Live News »

विधानसभा में सुनाई दी परिवहन विभाग के अफसरों के खिलाफ एसीबी कार्रवाई की गूंज, गरमाई प्रदेश की सियासत

विधानसभा में सुनाई दी परिवहन विभाग के अफसरों के खिलाफ एसीबी कार्रवाई की गूंज, गरमाई प्रदेश की सियासत

जयपुर: परिवहन विभाग के अफसरों के खिलाफ एसीबी कार्रवाई की गूंज आज विधानसभा में सुनाई दी. परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने जहां अपने विभाग का बचाव किया है, वहीं कांग्रेस के विधायकों ने ही भ्रष्टाचार को लेकर गंभीर आरोप लगाए है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने भी सरकार पर हमला बोला है. 

जयपुर में ACB का बड़ा धमाका, वाहन मालिकों से डरा-धमकाकर वसूली के सवा करोड़ किए जब्त 

फरवरी मार्च का महीना रेवेन्यू का महीना होता है- खाचरियावास 
परिवहन विभाग के अधिकारियों पर हुई एसीबी की कार्रवाई की बाद प्रदेश की राजनीति गरमा गई है. मंत्री अपने विभाग का बचाव कर रहे है तो दूसरी तरफ कांग्रेसी विधायक ही खुलकर भ्रष्टाचार पर बोलने की लगे है. मंत्री प्रताप सिंह ने कहा कि फरवरी मार्च का महीना रेवेन्यू का महीना होता है. एसीबी ने केवल एक ही इंस्पेक्टर को रंगे हाथों पकड़ा है, बाकी सबके घरों पर कार्रवाई की. मंन्त्री ने कहा कि एसीबी कार्रवाई में विभाग के निर्दोष अफसरों को डरने की जरूरत नहीं है. इस तरह की कार्रवाई से दहशत का माहौल हो जाती है.

परिवहन विभाग के अफसरों पर ACB कार्रवाई में अपडेट, सचिवालय के अफसरों तक पहुंचती थी बंधी की राशि !

कांग्रेस विधायक राजेन्द्र गुढ़ा ने लगाया आरोप:
मंत्री कह रहे है कि अधिकारियों को डरने की जरूरत नहीं है, वही कांग्रेस विधायक राजेन्द्र गुढ़ा ने आरोप लगाया है कि परिवहन विभाग के 90 फीसदी अफसर कर्मचारी भ्रष्ट है. ऊपर तक मंथली पहुंचाते है. गुढ़ा ने कहा कि आबकारी व खान विभाग को देख लो, सब भ्रष्ट हैं. बसपा से कांग्रेस में आये गुढ़ा ने कहा कि दाल में काला नहीं पूरी दाल ही काली है. 

विधायक रामनारायण मीणा ने भी खोला मोर्चा:
कांग्रेस विधायक रामनारायण मीणा ने भी अपने ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।.उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार जड़ें जमा चुका है कोई भी दूध से धुला नहीं. हमारी ही सरकार ने पिछली सरकार के भ्रष्टाचार को क्लीन चिट दी. धारीवाल कमेटी को भाजपा राज को भ्रष्टाचार को क्लीन चिट नहीं देनी चाहिए थी. कमेटी के पास समय नहीं था तो ईमानदार विधायकों की कमेटी बना देनी चाहिए थी. 

परिवहन विभाग के अफसरों पर हुई ACB कार्रवाई पर बोले मंत्री प्रतापसिंह खाचरिवास 

भाजपा को भी सरकार पर हमले करने का मौका मिला:
विपक्षी पार्टी भाजपा को भी सरकार पर हमले करने का मौका मिल गया. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष व आमेर विधायक सतीश पूनिया ने आरोप लगाया कि इस सरकार को पारदर्शी कहा जाता है और अब पारदर्शिता से ही भ्रष्टाचार हो रहा है. पूनिया ने कटाक्ष करते हुए कहा कि अभी तो पार्टी शुरू हुई है. पूर्व मंन्त्री कालीचरण सराफ ने भी परिवहन विभाग पर आरोप जड़े. विधानसभा के बजट सत्र के दौरान एसीबी की कार्रवाई होने से विपक्ष को बड़ा मुद्दा मिल गया है और लगता है कि इस मामले पर राजनीति दूर तलक जाएगी. 

