कोविड-19ः आप ने उठाए केन्द्र सरकार की नीति पर सवाल, कहा- टीका बाहर भेजने से पहले भारत में टीकाकरण तेज करें

कोविड-19ः आप ने उठाए केन्द्र सरकार की नीति पर सवाल, कहा- टीका बाहर भेजने से पहले भारत में टीकाकरण तेज करें

कोविड-19ः आप ने उठाए केन्द्र सरकार की नीति पर सवाल, कहा- टीका बाहर भेजने से पहले भारत में टीकाकरण तेज करें

नई दिल्लीः आम आदमी पार्टी ने देश में टीकाकरण अभियान तेज करने के स्थान पर कोविड-19 के टीके विदेशों में भेजने की केन्द्र सरकार की नीति पर सवाल उठाते हुए दावा किया है कि इस दर से देश की पूरी आबादी के टीकाकरण में कम से कम 15 साल का समय लगेगा.

देश में लोगों को लगाए गए टीके से ज्यादा निर्यातः
यहां संवाददाता सम्मेलन में आप के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने देश के लोगों को पहले टीके ना देकर उसका ‘‘निर्यात’’ करने पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि टीके की खुराक 84 देशों को निर्यात की गईं. देश में लोगों को लगाए गए टीके से ज्यादा निर्यात किया गया है. हमें अपने देश के लोगों का ख्याल रखना चाहिए या दूसरे देश के? उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार का टीका राष्ट्रवाद कहां चला गया है? आप ने कोविड-19 टीका लगाने की दर में वृद्धि की मांग की है ताकि प्रत्येक भारतीय को टीका लग सके.

इस तरह टीकाकरण में लगेंगे 15 सालः
आप नेता ने दावा किया कि अगर टीकाकरण वर्तमान दर से चलता रहा तो देश की पूरी आबादी के टीकाकरण में 15 साल लगेंगे. उन्होंने कहा कि कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि वायरस को नियंत्रित करने के लिए कम से कम 70 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण जरूरी है. अगर टीकाकरण अपनी वर्तमान दर से जारी रहा तो देश की 70 प्रतिशत आबादी को टीका लगाने में 10 साल लगेंगे, वहीं सभी के टीकाकरण में करीब 15 साल लगेंगे. भारत में सभी प्रांतों से सुबह सात बजे तक प्राप्त शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार, देश में टीके के 7,91,05,163 खुराक लगाई जा चुकी हैं.
सोर्स भाषा

और पढ़ें