दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में आरोपी को 40 साल के कारावास की सजा

दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में आरोपी को 40 साल के कारावास की सजा

दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में आरोपी को 40 साल के कारावास की सजा

चूरू: जिले की पॉक्सो कोर्ट ने गांव घण्टेल के बहुचर्चित दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में आज अपना फैसला सुना दिया है. पॉक्सो कोर्ट के विशिष्ट न्यायाधीश राजेन्द्र कुमार सैनी ने मामले की सुनवायी के बाद आरोपी जयसिंह को दोषी मानते हुए आजीवन कारावास जिसकी अवधि 40 साल से कम नहीं होगी की सजा से दण्डित किया है. 23 जनवरी को गांव घण्टेल के आरोपी जयसिंह ने 32 वर्षीय महिला से दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. तीन दिन बाद महिला को घर में अकेला पाकर आरोपी फिर से जबरन उसके घर में घुस गया और उससे दुष्कर्म का प्रयास किया. महिला के विरोध करने पर आरोपी दुष्कर्म करने में असफल हो गया. गुस्साए आरोपी जयसिंह ने महिला पर केरोसिन तेल छिड़कर उसे जिन्दा जला दिया. 

परिजनों को गम्भीर हालत में महिला कमरे में जली हुई मिली: 
परिजनों को गम्भीर हालत में महिला कमरे में जली हुई मिली, जिसे इलाज के लिये जयपुर के एसएमएस अस्पताल ले जाया गया लेकिन 30 जनवरी को पीड़िता ने इलाज के दौरान दम तोड दिया. चूरू की सदर थाना पुलिस को दिये गये मृत्युकालीन कथन और एफएसएल रिपोर्ट से बलात्कार की पुष्टि के साथ ही 16 गवाहों के बयानों एवं दस्तावेजी साक्ष्यों के आधार पर पॉक्सो कोर्ट ने आरोपी को दुष्कर्म व हत्या का दोषी मानते हुए 40 साल के कारावास और दो लाख के अर्थदण्ड से दण्डित किया है. पॉक्सो कोर्ट के विशिष्ट लोक अभियोजक वरूण सैनी ने बताया कि धारा 450 में 10 लाख का कारावास तथा 20 हजार के जुर्माने और धारा 376 व 302 में आजीवन कारावास जो 40 साल से कम नहीं होगा तथा 2 लाख के अर्थदण्ड से दण्डित किया है. परिवादी पक्ष की तरफ से पैरवी एडवोकेट महेश प्रताप सिंह राठौड द्वारा की गयी. 

और पढ़ें