और पढ़ें

Most Related Stories

VIDEO: कांग्रेस वसुंधरा जी की तारीफ करें तो हमारे लिए अच्छी बात- केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

VIDEO: कांग्रेस वसुंधरा जी की तारीफ करें तो हमारे लिए अच्छी बात- केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

जैसमलेर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच आज केन्द्रीय मंत्री कैलाश चौधरी का सियासी दौरा चर्चा का विषय रहा. ये साधारण सियासी घटना नहीं हो सकती है जब जैसलमेर में कांग्रेस की बाडेबंदी चल रही हो और उसी वक्त केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी का सियासी दौरा हो जाये. कैलाश चौधरी ने भाजपा की स्थानीय टीम के साथ बैठक कर जैसलमेर-बाड़मेर संसदीय क्षेत्र के विकास के मुद्दों पर गहलोत सरकार को घेरा. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य! 

कांग्रेस वसुंधरा जी की तारीफ करें तो हमारे लिए यह अच्छी बात: 
वहीं इस दौरान कैलाश चौधरी ने फर्स्ट इंडिया न्यूज से खास बातचीत में कहा कि कांग्रेस वसुंधरा जी की तारीफ करें तो हमारे लिए यह अच्छी बात है. उन्होंने मुख्यमंत्री रहते बेहतर काम किए थे. वहीं कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जब तक होटल में है सुरक्षित है. हालांकि सतीश पूनिया को लेकर किए गए सवाल को मंत्री  चौधरी टाल गए. हमारे संवाददाता लक्ष्मण राघव ने उनसे खास बातचीत की...

 

बिड सिक्योरिटी एवं परफॉर्मेंस सिक्योरिटी की राशि को 50 प्रतिशत कम करने के प्रस्ताव को मंजूरी

बिड सिक्योरिटी एवं परफॉर्मेंस सिक्योरिटी की राशि को 50 प्रतिशत कम करने के प्रस्ताव को मंजूरी

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वित्तीय वर्ष 2020-21 की शेष अवधि के लिए माल, सेवाओं एवं संकर्मों के उपापन पर राजस्थान लोक उपापन में पारदर्शिता नियमों के तहत बिड सिक्योरिटी एवं परफॉर्मेंस सिक्योरिटी की राशि को 50 प्रतिशत कम करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य! 

निविदाओं में आने वाली परेशानी भी दूर होगी: 
सीएम गहलोत के इस निर्णय से सार्वजनिक निर्माण की परियोजनाओं को समय पर पूरा करने में मदद मिलेगी. इसके साथ ही इन परियोजनाओं की निविदाओं में आने वाली परेशानी भी दूर होगी. कोरोना के चलते संवेदकों को कम बिड सिक्योरिटी एवं परफॉमेर्ंस सिक्योरिटी होने से कम कार्यशील पूंजी की आवश्यकता होगी और बड़ी राहत मिलेगी. 

नई शिक्षा नीति में किसी से भेदभाव नहीं, ये नीति नए भारत की नींव रखेगी- पीएम मोदी 

अंकित प्रावधान राशि को 50 प्रतिशत कम करने का दिया था सुझाव:
उल्लेखनीय है कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित सार्वजनिक निर्माण परियोजनाओं की टास्क फोर्स ने माल, सेवाओं एवं संकर्मों के उपापन पर बिड सिक्योरिटी एवं परफॉर्मेंस सिक्योरिटी के लिए राजस्थान लोक उपापन के पारदर्शिता नियमों में अंकित प्रावधान राशि को 50 प्रतिशत कम करने का सुझाव दिया था. 

केरल में लैंड स्लाइड से 12 लोगों की मौत, 80 लोगों के फंसे होने की आशंका! 

केरल में लैंड स्लाइड से 12 लोगों की मौत, 80 लोगों के फंसे होने की आशंका! 

नई दिल्ली: केरल के इडुक्की जिले में मूसलाधार बारिश की वजह से शुक्रवार सुबह लैंड स्लाइड में 12 लोगों की मौत हो गई. मन्नार के पास हुए इस  लैंड स्लाइड में एक चाय बागान के कई मजदूरों के फंसे होने की खबर है. खबरों के मुताबिक घटना की जानकारी मिलते ही राहत टीमों को मौके लिए रवाना किया गया है, लेकिन तेज बारिश की वजह से टीमों को पहुंचने में परेशानी हो रही है. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य!

80 लोगों के फंसे होने की आशंका:
क्योंकि बारिश की वजह से रास्ता खराब हो गया है. अधिकारियों ने बताया कि लगातार बारिश की वजह से बिजली की लाइन प्रभावित होने से इलाके में संचार सेवाएं बाधित हो गई हैं. जानकारी के मुताबिक वहां कम से कम 80 लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है.

राहत और बचाव का कार्य जारी:
अधिकारियों ने बताया है कि तेज बारिश की वजह से इस इलाके को जोड़ने वाला पुल भी गुरुवार को टूट गया, जिसकी वजह से घटना स्थल तक पहुंचने में परेशानी हो रही है. उन्होंने बताया कि लगातार जारी बारिश की वजह से भी बचाव टीम तेजी से काम नहीं कर पा रही है.

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल बने मनोज सिन्हा, हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस ने दिलाई शपथ

Rajasthan Political Crisis: भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी की तैयारियां!

Rajasthan Political Crisis: भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी की तैयारियां!

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच भाजपा विधायकों की भी बाड़ेबंदी की तैयारियां चल रही है. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने 1st इंडिया से खास बातचीत करते हुए कहा कि अभी हमे आवश्यकता नहीं है लेकिन हमें पता लगा है कि हमारे MLA से सम्पर्क करने की कोशिश की जा रही है. ऐसे में हम भी अपने विधायकों को एकत्रित करके प्रशिक्षण देंगे. हमने अपनी तैयारियां कर रखी है.

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य!  

जिस दिन से जैसलमेर शिफ्ट हुए बहुमत खो दिया सरकार ने: 
उन्होंने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस दिन से जैसलमेर में शिफ्ट हुए सरकार ने बहुमत खो दिया. सरकार निश्चित रूप से अल्पमत में आ गई है. पायलट के कुछ लोग जैसलमेर में भी है. ऐसे में इस बार सत्र निर्णायक व हंगामेदार होगा. हम जनता के विषय सदन में लाने की कोशिश करेंगे. इस समय प्रदेश में कानून व्यवस्था व कोरोना को देखने वाला कोई नहीं है. कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति कैदी की तरह जिंदगी जी रहे हैं. बिजली के बिल ने करंट मारा है घर का बिल भी आपके सामने हैं. ऐसे में हमारा काम जब शुरू होगा जब हाउस जुड़ेगा. 

नई शिक्षा नीति में किसी से भेदभाव नहीं, ये नीति नए भारत की नींव रखेगी- पीएम मोदी 

हमें अभी पायलट ग्रुप की गणित देखनी है:
नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि हमें अभी पायलट ग्रुप की गणित देखनी है. इसके साथ ही इस दौरान उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव लेकर आने की तैयारियों के भी संकेत दिए. कटारिया ने कहा कि सही रिपोर्ट इकट्ठा करें तो उनके विधायक भगोड़े हैं. वहीं वसुंधरा राजे पर बोलते हुए कहा कि राजे हमारी लीडर और 2 बार की मुख्यमंत्री है. केंद्र क्या सोचता है उनका केंद्र से मिलना भी उसी दृष्टि से रहा है. अध्यक्ष पूनिया ने भी मुलाकात की है तो उसी दृष्टि से की है. हम जो एक्शन प्लान करेंगे तो उन्हें साथ लेकर ही फैसला करेंगे. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य!

