अजमेर के रूपनगढ़ में ACB की कार्रवाई, ग्राम विकास अधिकारी कृष्ण कांत 8 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप

अजमेर: एसीबी की टीम ने मंगलवार को एक बड़ी कार्रवाई (ACB action) करते हुए पनेर ग्राम के विकास अधिकारी कृष्णकांत मीणा को 8 हजार की रिश्वत (bribe) लेते रंगे हाथों गिरफ्तार (arrested) किया है. परिवादी पहलवान से आरोपी कृष्णकांत ने घर का पट्टा देने की एवज में रिश्वत की मांग की थी. पीड़ित ने ACB से मामले की शिकायत की ACB ने पूरे मामले की तस्दीक करते हुए आज आरोपी को 8 हजार  की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. 

पहले आरोपी ने 10 हजार की मांग की लेकिन परिवादी को आरोपी ने कहा कि तू मेरे घर का है इसलिए 8 हजार दे देना. इस पर परिवादी पहलवान ने एसीबी को मामले की जानकारी दी. एसीबी के डीएसपी पारस मल पंवार के नेतृव में इस कार्यवाई को अंजाम दिया गया. विकास अधिकारी कृष्णकांत मीणा इतना लालची निकला कि उसने कोरोनावायरस को भी नहीं देखा और पीड़ित के घर रिश्वत की राशि लेने पहुंच गया. 

एसीबी की टीम ने पहले ही डाल रखा था डेरा:
इससे पहले ही एसीबी की टीम ने परिवादी पहलवान के घर पर ही डेरा डाल रखा था जैसे ही आरोपी कृष्णकांत पीड़ित के घर रिश्वत की राशि लेने पहुंचा तो ACB अधिकारियों ने मौके पर ही आरोपी कृष्णकांत को धर दबोचा. अचानक हुई इस कार्रवाई से एक बार तो आरोपी के भी होश फाख्ता हो गए. लेकिन जब उसे पता पड़ा कि वह ACB की गिरफ्त में है तो उसके होश ठिकाने आ गए. ACB के डिप्टी पारसमल पवार के नेतृत्व में इस पूरी कार्रवाई को अंजाम दिया गया. 

और पढ़ें