विकास दुबे एनकाउंटर मामले पर बोले एडीजी, आत्मसमर्पण करने के लिए कहा, लेकिन उसने की फायरिंग 

विकास दुबे एनकाउंटर मामले पर बोले एडीजी, आत्मसमर्पण करने के लिए कहा, लेकिन उसने की फायरिंग 

विकास दुबे एनकाउंटर मामले पर बोले एडीजी, आत्मसमर्पण करने के लिए कहा, लेकिन उसने की फायरिंग 

नई दिल्ली: कानपुर शूटआउट के मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे के एनकाउंटर मामले पर उत्तर प्रदेश में कानपुर पुलिस के एडीजी प्रशांत कुमार ने प्रेसवार्ता की. प्रशांत कुमार ने विकास दुबे के एनकाउंटर की पूरी कहानी बयां की. उन्होंने कहा कि पहले विकास दुबे से सरेंडर करने के लिए कहा गया था लेकिन उसने पुलिसवालों को जान मारने की नियत से फायरिंग की. जिसके बाद बचाव में पुलिस ने उसपर गोली चलाई.प्रशांत कुमार ने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा विकास दुबे को गिरफ्तार किए जाने के बाद यूपी एसटीएफ पुलिस उसे कानपुर ला रही थी. 

HARYANA : सीएम मनोहर लाल खट्टर ने की पीएम मोदी से मुलाकात, कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा

दुर्घटनाग्रस्त होकर पलट गई थी गाड़ी:
कानपुर पहुंचने से पहले पुलिस की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त होकर पलट गई. 2 पुलिसकर्मी घायल हो गए. इस दौरान विकास दुबे ने घायल पुलिसवालों की पिस्टल छीनकर भागने का प्रयास किया. पुलिस टीम ने उसे घेरकर सरेंडर करने के लिए कहा गया. लेकिन वह नहीं माना और जान से मारने की नियत से पुलिस टीम पर फायरिंग करने लगा.

जवाबी कार्रवाई में लगी दुबे को गोली:
इसके बाद पुलिस ने आत्मरक्षा के लिए जवाबी कार्रवाई की गई, जिसमें वह घायल हो गया. उसे तुरंत इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इस घटना में 4 पुलिसकर्मी घायल हुए, एसटीएफ के 2 कर्मी घायल हुए.गौरतलब है कि इससे पहले 8 पुलिस वालों की हत्या करने वाले 5 लाख के इनामी और यूपी के मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे को बृहस्पतिवार सुबह बेहद नाटकीय तरीके से उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया गया. वारदात के बाद से फरार विकास यूपी, दिल्ली, हरियाणा और मध्य प्रदेश पुलिस को चकमा देकर दर्शन करने मंदिर पहुंचा था. गिरफ्तारी के बाद विकास से पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में दो घंटे से ज्यादा पूछताछ की गई थी. 

जयपुर ACB की उदयपुर में बड़ी कार्रवाई, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का फाइनेंशियल एडवाइजर ट्रैप

और पढ़ें