नई दिल्ली Loudspeaker Row: AAP का बयान- राष्ट्रीय राजधानी में धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने पर 'सैद्धांतिक रूप से' सहमत

Loudspeaker Row: AAP का बयान- राष्ट्रीय राजधानी में धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने पर 'सैद्धांतिक रूप से' सहमत

Loudspeaker Row: AAP का बयान- राष्ट्रीय राजधानी में धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने पर 'सैद्धांतिक रूप से' सहमत

नई दिल्ली: दिल्ली में धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने की भाजपा की मांग का कालकाजी विधायक आतिशी द्वारा विरोध करने के कुछ घंटों बाद आम आदमी पार्टी (आप) ने मंगलवार को स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि वह इस विचार से 'सैद्धांतिक रूप से' सहमत है कि लाउडस्पीकर 'हर धार्मिक स्थल और आस्था के केंद्र' से हटा दिए जाएं.

आप ने भारतीय जनता पार्टी से राष्ट्रीय राजधानी में धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर के इस्तेमाल से संबंधित उसकी मांग पर कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस से संपर्क करने का भी आग्रह किया. आप ने एक बयान में कहा किआम आदमी पार्टी (आप) सैद्धांतिक रूप से हर धार्मिक स्थल और आस्था के केंद्रों से लाउडस्पीकर हटाने की अवधारणा से सहमत है.

भाजपा पर लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया था:

बयान में कहा गया है कि यह मामला दिल्ली पुलिस के अधिकार क्षेत्र में आता है जो केंद्र में भाजपा नीत सरकार के अधीन है. इस प्रकार, हम भाजपा से दिल्ली पुलिस से ही इस पर कार्रवाई करवाने का आग्रह करते हैं. इससे पहले दिन में पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए आप नेता आतिशी ने कहा था कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय राजधानी में धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने के किसी भी कदम का विरोध करेगी. साथ ही, उन्होंने भाजपा पर लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया था.

मैं पूछना चाहती हूं कि लोगों की धार्मिक आस्था से उनको समस्या क्या है:

उन्होंने कहा कि देश भर में विभिन्न धार्मिक अवसरों के दौरान लाउडस्पीकर बजाए जाते हैं. उदाहरण के तौर पर रामलीला के साथ-साथ हनुमान चालीसा और 'सुंदरकांड' का पाठ किया जाता है. यह पूछे जाने पर कि क्या उनकी पार्टी दिल्ली में धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने के किसी भी कदम का विरोध करेगी, आतिशी ने पत्रकारों से कहा, 'हम निश्चित रूप से इसका विरोध करेंगे. आतिशी ने कहा, रामलीला हो या सुंदरकांड का पाठ, लोगों की आस्था उनसे जुड़ी हुई है. मैं पूछना चाहती हूं कि लोगों की धार्मिक आस्था से उनको समस्या क्या है.

हमारी आस्था से खिलवाड़ करने वाला आदेश गुप्ता कौन है:

धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग को लेकर भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, 'अब आप हमें बताएंगे कि हम जागरण का आयोजन नहीं करेंगे, हम सुंदरकांड पाठ का आयोजन नहीं कर सकते, हनुमान चालीसा का पाठ नहीं कर सकते.
उन्होंने सवाल किया, 'हमारी आस्था से खिलवाड़ करने वाला आदेश गुप्ता कौन है गौरतलब है कि आदेश गुप्ता ने सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुसार धार्मिक और अन्य स्थानों पर, दूसरे राज्यों द्वारा इस संबंध में की गई कार्रवाई की तर्ज पर लाउडस्पीकर हटाने की मांग की थी.

इस शहर के लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ करना है और उनके साथ गुंडागर्दी करनी है: 

गुप्ता पर इस मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए आप नेता ने सवाल किया कि उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री को पत्र क्यों लिखा जबकि धार्मिक और अन्य स्थानों पर लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर शीर्ष अदालत के आदेशों का अनुपालन सुनिश्चित करना दिल्ली पुलिस की जिम्मेदारी है. आतिशी ने आरोप लगाया कि मुझे लगता है कि आदेश गुप्ता ने अब मन बना लिया है कि उन्हें इस शहर के लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ करना है और उनके साथ गुंडागर्दी करनी है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें