है. हर तरफ राम नाम का संकीर्तन हो रहा है. जय श्रीराम के नारे की गूंज सुनाई दे रही है. हल्की बारिश भी हो रही है. हालांकि, कार्यक्रम स्थल पर वाटरप्रूफ टेंट लगाए गए हैं. इस खास अवसर पर पूरी राम नगरी को दुल्हन की तरह सजाया गया है. हालांकि इसके साथ ही जिले में सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज झा और डीआईजी दीपक कुमार ने बताया कि आज जिले में सभी बाजार खुले रहेंगे, लेकिन बाहरी लोगों को यहां आने की अनुमति नहीं होगी.

40 किलो चांदी की ईंट से रखी जाएगी मंदिर की नींव:
पीएम मोदी अयोध्या पहुंचेंगे. भूमि पूजन के दौरान वो 40 किलो की चांदी की ईंट राममंदिर की नींव में रखी जाएगी. इसके बाद वो मंदिर परिसर में पारिजात का पौधा लगाएंगे. सबसे पहले वो हनुमान गढ़ी में दर्शन के लिए जाएंगे. 

भूमि पूजन में 175 प्रतिष्ठित मेहमान शामिल होंगे:
आज राम मंदिर के भूमि पूजन में 175 प्रतिष्ठित मेहमान शामिल होंगे. इसमें सर संघचालक मोहन भागवत, सरकार्यवाह भय्याजी जोशी, दत्तात्रेय होसबले, सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल, विश्व हिंदू परिषद के मुखिया आलोक कुमार, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, मुस्लिम पक्षकार रहे हाजी महबूब, इकबाल अंसारी, लावारिस लाशों का अंतिम संस्कार करने वाले पद्मश्री मुहम्मद शरीफ शामिल हैं. वहीं राम मंदिर आंदोलन के आधार रहे लालकृष्ण अडवाणी और मुरली मनोहर जोशी वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए भूमि पूजन के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.

सवा लाख लड्डू होंगे तैयार: 
भूमि पूजन समारोह के लिए अयोध्या में करीब सवा लाख लड्डू तैयार हो रहे हैं. इन्हें प्रसाद के रूप में पूरे देश में वितरित किया जाएगा.

भव्य राम मंदिर में 366 स्तंभ होंगे:
भव्य राम मंदिर में 366 स्तंभ होंगे, पांच मंडप वाले और 161 फुट ऊंचे इस मंदिर को दुनिया के बेहतरीन मंदिरों में से गिना जाएगा. इसके खंभों में किसी तरह के लोहे का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चांदी के फावड़े और कन्नी का इस्तेमाल करेंगे.

दीया कुमारी बोलीं, मैं वसुंधरा राजे का बहुत सम्मान करती हूं, पहली बार संगठन में मंत्री उन्होंने ही बनाया

चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा:
राम मंदिर भूमि पूजन के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. अयोध्या की सीमा में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति और वाहन की जांच की जा रही है. कई इलाकों में रूट डायवर्ट किए गए हैं.


 

राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम कल, पीएम मोदी रखेंगे मंदिर की आधारशिला

राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम कल, पीएम मोदी रखेंगे मंदिर की आधारशिला

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इस भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल होंगे और राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे. इससे पहले सोमवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या पहुंचकर पीएम मोदी के कार्यक्रम की तैयारियां का जायजा लिया.

मोर का शिकार करने के लिए पैंथर ने खुद ही शिकार होकर मौत को लगाया गले

कल सुबह अयोध्या के लिए रवाना होंगे पीएम मोदी:
इस दौरान पीएम मोदी मंदिर की आधारशिला रखेंगे और साथ ही अन्य कई कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे. 5 अगस्त को सुबह दिल्ली से प्रधानमंत्री मोदी का विशेष विमान लखनऊ के लिए रवाना होगा. विमान लखनऊ एयरपोर्ट पर लैंड करने के बाद पीएम मोदी हेलिकॉप्टर से अयोध्या के लिए प्रस्थान करेंगे. इसके बाद पीएम मोदी अयोध्या के साकेत कॉलेज पहुंचेंगे. 

पीएम मोदी पहुंचेंगे हनुमान गढ़ी:
यहीं पर हेलीपैड की व्यवस्था की गई है. इसके बाद पीएम मोदी हनुमान गढ़ी पहुंचेंगे. यहां पीएम मोदी पूजा अर्चना करेंगे और हनुमान जी के दर्शन करेंगे. इसके बाद पीएम मोदी  राम जन्मभूमि परिसर में पहुंचेंगे. यहां रामलला परिसर में पीएम मोदी पारिजात के पौधे का रोपण करेंगे. इसके बाद पीएम मोदी भूमिपूजन कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे.

VIDEO: आखिर कहां है इस वक्त पायलट कैंप के विधायक? जानकार सूत्रों ने दिए संकेत

यूपी की कैबिनेट मंत्री कमल रानी की कोरोना से मौत, योगी सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थी कमल रानी वरुण 

यूपी की कैबिनेट मंत्री कमल रानी की कोरोना से मौत, योगी सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थी कमल रानी वरुण 

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण का निधन हो गया है. उनका पूरा नाम कमल रानी वरुण था. कमल रानी वरुण यूपी सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थीं. कमल वरुण कोरोना से संक्रमित थीं और लखनऊ के पीजीआई में उनका इलाज चल रहा था. कमल रानी की कोरोना से मौत हुई है. कमल रानी 18 जुलाई को कोरोना से संक्रमित हुई थीं. बाद में इलाज के लिए उन्हें लखनऊ पीजीआई में दाखिल कराया गया था जहां रविवार को उनका निधन हो गया. कमल वरुण उत्तर प्रदेश विधानसभा की सदस्य थीं. इससे पहले वे सांसद भी रह चुकी थीं.

VIDEO: अनलॉक-3 में शराब की बिक्री बढ़ने की उम्मीद, 3 महीने में 2800 करोड़ की बिकी शराब, सरकार को मिला एक हजार करोड़ का राजस्व

सीएम योगी ने किया शोक प्रकट:

उनके निधन पर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने शोक प्रकट किया है. मुख्यमंत्री ने लिखा, उत्तर प्रदेश सरकार में मेरी सहयोगी, कैबिनेट मंत्री श्रीमती कमल रानी वरुण जी के असमय निधन की सूचना, व्यथित करने वाली है. प्रदेश ने आज एक समर्पित जननेत्री को खो दिया. उनके परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं. ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान प्रदान करें. ॐ शांति!

समाज और सरकार के लिये अपूरणीय क्षति:
यूपी सीएम कार्यालय की ओर से ट्वीट में  लिखा गया, आज दिनांक 02.08.2020 को प्रातः लगभग 9:30 बजे श्रीमती कमल रानी वरुण जी, मंत्री प्राविधिक शिक्षा का SGPGI, लखनऊ में इलाज के दौरान निधन हो गया है. श्रीमती वरुण जी घाटमपुर, कानपुर नगर से विधायक थीं. इससे पूर्व श्रीमती वरुण जी 11वीं व 12वीं लोकसभा की सदस्य थीं. श्रीमती वरुण जी ने एक जनप्रतिनिधि के रूप में जन आकांक्षाओं का सम्मान रखा. मंत्री के रूप में विभागीय कार्यों को कुशलतापूर्वक निर्वहन करने में सराहनीय योगदान दिया है. उनका निधन समाज और सरकार के लिये अपूरणीय क्षति है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 9 मौत, 561 नए केस, सर्वाधिक 100 केस कोटा में आए सामने 

Open Covid-19