Live News »

26 साल बाद दो कट्टर प्रतिद्वंदी दल उतरे बीजेपी के खिलाफ
26 साल बाद दो कट्टर प्रतिद्वंदी दल उतरे बीजेपी के खिलाफ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 26 साल बाद दो कट्टर प्रतिद्वंदी दल लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी के खिलाफ उतरे हैं। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन किया है। आज लखनऊ में अखिलेश यादव के साथ संयुक्‍त संवाददाता सम्‍मेलन में बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने कहा कि यह गठबंधन देश और जनता के हित में है। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं से भाईचारा बनाए रखने और गठबंधन के लिए काम करने की अपील की।

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी दोनों राज्‍य में लोकसभा की 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। दो सीटें उन्‍होंने अन्‍य दलों के लिए छोड़ दी हैं। यह गठबंधन अमेठी और रायबरेली सीटों पर अपने उम्‍मीदवार खड़े नहीं करेगा। यह पहली बार है जब समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करने के लिए एक साथ बैठे। 

बता दें कि ठीक 26 साल बाद दोनों कट्टर प्रतिद्वंदी दल भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए एक साथ आए हैं। इससे पहले, मुलायम सिंह यादव और काशीराम ने चुनाव लड़ने के लिए हाथ मिलाया था और 1993 में भारी जीत दर्ज की थी। कांग्रेस को गठबंधन में लेने के बजाय दो लोकसभा सीटें अमेटी और रायबरेली पार्टी के लिए छोड़ी गई हैं। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इस गठबंधन को एसपी, बीएसपी के अस्तित्‍व की सुरक्षा के लिए गठबंधन करार दिया है। 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in