Live News »

VIDEO: अजमेर में ACB की बड़ी कार्रवाई, वाइस चांसलर के दलाल रणजीत को किया ट्रैप

अजमेर: प्रदेश के अजमेर जिले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने बड़ी कार्रवाई की. एसीबी टीम ने रिश्वत लेते वाइस चांसलर के दलाल रणजीत को ट्रैप किया है. एसीबी ने आरोपी को 2.20 लाख रुपए की रिश्वत के साथ ट्रैप किया है. जानकारी के मुताबिक इस मामले में MDS यूनिवर्सिटी के VC आरपी सिंह की भी गिरफ्तारी हो सकती है ! कुछ ही देर में आरपी सिंह की गिरफ्तारी हो सकती है. VC के घर पर ACB की कार्रवाई चल रही है. ACBडीजी आलोक त्रिपाठी, ADG दिनेश एमएन के निर्देश पर कार्रवाई हुई.

और पढ़ें

Most Related Stories

पढ़ाई पर कोरोना का सायाः माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने कक्षा 9 से 12वीं तक 40 प्रतिशत सिलेबस किया कम

अजमेरः राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने शिक्षा सत्र 2020-21 के लिए कक्षा 9 से 12 तक का पाठ्यक्रम में संशोधन किया है.बोर्ड की ओर से शनिवार को कक्षा 9 से 12 तक संशोधित पाठ्यक्रम जारी किया है. संशोधित पाठ्यक्रम बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है. 

{related}

स्तरीय पाठ्यक्रम समिति को दिया गया पाठ्यक्रम काे छोटा करने का प्रारूपः 
जानकारी के अनुसार कोरोना आपदा के चलते 9 से 12 तक के पाठ्यक्रम में संशोधन किया गया है. बोर्ड द्वारा गठित उच्च स्तरीय पाठ्यक्रम समिति ने पाठ्यक्रम काे छोटा करने के लिए एक प्रारूप तैयार कर विषय-विशेषज्ञों को दिया, जिसके बाद पाठ्यक्रम में संशोधन किया गया. बताया जा रहा है कि पाठ्यक्रम समिति और विभिन्न विषय समितियों ने जिन कक्षाओं में सीबीएससी का पाठ्यक्रम लागू है उन कक्षाओं के पाठ्यक्रम में कमी करते समय सीबीएससी द्वारा अपनाई गए पैटर्न को भी ध्यान में रखा.
 

अजमेर में आग का तांडव: दीपावली से पहले ही जलकर खाक हुई पटाखे की दुकान, धमाकों की आवाज से हिल गया पूरा क्षेत्र

अजमेर: जिले के केसरगंज इलाके में पटाखों की दुकान में अलसुबह आग लग गई. आग लगने के कारणों का खुलासा नही हुआ है लेकिन पटाखों के तेज धमाकों ने सबको दहला दिया. आग की चपेट में आसपास की दुकान भी आ गई. अलसुबह पटाखों के तेज धमाकों से पूरा इलाका गूंज उठा. क्षेत्रवासियों ने तत्काल क्लॉक टावर थाना पुलिस को फ़ोन करने के साथ ही दमकल को फ़ोन किया. एहतियात के तौर पर पुलिस ने आवागमन को रोक दिया. करीब 1 घंटे की मशक्कत और आधा दर्जन से अधिक दमकल की गाड़ियों की मदद से आग पर काबू पाया गया. लेकिन खबर लिखे जाने तक भी रुक रुक कर दुकान के अंदर से धमाकों की आवाज आ रही है. 