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच शुक्रवार को जैसलमेर के सूर्यगढ़ होटल में ही बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए छह विधायकों को कोर्ट के नोटिस दिए गए. जैसलमेर डीजे के रीडर ने होटल में नोटिस तामील करवाए. नोटिस तामील होने से राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य का माहौल है. पहले कांग्रेस द्वारा बसपा से शामिल हुए विधायकों को कहीं और शफ्ट किए जाने की खबर थी ताकि नोटिस तामील न होने पर कोर्ट की कार्यवाही आगे न बढ़ सके. लेकिन गहलोत कैम्प ने आज सभी को एक "सरप्राइज" दिया है और न्यायिक जगत में गहलोत के रणनीतिकारों की प्रतिष्ठा बढ़ी है. 

Coronavirus in India: 24 घंटे में रिकॉर्ड 62 हजार से ज्यादा नए मामले, संक्रमितों की संख्या 20 लाख के पार 

सभी विधायक एक ही जगह मिले टीम को: 
नोटिस मिलने के बाद बसपा विधायकों ने कहा कि हमने सहर्ष नोटिस स्वीकार किये हैं. उन्होंने कहा कि हमने टीम से एक ही नोटिस लिए हैं. सभी विधायक टीम को एक जगह ही मिले. लेकिन अब सभी नोटिस महेश जोशी को सौंपने की खबर है. सभी विधायकों ने जोशी के हाथ नोटिस दिए हैं. 6 विधायकों को नोटिस मिलने के दौरान एसपी भी मौके पर मौजूद रहे. वहीं कोर्ट का नोटिस तामील कराने के मामले पर होटल में हलचल बढ़ गई है. वहीं सीएम गहलोत भी आज शाम जैसलमेर जाएंगे. 

Rajasthan Weather Updates: 13 अगस्त तक प्रदेश में बारिश का अलर्ट, आज कई हिस्सों में फुहारों का दौर जारी 

मामले को एक बार फिर से एकलपीठ को भेज दिया:
इससे पहले गुरुवार को राजस्थान हाईकोर्ट ने बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के मामले को एक बार फिर से एकलपीठ को भेज दिया. मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की खण्डपीठ ने बसपा और भाजपा विधायक मदन दिलावर की अपील पर सुनवाई करते हुए 8 अगस्त तक बसपा के सभी 6 विधायकों को नोटिस सर्व कराने की व्यवस्था की है. लेकिन साथ ही एकलपीठ को निर्देश दिये है कि वो 11 अगस्त का सुनवाई करते हुए उसी दिन बसपा और मदन दिलावर की याचिकाओं पर फैसला भी दे. खण्डपीठ के इस फैसले के बाद फिलहाल तो मुख्यमंत्री खेमे को राहत मिल गई है लेकिन अब 11 अगस्त को एकलपीठ का फैसला ही सरकार का भाग्य तय कर सकता है. बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय को लेकर स्टे एप्लीकेशन पर एकलपीठ उसी दिन फैसला सुनाएगी. 

प्लॉट पर पत्थर डालने के विवाद को लेकर बुजुर्ग पर फायरिंग

प्लॉट पर पत्थर डालने के विवाद को लेकर बुजुर्ग पर फायरिंग

धौलपुर: जिले के बाड़ी कस्बे के बाई का बाग मोहल्ले के पास प्लॉट पर पत्थर डालने के विवाद को लेकर एक बुजुर्ग पर दूसरे पक्ष के लोगों द्वारा फायरिंग कर दी. इस घटना में बुजुर्ग की जांघ में गोली लगी है और उसे गंभीर अवस्था में बाड़ी से धौलपुर जिला अस्पताल रैफर किया गया है. पूरा मामला जमीन विवाद का बताया जा रहा है, बुजुर्ग के पर्चा बयान पर बाड़ी थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है.

