जयपुर VIDEO: बजरी के वैध खनन और परिवहन को लेकर हुई बैठक, ACS डॉ. सुबोध अग्रवाल की अ​ध्यक्षता में मीटिंग, देखिए ये खास रिपोर्ट

VIDEO: बजरी के वैध खनन और परिवहन को लेकर हुई बैठक, ACS डॉ. सुबोध अग्रवाल की अ​ध्यक्षता में मीटिंग, देखिए ये खास रिपोर्ट

जयपुर: अतिरिक्त मुख्य सचिव माइंस डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया है कि मांइस, पुलिस, परिवहन, जिला प्रशासन और बजरी ट्रक यूनियन के परस्पर समन्वय व सहयोग से वैध बजरी परिवहन को प्रोत्साहित किया जाएगा और अपैध बजरी परिवहन पर अंकुश लगाने के समन्वित प्रयास किए जाएंगे. एसीएस माइंस डॉ. सुबोध अग्रवाल सचिवालय में बजरी के अवैध परिवहन और बजरी ट्रक ऑपरेटर्स की समस्याओं पर उच्च स्तरीय बैठक को संबोधित कर रहे थे. एसीएस माइंस द्वारा आयोजित बैठक में निदेशक माइंस के अतिरिक्त एसीपी पुलिस कमिश्नरेट जयपुर, परिवहन आयुक्त, एडीएम प्रथम जयपुर और बजरी ट्रक ऑपरेटर्स के प्रतिनिधियों के साथ विचार विमर्श कर रहे थे. 

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का प्रदेशवासियों को वैध बजरी की सहज उपलब्धता बनाए रखने पर जोर रहा है और इसी का परिणाम है कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों के क्रम में प्रदेश में बजरी के वैध खनन की लीज जारी की गई है. एसीएस डॉ. अग्रवाल ने कहा कि बजरी परिवहन के ट्रांजिट समय में रास्ते में वाहन में खराबी या वास्तविक व्यवधान आने पर उसके समाधान का व्यावहारिक समाधान खोजा जाएगा. इसी तरह से विद इन सिटी कम मात्रा मेें बजरी उपलब्ध कराने का कोई मैकेनिज्म विकसित किया जाएगा ताकि पिकअप या अन्य छोटे साधनों से एकाध टन या कम जरुरत वाले लोगों को बजरी की उपलब्धता बनाए रखने में किसी तरह का अवरोध नहीं आए. 

उन्होंने स्पष्ट किया कि राज्य सरकार के सभी संबंधित विभाग वैध बजरी परिवहन को बढ़ावा देने में विश्वास रखते हैं ऐसे में बजरी ट्रक आपरेटर्स को अनावश्यक रुप से परेशान करने का प्रश्न ही नहीं उठता है. उन्होंने आपरेटर्स के प्रतिनिधियों के सुझावों व समस्याओं को गंभीरता से सुना और संभावित समाधान का विश्वास दिलाया. ऑपरेटर्स के प्रतिनिधियों ने मध्य प्रदेष के भोपाल से जारी आदेश की चर्चा करते हुए इस तरह का आदेश जारी कराने का सुझाव दिया. एसीएस डॉ. अग्रवाल ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार के आदेश का राजस्थान के परिप्रेक्ष्य में अध्ययन कराकर गुणावगुण के आधार पर निर्णय लिया जाएगा. 

ऑपरेटर्स ने चैक पोस्ट सिस्टम को प्रभावी बनाने की आवश्यकता प्रतिपादित करते हुए कहा कि इससे अवैध परिवहन पर कारगर रोक लग सकेगी. उन्होंने दो मोबाइल चैक पोस्ट भी स्थापित करने का सुझाव दियां. बजरी ट्रक आपरेटर्स बैठक में चर्चा पर सहमति और सकारात्मक बताया. बैठक में एसीपी जयपुर अजय लाबा, परिवहन आयुक्त केएल स्वामी, निदेशक माइंस केबी पण्ड्या, एडीएम प्रथम दिनेश शर्मा, उपसचिव माइंस नीतू बारुपाल, अतिरिक्त निदेशक माइंस बीएस सोढ़ा, एसएमई प्रताप मीणा, एमई श्रीकृष्ण शर्मा, ट्रक यूनियन के अजय चौधरी,  एनआर मीणा,  जसवंत सिंह, अर्जुन सिंह व अन्य प्रतिनिधि उपस्थित रहे.

और पढ़ें