अचानक लगी आग से हड़कम्प से मच गया: 
कैसरगंज गोल चक्कर पर पटाखों को स्थायी दुकान में अचानक लगी आग से हड़कम्प से मच गया. गनीमत रही ही इस हादसे में कोई जनहानि नही हुई. साथ ही पटाखों के धमाकों की आवाज सुनते ही आस पास के लोग वहां पहुंचे. पुलिस के द्वारा लोगों को दूर किया गया. दमकल की एक साथ 4 गाड़ियों से आग को भुजाने के प्रयास किये जाने लगे. उसके कुछ देर बाद जब आग का धुंआ कम हुआ तब जेसीबी की मदद से दुकान के शटर को तोड़ कर सामान को बाहर निकाला गया. जिसके बाद अग्निशमन की टीम ने अंदर की तरफ आग भुजाना शुरू किया बड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया है. 

{related} 

लाखों रुपये के पटाखे जलकर खाक:
वहीं दुकान में रखे लाखों रुपये के पटाखे जलकर खाक हो गए. दीवाली पर आतिशबाजी को लेकर सरकार का रुख अभी तक साफ नहीं हुआ है. फिर भी अजमेर के बड़े पटाखा डीलरों ने बड़ी संख्या में माल खरीद रखा है. वहीं आज के इस हादसे के बाद से अन्य पटाखा विक्रेता भी चौकन्ना हो गए होंगे और प्रशासन के द्वारा भी अब और सतर्कता बरती जाएगी जिससे की इस तरह के हादसों से बचा जा सके. 
 

अजमेर में एसीबी की बड़ी कार्रवाई, 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते पटवारी दीप्ति जैन को किया ट्रैप

अजमेर में एसीबी की बड़ी कार्रवाई, 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते पटवारी दीप्ति जैन को किया ट्रैप

अजमेर: प्रदेश के अजमेर जिले में एसीबी की स्पेशल यूनिट ने आज एक बड़ी कार्रवाई करते हुए महिला पटवारी दीप्ति जैन सहित उसके पिता कमल जैन को रिश्वत के 20 हजार रुपए के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. एसीबी अधिकारी पारसमल ने बताया कि बलवंता और दाता ग्राम पंचायत की पटवारी दीप्ति जैन ने परिवादी सुरेश सांखला से जमीन का नामांतरण खुलवाने की एवज में 40 हजार की रिश्वत मांगी थी. जिसके बाद परिवादी सुरेश सांखला ने इसकी शिकायत एसीबी में की.

{related}

शिकायत पर एसीबी ने कार्रवाई करते हुए दीप्ति जैन को राउंडअप किया. जिससे पता लगा कि दीप्ति जैन जिसके पिता अजमेर में रहते हैं. उन्हें रिश्वत की राशि सौंपने के लिए कहा सावित्री चौराहे पर परिवादी सुरेश सांखला ने रिश्वत की राशि के 20 हजार रुपए दीप्ति जैन के पिता कमल जैन को दिए. 

और उसी समय एसीबी ने रिश्वत की राशि के साथ कमल जैन को ट्रैप किया और पटवारी दीप्ति जैन को नसीराबाद से ट्रैप किया. फिलहाल एसीबी मामले में दोनों से पूछताछ करने में जुटी है. कल दोनों को एसीबी कोर्ट में पेश किया जाएगा.  

61 वें पुलिस शहीद दिवस पर राजस्थान पुलिस अकादमी में शहीद पुलिस कर्मियों को दी गयी श्रद्धांजली

जयपुर: 61 वें पुलिस शहीद दिवस पर आज राजस्थान पुलिस अकादमी में शहीद पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजली दी गयी. डीजीपी एमएल लाठर सहित विभाग के पुलिसकर्मियों व रिटायर्ड पुलिस अधिकारियों ने शहीद पुलिसकर्मियो को श्रद्धांजली देकर शहीदों के प्रति श्रद्धाभाव व्यक्त किये. 