बुजुर्ग से मारपीट करते हुए उसे में गोली मार दी: 
घटना में घायल हुए 60 वर्षीय बुजुर्ग रामचरण कुशवाह ने बताया कि वह बाड़ी के बाई का बाग मोहल्ले में अपने परिवार सहित रहता है जहां से कुछ दूरी पर ही उसका एक प्लॉट है. इस प्लॉट पर बाड़ी के ठाकुरपाड़ा निवासी मानसिंह के परिवारीजनों ने कब्जा करने की नियत से पत्थर डाल दिये है, जब उसने पत्थर डालने का विरोध किया तो उसे देख लेने की धमकी दी. आज सुबह जैसे ही रामचरण अपने खेतों की ओर जाने लगा तो रास्ते में आरोपियों ने उसे घेर लिया और मारपीट करते हुए उसे में गोली मार दी, गोली उसकी जांघ में फंसी हुई है.

थाना पुलिस ने घायल के पर्चा बयान लिए:
घटना के बाद परिजन घायल को लेकर बाड़ी अस्पताल पहुंचे जब थाना पुलिस ने घायल के पर्चा बयान लिए है. वहीं घायल की गंभीर हालत को देखते हुए उसे जिला अस्पताल रेफर किया गया है. घायल रामचरण के पुत्र जगन सिंह का आरोप कि उनका एक प्लॉट बाई के बाद से कुछ दूरी पर स्थित है जहां पर आरोपियों ने भी जमीन खरीद रखी है. आरोपी चाहते हैं कि उनके प्लॉट पर कब्जा कर लिया जाये, जिसको लेकर आरोपी पहले उन्हें धमकी दे चुके है. 2 दिन पूर्व आरोपियों ने उनके प्लाट पर पत्थर डाल दिये, जिसका विरोध करने पर आरोपी आक्रोशित हो गये और देख लेने की धमकी देकर गये. आज सुबह जब उसके पिता रामचरण खेतों की ओर जा रहे थे तो रास्ते में आरोपियों ने उनको घेर लिया और गोली मार दी. 

...धौलपुर से फर्स्ट इंडिया के लिए विनोद तिवारी की रिपोर्ट

नई शिक्षा नीति में किसी से भेदभाव नहीं, ये नीति नए भारत की नींव रखेगी- पीएम मोदी

नई शिक्षा नीति में किसी से भेदभाव नहीं, ये नीति नए भारत की नींव रखेगी- पीएम मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर देशवासियों को संबोधित किया. इस कार्यक्रम का नाम कॉन्क्लेव ऑन ट्रांसफोरमेशनल रिफॉर्म्स इन हायर एजुकेशन अंडर नेशनल एजुकेशन पॉलिसी है. पीएम ने शिक्षा मंत्रालय द्वारा आयोजित किए जा रहे कॉन्क्लेव में उच्च शिक्षा पर मंथन किया. कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल भी मौजूद रहे. 

Coronavirus in India: 24 घंटे में रिकॉर्ड 62 हजार से ज्यादा नए मामले, संक्रमितों की संख्या 20 लाख के पार 

इस नीति का कोई विरोध नहीं कर रहा:  
इस दौरान अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि तीन-चार साल के विचार-मंथन के बाद नई शिक्षा नीति को मंजूरी मिली है. आज हर विचारधारा के लोग इस मामले पर मंथन कर रहे हैं. इस नीति का कोई विरोध नहीं कर रहा है, क्योंकि इसमें कुछ भी एक तरफा नहीं है. लेकिन लोग सोच रहे हैं कि इतने बड़े रिफॉर्म को जमीन पर कैसे उतारा जाएगा.

