सदन के बाहर गूंजा थाने में दुष्कर्म पीड़िता द्वारा आत्मदाह के प्रयास का मामला

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/07/29 03:00

जयपुर: वैशाली नगर थाने में दुष्कर्म पीड़िता की ओर से आत्मदाह और मौत का मामला सदन के बाहर गूंजा. मीडिया को दिए बयान में विपक्षी विधायकों ने सरकार को कठघरे में खडा कर दिया. भाजपा के वरिष्ठ नेता व उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान न रहकर दिल्ली में रहते है इतने बड़े प्रदेश को दिल्ली से चलाना संभव नहीं. पूर्व मंत्री कालीचरण सराफ ने कहा कि प्रदेश में कानून का इकबाल खत्म हो चुका है और मुख्यमंत्री को गृह मंत्रालय का जिम्मा किसी और को देना चाहिए. सराफ ने यह भी कहा कि उन्हें अब पार्टी के अंदरूनी मामलों के आगे ही फुर्सत नहीं. एफआईआर दर्ज करने में देरी और जांच में लीपापोती करने वाले अधिकारियों को गिरफ्तार किया जाए. 

थाने में आत्मदाह करना सरकार के लिए शर्म की बात: 
मामले में सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने कहा कि प्रदेश की हालत अंधेर नगरी चौपट राजा जैसी हो गई है और पोपा बाई का राज कायम हो गया है. विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि थाने में आत्मदाह करना सरकार के लिए शर्म से डूब मरने जैसा है. लेकिन अभी भी सरकार आंखें मूंदे बैठी है. दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिए. गौरतलब है कि कल वैशाली नगर थाने में दुष्कर्म पीड़िता ने आत्मदाह का प्रयास किया था और जिसके बाद पीड़ित महिला की एसएमएस अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. दुष्कर्म पीड़िता का आरोप था कि पुलिस की ओर से आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नही की गई. कुल मिलाकर कहा जाए तो आगामी दिनों में भारतीय जनता पार्टी, दुष्कर्म के मामलों पर प्रदेश भर में आंदोलन कर प्रदर्शन भी कर सकती है. 

...एश्वर्य प्रधान फर्स्ट इंडिया न्यूज जयपुर

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in