पदनाम व उनके नाम को बोलकर उनको सम्मान दिया: 
समारोह में राजस्थान के डीजीपी एमएल लाठर ने देश के सभी राज्य व केन्द्र शासित प्रदेशों व अर्द्ध सैन्य बलों के शहीद होने वाले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के पदनाम व उनके नाम को बोलकर उनको सम्मान दिया. इसके बाद डीजीपी एमएल लाठर, रिटायर्ड डीजीपी कपिल गर्ग, डीजी जेल राजीव दासोत, DG एसीबी बीएल सोनी, पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव व अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अजयपाल लाम्बा ओर राहुल प्रकाश ने शहीद स्थल पर पुष्पचक्र अर्पित कर शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि दी. परेड में भाग ले रहे पुलिस अधिकारियों व कर्मियों ने शोक शस्त्र करके सिर झुका कर दो मिनिट का मौन धारण कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. परेड में शामिल पुलिस बैण्ड ने लास्ट पोस्ट व राउज/रिवेली की धुन बजायी. शहीद दिवस परेड में शामिल पुलिस कर्मियों ने तीन-तीन राउन्ड फायर किये. 

{related}

इस वजह से मनाया जाता है शहीद दिवस:
आपको बता दे कि 21 अक्टूबर 1959 को सी.आर.पी.एफ. के पुलिस अधिकारी श्री करम सिंह के नेतृत्व में 20 जवानों की पुलिस टोली पर हॉट स्प्रिंग्स, लद्दाख में 16,000 फीट की ऊंचाई पर विषम परिस्थितियों में गश्त के दौरान चीन की सेना द्वारा घात लगाकर हमला किया गया. इस आक्रमण में पुलिस के 10 जवान वीर गति को प्राप्त हुए. इन वीरों के बलिदान को स्मरण करने व उनसे प्रेरणा ग्रहण करने के उद्देश्य से हर साल 21 अक्टूबर को अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए शहीद हुए पुलिस के शुरवीरों की स्मृति में सम्पूर्ण देश में पुलिस शहीद दिवस मनाया जाता है. 

RPSC के नव नियुक्त अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह यादव ने संभाला पदभार, कहा- पहले मुझे काम समझना होगा

RPSC के नव नियुक्त अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह यादव ने संभाला पदभार, कहा- पहले मुझे काम समझना होगा

अजमेर: RPSC के नवनियुक्त चेयरमैन भूपेंद्र सिंह यादव ने आज अजमेर पहुंचकर पदभार संभाल लिया है. इस दौरान यादव के परिवार के लोग भी उनके साथ रहे. निवर्तमान अध्यक्ष दीपक उप्रेती ने अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठाया. वहीं आयोग सचिव शुभम चौधरी ने भूपेंद्र सिंह यादव को पद की शपथ दिलाई. अध्यक्ष के साथ ही आज बोर्ड के चार सदस्यों को भी नियुक्त किया गया है. 

लंबित भर्तियों को लेकर पहले अध्ययन करूंगा:
पद संभालने के बाद नव नियुक्त अध्यक्ष भूपेंद्र यादव ने कहा कि लंबित भर्तियों को लेकर पहले अध्ययन करूंगा. उसके बाद ही भर्तियों के बारे में कुछ बोल सकता हूं. ऐसे में पहले मुझे काम समझना होगा उसके बाद ही आगे की भर्तियों को बारे में चर्चा करूंगा. 

{related}

राज्यपाल कलराज मिश्र ने फाइल को मंजूरी दे दी: 
बता दे कि इससे पहले आज राजस्थान पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र सिंह यादव ने अपना पद छोड़ दिया है. उसके बाद उन्हे RPSC का चेयरमैन बनाया गया है. राज्यपाल कलराज मिश्र ने फाइल को मंजूरी दे दी है. राज्य सरकार ने आज सुबह राजभवन को फाइल भिजवाई थी. फर्स्ट इंडिया ने 24 घंटे पहले ही स्पष्ट संकेत दिए थे. इसके पहले आज ही भूपेंद्र सिंह के VRS को मंजूर किया गया है.

