भरतपुर में छमारू गैंग के 7 सदस्य गिरफ्तार, गैंग के सदस्य शादी करने से पहले करते है 6 हत्याएं

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/07/30 01:29

भरतपुर: राजस्थान पुलिस और उत्तरप्रदेश पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए छमारू गैंग के 7 सदस्यों को गिरफ्तार किया है. फर्रुखाबाद की SOG और भरतपुर पुलिस की संयुक्त कार्रवाई ने गैंग के सदस्यों पर शिकंजा कसा है. यह गैंग प्रदेश में करीब 14 हत्या और डकैती की वारदातों को अंजाम दे चुकी है वहीं यूपी में 1 दर्जन से अधिक हत्या की वारदातों को अंजाम दिया है. भरतपुर में इस गैंग के सक्रिय होने से आए दिन लूट और हत्या जैसी वारदातें सामने आ रही थी. पुलिस को मिली इस बड़ी कामयाबी पर SP हैदर अली जैदी कुछ देर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर वारदात का खुलासा करेंगे. 

शादी करने से पहले करते है 6 हत्याएं:  
कुप्रथा के चलते छमारू गैंग के सदस्य शादी करने से पहले 6 हत्याएं करते हैं. पंजाब के इस गैंग को इस वजह से ही ‘छैमार गैंग’ के नाम से जाना जाता है. यह गैंग लूट के दौरान विरोध करने पर हत्या करता है. यह गैंग केवल उत्तर प्रदेश में ही नहीं, बल्कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और दिल्ली में भी डकैती डालता है. आज भी बहुत से लोग हत्या जैसे अपराध को बाहुबल से जोड़ कर देखते हैं, जिस वजह से ऐसी प्रथाएं भी चलती हैं. अपराधी खुद का दामन बचाने के लिए ऐसी प्रथाओं का हवाला देते हैं. ये लोग अपने नाम और गैंग का नाम बदल कर आपराधिक वारदातों को अंजाम देते हैं.

मारने के लिए डंडे का करते है इस्तेमाल: 
इस गैंग में शामिल लोग दिन में जगह जगह पर खेल तमाशा दिखाते हैं और इसी बीच ये घरों की रेकी कर लेते हैं. ये अपने साथ हथियार लेकर नहीं चलते हैं. मारने के लिए डंडे की इस्तेमाल करते हैं. तमंचे या गोली से घटना को अंजाम देते वक्त नहीं मारते है, गोली मारने में साउंड आती है जिससे पड़ोसियों व आसपास लोगों को पता चल जाता है. केवल डंडों से ही पीट पीट कर मौत के मुंहाने तक पहुंचा देते हैं. ये छोटे बच्चे, महिलाएं, बुजुर्ग व्यक्ति को भी मारने से नहीं हिचकिचाते. ताकि एफआईआर होने के बाद कोई पैरवी नहीं कर सके. 

रात के वक्त बनाते है घरों को टारगेट: 
छमारू गैंग में शामिल लोग रात के वक्त घरों को टारगेट करते हैं. जब व्यक्ति घर में सो जाता है, तो सोते समय घर में घुस कर हमला कर देते हैं. इनके बारे में खास बात ये है कि मरते मरते मर जाएंगे लेकिन अपना असली नाम और पता नहीं बताते है. इनका वास्तविक जीवन के बारे में कुछ पता नहीं चल पाता है. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in