जयपुर आखिर क्या है अमित शाह के साथ गजेन्द्र सिंह शेखावत की प्रस्तावित प्रदेश यात्रा के मायने ?

आखिर क्या है अमित शाह के साथ गजेन्द्र सिंह शेखावत की प्रस्तावित प्रदेश यात्रा के मायने ?

जयपुर: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) आज से दो दिवसीय राजस्थान (Rajasthan) दौरे पर रहेंगे. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ गजेंद्र सिंह शेखावत मौजूद रहेंगे. गजेंद्र सिंह शेखावत जयपुर भी अमित शाह के साथ आएंगे. जयपुर से दिल्ली भी साथ ही जाना प्रस्तावित बताया जा रहा है. ऐसे में यह सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर क्या है इस यात्रा के मायने ? अमित शाह के साथ गजेन्द्र सिंह शेखावत की प्रस्तावित प्रदेश यात्रा के मायने ?

गजेन्द्र सिंह शेखावत शाह के पूरे दौरे में लाइम लाइट में रहेंगे. गजेन्द्र सिंह शेखावत दिल्ली से अमित शाह के साथ ही आ रहे हैं. गज्जू बन्ना जैसलमेर से कल जयपुर भी अमित शाह के साथ ही आएंगे और जयपुर से कल वापस दिल्ली लौटने का कार्यक्रम भी अमित शाह के साथ ही है. इस दौरान अमित शाह प्रदेश से जुड़े मुद्दों को लेकर फीडबैक ले सकते हैं. केन्द्र की जनकल्याणकारी योजनाओं और संगठन का भी फीडबैक ले सकते हैं. अलबत्ता गजेन्द्र सिंह शेखावत प्रदेश में भाजपा के संभावित मुख्यमंत्री चेहरों में से एक हैं.  
 
आपको बता दें कि अमित शाह आज दोपहर 3 बजे शाह जैसलमेर में तनोट राय माता मंदिर के दर्शन करेंगे. इसके बाद शाम 4.15 बजे रोहिताश बॉर्डर आउट पोस्ट का दौरा करेंगे. शाम 6.30 बजे सैनिक सम्मेलन और रात 8 बजे रोहिताश बॉर्डर आउट पोस्ट पर जवानों के साथ बड़ा खाना एवं संवाद करेंगे. अगले दिन 5 दिसंबर को सुबह 9.30 बजे शहीद पूनम सिंह मेमोरियल में शाह बीएसएफ के 57वें स्थापना दिवस समारोह में शिरकत करेंगे. इसके बाद वो जयपुर के लिए रवाना होंगे. 

करीब डेढ़ दर्जन जगहों पर उनका स्वागत सत्कार होगा:
शाह के जैसलमेर से रवाना होकर दोपहर 12 बजे जयपुर एयरपोर्ट पहुंचने का कार्यक्रम है. यहां उनका रोड शो शुरू होगा. करीब डेढ़ दर्जन जगहों पर उनका स्वागत सत्कार होगा. इस दौरान 51 पंडितों का स्वस्ति वाचन, राजस्थान लोकनृत्य के साथ ही लोकगीत और पुष्प वर्षा के साथ शाह का स्वागत किया जाएगा. शाह करीब 2.15 बजे सीतापुरा स्थित जेईसीसी कन्वेंशन हॉल में प्रदेश कार्यसमिति के समापन सत्र को संबोधित करेंगे. इसके बाद दोपहर 3.30 बजे जनप्रतिनिधि महासम्मेलन में 10 कार्यकर्ताओं को शाह संबोधित करेंगे. शाह का जेईसीसी से पहले थोड़ी दूर पैदल चलने का भी कार्यक्रम बन रहा है. उनकी सुरक्षा के लिहाज से रूट की चैकिंग हो चुकी है. सुरक्षा बल से जुड़े अधिकारी रूट को देख चुके हैं. करीब 100 से अधिक जवान उनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे. पहले खुले वाहन में जाने का उनका कार्यक्रम था, लेकिन सुरक्ष की दृष्टि से वो बंद गाड़ी में ही चलेंगे.    

और पढ़ें