ज्वॉइनिंग से 6 साल या 62 साल की उम्र तक रहेगा कार्यकाल:  
राजस्थान पुलिस महानिदेशक के पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के बाद अब भूपेंद्र सिंह को राजस्थान लोक सेवा आयोग (आरपीएससी) के अध्यक्ष के रूप में नई जिम्मेदारी मिली है. ऐसे में उनका कार्यकाल अब ज्वॉइनिंग से 6 साल या 62 साल की उम्र तक रहेगा. बता दें कि आयोग के चेयरमैन दीपक उप्रेती भी आज सेवानिवृत्त हो रहे हैं. 

20 नवंबर 2020 से ही वीआरएस के लिए किया था आवेदन: 
बता दें कि डॉ. भूपेंद्र सिंह को गहलोत सरकार ने अगस्त 2019 में दो साल के लिए डीजीपी पद की जिम्मेदारी सौंपी थी. इनका कार्यकाल 30 जून 2021 को पूरा होना था, लेकिन उन्होंने 20 नवंबर 2020 से ही वीआरएस के लिए आवेदन कर दिया. ऐसे में वे सात महीने पहले ही डीजीपी पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने वाले थे. 

अजमेर नगर निगम के 80 वार्डों के​ लिए आरक्षण लॉटरी प्रक्रिया, जानिए कौनसा वार्ड किसके लिए आरक्षित

अजमेर नगर निगम के 80 वार्डों के​ लिए आरक्षण लॉटरी प्रक्रिया, जानिए कौनसा वार्ड किसके लिए आरक्षित

अजमेर: प्रदेश के अजमेर जिले में नगर निकाय चुनावों को लेकर आज जवाहर रंग मंच में  निर्वाचन अधिकरी प्रकाश राजपुरोहित के नेतृत्व में वार्डों की लॉटरी निकली गई. अजमेर नगर निगम, किशनगढ़ नगर परिषद्, केकड़ी, विजय नगर और सरवाड़ नगर पालिका के वार्डो की लॉटरी निकली गई. लॉटरी प्रक्रिया शांति पूर्ण सम्पन हुई. लॉटरी के लिए सभी जगह से जनप्रतिनिधि भी पहुंचे. अगर बात करे अजमेर नगर निगम की तो अजमेर नगर निगम में कुल 80 वार्डो के लिए आरक्षण लॉटरी निकाली गई. 

आइये डालते है एक बार अजमेर नगर निगम के 80 वार्डों पर नजर... 
-एससी वार्ड 7,8,17,18,19,21,22,23,25,2743,44,46,47,48,49,50,51,52, 53 
-एससी महिला 19,43,44,47,49,51,52
-एसटी 54 ,61 
-एसटी महिला 61
-ओबीसी 68,9,80,33,28,24,12,30,5,13,64,78,20,55,71,35,59,
-ओबीसी महिला 12,35,68,64,28,20
-सामान्य महिला41,67,73,41,40,29,3,14,74,56,45,60,39 
-सामान्य के लिए 1,2,4,6,10,11,15,16,26,31,32,34,36,37,38,42,57,58,62, 63, 65, 66, 69, 70,72,75,76,77,79

वहीं किशनगढ़ नगर परिषद के 60 वार्डों के लिए भी आरक्षण लॉटरी निकाली गई. आइये एक नजर डालते है किशनगढ़ के 60 वार्डों की लॉटरी पर...

-एससी 9,12,18,33,37,43,52,56,59,60
-एससी महिला 33,9,60
-एसटी के लिए केवल वार्ड नंबर 17 को आरक्षित किया गया 
-ओबीसी 36,5,26,21,39,3,46,22,51,2,54,20,53
-ओबीसी महिला 2,54,36,53
-सामान्य महिला 19,30,27,28,4,25,48,55,29,13,50,7
-सामान्य वर्ग के लिए  1,6,8,10,14,15,16,23,24,31,32,34,35,38,40,41,42, 44,45,47,49,57,58,

केकड़ी नगर पालिका के 40 वार्डों के लिए आरक्षण लॉटरी निकाली गई. जानिए केकड़ी के 40 वार्डों के आरक्षण प्रक्रिया...

