9 माह की मासूम बेटी की जमीन पर पटककर पिता ने की हत्या, बाद जमीन में दफनाया

9 माह की मासूम बेटी की जमीन पर पटककर पिता ने की हत्या, बाद जमीन में दफनाया

9 माह की मासूम बेटी की जमीन पर पटककर पिता ने की हत्या, बाद जमीन में दफनाया

रायपुर(पाली): एक बेरहम पिता ने अपने ही 9 माह की मासूम बेटी की गला घोटकर दर्दनाक हत्या कर दी और फिर शव को जमीन में दफना दिया. मामला रायपुर मारवाड़ उपखण्ड के सेन्दड़ा थाना क्षेत्र के चिताड़ गांव का है. वैसे तो सरकारें बेटी बचाओ अभियान के लिए कई तरह के योजनाओं के साथ ग्रामीणों को जागरूक करने में लगी हैं. मगर पाली जिले में बेटी बचाओ अभियान के रोल मॉडल में 9 माह की बेटी कि उसके ही बाप ने क्रूरता पूर्वक हत्या कर उसके शव को दफन दिया. तीसरी संतान के रूप में बेटी पैदा करने पर आरोपी ने इस जघन्य घटना को अंजाम दिया. आरोपी की दूसरी संतान के रूप में बेटा भी हैं मगर तीसरी संतान को भी वह बेटे की रूप में चाहता था. ये घटना सेन्दड़ा थाना क्षेत्र के चिताड़ गांव की है.

मासूम को दी दर्दनाक मौत:
10 मार्च कि सुबह आरोपी ने अपनी मासूम बेटी का गला घोंट कर मारा था.  दिन भर घर में ही पड़ा रखा. शाम ढलने के बाद उसने अकेले ही गांव मे शव को दफना कर फरार हो गया. गुरुवार सुबह मृतका की मां द्वारा इस दिल दहलाने वाले मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी हरकत में आ गए. घटना की जानकारी मिलने पर जैतारण डीएसपी सुरेश कुमार रायपुर एसडीएम भंवरलाल जनागल चेहरा थाना प्रभारी प्रेमाराम बिश्नोई समेत पुलिस जाब्ता और प्रशासन दल मौके पर पहुंच कर जिला कलेक्टर की अनुमति के बाद दफनाए गए शव को बाहर निकाल कर उसका मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया इसके बाद वापस ग्रामीणों की मौजूदगी में उसे सुपुर्द ए खाक किया गया आरोपी को गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

Corona in india: दिल्ली सरकार का बड़ा एलान, राज्य में नहीं होंगे IPL के मैच

नारी निकेतन जाकर रचाई थी शादी:
मासूम बेटी का हत्यारा आरोपी मनोहर मेहरात को जब समाज ने बेटी नहीं दी तो आरोपी ने जयपुर के नारी निकेतन से जाकर सुनीता से शादी रचाई उसके बाद आरोपी के एक बेटी हुई तब से आरोपी मनोहर मेहरात सुनीता के साथ मानसिक प्रताड़ना व परेशान करना शुरू कर दिया. उसके बाद सुनीता ने बेटे को जन्म दिया उसके बाद ही आरोपी के स्वभाव में बदलाव आ गया. मगर जब तीसरी बार सुनीता मां बनी तब उसने मासूम बेटी रवीना को जन्म दिया. तब से ही आरोपी मनोहर मेहरात रवीना को मौत के घाट उतारने की सोच रहा था. आखिरकार 10 मार्च को उसने मासूम बेटी को जमीन पर पटक कर गला घोट कर हत्या कर दी.

आरोपी करता है सीमेंट फैक्ट्री में मजदूरी का काम:
आरोपी मनोहर मेहरात एक सीमेंट फैक्ट्री में मजदूरी का काम कर रहा था. साथ ही जादू टोने और टोटके का भी काम करना बताया जा रहा है. पुलिस का कहना है कि आरोपी मनोहर मेहरात सीमेंट में मजदूरी करता है. साथ ही वह गांव में ही रहकर भोपा गिरी भी करता था. अंधविश्वास के कई टोटकों में माहिर इस युवक की समाज में शादी नहीं हो रही थी इसके चलते उसने जयपुर में नारी निकेतन में रहने वाली सुनीता को आवश्यक औपचारिकताएं पूरी कर अपने साथ ले आया था 5 साल से वह गांव में उसी के साथ रह रहा था. बताया जाता है कि वह सुनीता पर भी शक करता था. तीसरी संतान के रूप में हुई बेटी को लेकर भी वहां अक्सर सुनीता के चरित्र पर सवाल भी खड़ा करता था.

VIDEO: क्या 'कोरोना' का इलाज हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में होगा कवर? जानिए पूरी जानकारी

और पढ़ें