लंबे मंथन के बाद राष्ट्रीय शिक्षा नीति को स्वीकृत किया गया: 
उन्होंने कहा कि 3-4 साल के व्यापक विचार-विमर्श के बाद, लाखों सुझावों पर लंबे मंथन के बाद राष्ट्रीय शिक्षा नीति को स्वीकृत किया गया है. राष्ट्रीय शिक्षा नीति के संदर्भ में आज का ये कार्यक्रम बहुत महत्वपूर्ण है. इस कॉन्क्लेव से भारत के एजुकेशन वर्ल्ड को राष्ट्रीय शिक्षा नीति- राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विभिन्न पहलुओं के बारे में विस्तृत जानकारी मिलेगी.

कई दशकों से शिक्षा नीति में बदलाव नहीं हुआ था:
प्रधानमंत्री ने कहा कि जब नर्सरी का बच्चा भी नई तकनीक के बारे में पढ़ेगा, तो उसे भविष्य की तैयारी करने में आसानी मिलेगी. कई दशकों से शिक्षा नीति में बदलाव नहीं हुआ था, इसलिए समाज में भेड़चाल को प्रोत्साहन मिल रहा था. कभी डॉक्टर-इंजीनियर-वकील बनाने की होड़ लगी हुई थी. अब युवा क्रिएटिव विचारों को आगे बढ़ा सकेगा, अब सिर्फ पढ़ाई नहीं बल्कि वर्किंग कल्चर को डेवलेप किया गया है.

Rajasthan Weather Updates: 13 अगस्त तक प्रदेश में बारिश का अलर्ट, आज कई हिस्सों में फुहारों का दौर जारी 

आप सभी राष्ट्रीय शिक्षा नीति के इंप्लीमेंटेशन से सीधे तौर पर जुड़े:
पीएम मोदी बोले कि हर देश, अपनी शिक्षा व्यवस्था को अपनी नेशनल वैल्यूज के साथ जोड़ते हुए, अपने नेशनल गोल्स के अनुसार रिफॉर्म करते हुए चलता है. मकसद ये होता है कि देश का एजुकेशन सिस्टम, अपनी वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों को फ्यूचर रेडी रखे, फ्यूचर रेडी करें. उन्होंने कहा कि आप सभी राष्ट्रीय शिक्षा नीति के इंप्लीमेंटेशन से सीधे तौर पर जुड़े हैं और इसलिए आपकी भूमिका बहुत ज्यादा अहम है.

मुकुंदरा टाइगर रिजर्व एरिया में बाघ एमटी 1 नजर आया बिल्कुल स्वस्थ, फोटो भी वायरल

मुकुंदरा टाइगर रिजर्व एरिया में बाघ एमटी 1 नजर आया बिल्कुल स्वस्थ, फोटो भी वायरल

कोटा: मुकुंदरा टाइगर रिजर्व एरिया में बाघिन एमटी 2 की मौत के बाद शहंशाह एमटी 1 को लेकर छाए शंका के काले बादल साफ हो गए जब उसकी मॉनिटरिंग टीम को उसके दीदार हुए. टीम को बाघ बिल्कुल स्वस्थ मिला और वह शिकार करके सुस्ता रहा था. टीम को देखकर उसके थोड़ा सा पोज़ दिया और फिर निश्चित होकर आराम करने लगा.

Rajasthan Weather Updates: 13 अगस्त तक प्रदेश में बारिश का अलर्ट, आज कई हिस्सों में फुहारों का दौर जारी 

सुकून देने वाली मुद्रा का फोटो भी वायरल किया: 
टीम ने बाघ की उस सुकून देने वाली मुद्रा का फोटो भी वायरल किया. लेकिन बाघ के स्वस्थ दिखने के बाद अब बाघ और बाघिन की फाइट को लेकर कई तरह के विचार विमर्श हो रहे है और विभाग टाइग्रेस की डेथ के असली कारणों की तलाश कर रहा है. 

 

Open Covid-19