सवालों के घेरे में 8 वीं बोर्ड की परीक्षा, परीक्षा केंद्र पर शिक्षक करवा रहे खुल्ले में नकल

सवालों के घेरे में 8 वीं बोर्ड की परीक्षा, परीक्षा केंद्र पर शिक्षक करवा रहे खुल्ले में नकल

सवालों के घेरे में 8 वीं बोर्ड की परीक्षा, परीक्षा केंद्र पर शिक्षक करवा रहे खुल्ले में नकल

अजमेर: शिक्षा निदेशालय और मसूदा डाइट की ओर से करवाई जा रही आठवीं बोर्ड परीक्षा के पहले ही पर्चे में सरकारी शिक्षकों ने अपने विद्यार्थियों को खुलकर नकल करवा दी. मामला सुंदर विलास स्थित राजकीय मॉडल बालिका सीनियर सेकंडरी विद्यालय का है. यहां पर परीक्षा दे रही एक अन्य स्कूल द्रौपदी देवी सावरमल सीनियर सैकंडरी विद्यालय की परीक्षार्थी छात्राओं ने खुलकर आरोप लगाए हैं ऐसे में प्रदेश स्तर पर समान प्रश्न पत्रों से हो रही बोर्ड परीक्षा विवादों में आ गई है.

सीएए के खिलाफ गहलोत सरकार जायेगी सुप्रीम कोर्ट, 16 मार्च को दायर किया जायेगा सूट

छात्राओं ने लगाए कथित तौर पर आरोप: 
गुरुवार को आठवीं बोर्ड परीक्षा की शुरुआत हुई थी अंग्रेजी का पहला पेपर दोपहर 2:00 से शाम 4:30 तक हुआ द्रौपदी देवी सागरमल बालिका विद्यालय की छात्राओं ने कथित तौर पर आरोप लगाए कि इस दौरान परीक्षा ले रही है स्कूल की चार से पांच शिक्षिकाओं समेत एक B.ed टीचर ने अपने स्कूल के परीक्षार्थियों को नकल करवाई. परीक्षार्थियों ने बताया कि कुछ कक्षा में तो उनकी उत्तर पुस्तिका उठा कर दूसरे बच्चों को दे दी गई और कुछ कक्षाओं में खुले में चीटिंग करवाई जा रही थी. आज फिर से द्रौपदी देवी स्कूल की बच्चियां परीक्षा देने पहुची तब उन्होंने यह पूरे मामले की जानकारी दी.

बालिकाओं ने तोड़ी अभिभावकों के सामने चुप्पी: 
परीक्षा देते समय शिक्षकों से डरी सहमी बालिकाओं ने आज अपने अभिभावकों के सामने चुप्पी तोड़ी और अभिभावक आज अपने बच्चों के साथ द्रौपदी देवी स्कूल पहुंचे ओर पीर मामले की जानकारी दी जिसके बाद अभिभावकों ने भी स्कूल प्रशासन से कोई एक्शन लेने की मांग रखी है. वहीं मामले की जानकारी मिलते ही स्कूल प्रशासन ने बताया कि बावचियो ने उन्हें जानकारी दी है कि उनके परीक्षा केंद्र पर स्कूल के शिक्षक दूसरे बच्चों को खुलेआम चीटिंग करवा रहे है. वहीं हमने इस मामले की जानकारी आगे अधिकारियों को भेज दी है.

शेरगढ़ सड़क हादसे में 11 लोगों की मौत के बाद क्षेत्र में शोक की लहर, हादसे से पहले परिवार सहित सेल्फी हुई वायरल

6 शिक्षकों को किया गया था निलंबित:
गौरतलब है कि करीब 12 साल पहले भी आठवीं बोर्ड परीक्षा में ही दिग्गी बाजार के सरकारी सिंधी उच्च प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों ने सिंधी भाषा के पेपर तैयार किए थे इन शिक्षकों ने यह पेपर ब्लैक बोर्ड पर हल करवा दिए थे इस मामले का खुलासा भी कुछ दिनों बाद हुआ था और मामले में 6 शिक्षकों को निलंबित किया गया था. अब फिर परीक्षा करवा रहे शिक्षा महकमे के शिक्षक शक के दायरे में खड़े हो गए हैं. देखना यह होगा को क्या अब शिक्षा विभाग कोई हरकत में आता है कि नहीं.

...फर्स्ट इंडिया के लिए अजमेर से शुभम जैन की​ रिपोर्ट

और पढ़ें