-एससी 2,28,3,39,40,15,27
-एससी महिला 27,3
-एसटी 0
-ओबीसी 21,33,4,12,9,31,16,26
-ओबीसी महिला 4,16,12,
-सामान्य महिला 5,30,17,35,36,24,22,32
-सामान्य 1,6,7,8,10,11,13,14,18,19,20,23,25,29,34,37,38,

{related}

विजयनगर नगरपालिका के 35 वार्डों के लिए निकाली गई लॉटरी 
-एससी 31,24,33,4,32
-एससी महिला 31,24
-एससी केवल 9
-ओबीसी 7,19,35,30,3,22,26
-ओबीसी महिला 19,3
-सामान्य महिला 15,21,17,29,20,1,18
-सामान्य के लिए 2,5,6,8,10,11,12,13,14,16,23,25,27,28,34, 
 
सरवाड़ नगर पालिका के 25 वार्डों के लिए निकाली गई आरक्षण लॉटरी
-एससी 25 3,1,2
-एससी महिला 2
-एससी 23 
-ओबीसी 5,16,6,22,24
-ओबीसी महिला 6,24
-सामान्य महिला 12,19,15,10,20
-सामान्य के लिए 4,7,8,9,11,13,14,17,18,21,
-सभी जगहों की लॉटरी प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरह से संपन्न की हुई.

...फर्स्ट इंडिया के लिए शुभम जैन की रिपोर्ट 

जेवरात के लालच में वृद्धा चुकी देवी की हत्या, ब्लाइंड मर्डर केस का हुआ खुलासा, 2 आरोपी गिरफ्तार

जेवरात के लालच में वृद्धा चुकी देवी की हत्या, ब्लाइंड मर्डर केस का हुआ खुलासा, 2 आरोपी गिरफ्तार

किशनगढ़ (अजमेर): श्रीनगर थाना पुलिस ने शुक्रवार को ब्लाइंड मर्डर केस का खुलासा करते हुए दो आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाया. जानकारी के मुताबिक श्रीनगर थानाप्रभारी प्रभुदयाल वर्मा ने बताया कि 27 अगस्त को नौलखा निवासी एक वृद्धा चुकी देवी मेघवंशी की लाश कमरे में पड़ी मिली. इसी को लेकर मृतका चुकी के पुत्र सुरेश ने मां की हत्या ओर गहने चोरी होने का संशय जताते हुए अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया.

ऐसे हुआ वारदात का खुलासा:
पुत्र की रिपोर्ट पर पुलिस ने भी वृद्धा का कमरे से साक्ष्य जुटाते हुए कुछ महत्वपूर्ण सुराग जुटाने की कवायद शुरू की. इसी को लेकर जिला पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देश, केकड़ी एडिशनल एसपी और नसीराबाद सीओ के सुपरविजन में श्रीनगर थानाप्रभारी प्रभुदयाल वर्मा और प्रशिक्षु आरपीएस छवि शर्मा ने जांच पड़ताल के दायरा आगे बढाते हुए कुछ संदिग्धों पर नजर रखनी शुरू की. मामले को लेकर बीट कॉन्स्टेबल महेन्द्रपाल ने ग्राम में दो व्यक्तियों की सलिप्तता और गतिविधियां इस मर्डर केस में उजागर होने की बात सामने आई. पुलिस ने जब नौलखा ग्राम के ही अमरसिंह रावत 25 वर्षीय ओर सूरज कुमार मेघवंशी 20 वर्षीय से थाने लाकर कड़ाई से पूछताछ की तो उन्होंने एकदम टूटते हुए वृद्धा चुकी देवी की हत्या करना कबूल कर लिया. पुलिस पूछताछ में दोनों आरोपितों ने पुलिस को वृद्धा के गहनों के लालच में हत्या करने की बात कही. पुलिस ने दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर अनुसंधान की कार्यवाही शुरू की. 

{related}

यह था तरीका ए वारदात:
श्रीनगर थाने के समीप नोलखा में वृद्धा की हत्या के आरोपितों ने पुलिस पूछताछ के दौरान बताया कि वृद्धा का पुत्र जब घर से बाहर गया हुआ था तो पास ही शादी समारोह का आयोजन हो रहा था. इसी का फायदा उठाकर दोनो ने पहले वृद्धा चुकी से कमरे का गेट खुलवाकर मुह को शॉल से दबा दिया, जिससे दम घुटने से वृद्धा चुकी की मौत हो गई. दोनों ने हत्या के बाद बक्से का ताला तोड़कर उसमें रखे गहने जेवरात चोरी कर रफूचक्कर हो गए.

यह थे टीम में शामिल:
श्रीनगर थाना पुलिस द्वारा नोलखा ग्राम के ब्लाइंड मर्डर केस का खुलासा करने में श्रीनगर थानाप्रभारी प्रभुदयाल वर्मा, प्रशिक्षु आरपीएस छवि शर्मा, ए.एसआई श्रवणलाल चौधरी, दीवान मोहनराम, के.के यादव, रामप्रसाद, कांस्टेबल रामजीलाल, महेंद्रपाल, हंसराज, देवेंद्र सिंह, रामस्वरूप, स्वरूपाराम और चालक सतपाल सिंह रावत थे.

बेटियों ने निभाया बेटे का फर्ज: चार बेटियों ने कंधा देकर पिता को दी अंतिम विदाई, देखकर भावुक हुए लोग

बेटियों ने निभाया बेटे का फर्ज: चार बेटियों ने कंधा देकर पिता को दी अंतिम विदाई, देखकर भावुक हुए लोग

पीसांगन(अजमेर): पीसांगन में प्राचीन गढ़ के पीछे जलदाय विभाग की टंकी के पास पिता की मृत्यु हो जाने पर 4 बेटियों ने बेटों का फर्ज निभाया और अंतिम यात्रा में पिता की अर्थी को कंधा देने के बाद सेठन दरवाजा स्थित मुक्तिधाम में मुखाग्नि दी, इस विहंगन दृश्य को देखकर अंतिम शव यात्रा में गए रिश्तेदारों और लोगों की आंखें नम हो गई, पांचवीं पुत्री महज 3 वर्ष की होने के कारण अंतिम संस्कार में नही जा सकी. 

श्यामसुंदर करीब एक वर्ष से बीमारी के दौर से गुजर रहा था:
बता दें, टंकी के पास चंडालिया मोहल्ला निवासी 38 वर्षीय श्यामसुंदर जांगिड़ उर्फ पप्पू टेलर की मृत्यु हो गई, श्यामसुंदर करीब एक वर्ष से बीमारी के दौर से गुजर रहा था, जिसने गत मध्यरात्रि से अंतिम सांस लेते हुए दम तोड़ दिया.

{related}

चारों पुत्रियों ने पिता के शव को कंधा दिया:
श्यामसुंदर के 16 वर्षीय उर्वशी, 13 वर्षीय जुड़वा बहने नेहा, निकिता, 10 वर्षीय अंतिमा व 3 वर्षीय निशा के साथ 5 पुत्रियां है, उर्वशी, नेहा, निकिता, अंतिमा चारों पुत्रियों ने पिता के शव को कंधा देने के बाद मुक्तिधाम में मुखाग्नि दी, वही 3 वर्षीय मासूम निशा अंतिम संस्कार में नही गई. 

महिलाओं के सहारे रह गया परिवार: 
बता दे, परिवार में प्रभु और पारस फ़ौत दोनों भाइयों में प्रभु के एक पुत्र और एक पुत्री जबकि पारस के संतान नही थी, प्रभु के एक पुत्र श्यामसुंदर की मृत्यु हो जाने से परिवार में केवल महिलाएं ही रह गई, श्यामसुंदर के भी 5 पुत्रियां है.