Live News »

आहोर विधानसभा: बाहरी उम्मीदवार को सिरे से खारिज करने के 'मूड' में जनता 

आहोर विधानसभा: बाहरी उम्मीदवार को सिरे से खारिज करने के 'मूड' में जनता 

आहोर (विक्रमसिंह करणोत)। विधानसभा चुनावों का बिगुल बस कुछ ही दिनों में बजने वाला है। ऐसे में मतदाताओं के मूड़ का जिक्र ना हो ये कैसे संभव है। बात अगर जालोर जिले की आहोर विधानसभा क्षेत्र की करें तो दोनों ही बड़े राजनैतिक दलों में टिकट पाने वालों ने जयपुर दिल्ली के चक्कर काटने शुरू कर दिए हैं। वहीं क्षेत्र की जनता ने इस बार बाहरी उम्मीदवार को सिरे से खारिज करने का मूड़ बना लिया है। 

आहोर विधानसभा क्षेत्र के ज्यादातर मतदाताओं का मानना है कि पिछले 25 वर्षों से दोनों ही पार्टियों ने बाहरी उम्मीदवार को टिकिट देकर स्थानीय नेताओं को नज़र अंदाज़ किया है। 25 वर्षो से जो भी यहां से विधायक बना वो जनता की अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतरा ओर इसी के चलते क्षेत्र की आम समस्याओं का समाधान नहीं हो सका। आहोर क्षेत्र की जनता को यह महसूस हो रहा है कि बाहरी नेताओं के विधायक बनने से क्षेत्र का विकास रुक सा गया है। 

मतदाताओं के साथ साथ पार्टियों के स्थानीय वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं में भी बाहरी उम्मीदवारों को लेकर जोरदार नाराज़गी है। हालांकि पार्टियों के कार्यकर्ता कैमरे पर तो इस विषय पर खुल कर तो नहीं बोल रहे हैं। पर पार्टी की बैठकों में जोरदार तरीके से बाहरी प्रत्याशियों का विरोध भी कर रहे हैं। ऐसे में अगर इस बार भी पार्टियां बाहरी प्रत्याशियों को थोपने की जिद्द करती है तो इसके परिणाम कुछ अलग होने की संभावना जताई जा रही है। ऐसे में कोई स्थानीय निर्दलीय आहोर विधानसभा क्षेत्र से बाजी मार जाए। 

1952 के पहले विधानसभा चुनाव से लेकर अब तक हुए 14 विधानसभा चुनावों में आहोर की जनता ने कई पार्टियों को यहां से विधायक बनने का अवसर दिया है। पर आज तक यहां से कोई निर्दलीय विधायक बनने में सफल नही हुआ है। पर इस बार भी पार्टियां बाहरी को प्रत्याशी बनाती है तो निर्दलीय विधायक आहोर के खाते में आ सकता है।

और पढ़ें

Most Related Stories

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

जालोर: जिले के आहोर में कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपये ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व उसके दलाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. क्षेत्र के चार युवक इस लुटेरी दुल्हन के जाल में फंस कर ठगी के शिकार हुए है. जानकारी के मुताबिक पिछले महीने रूपसिंह, धनाराम, अमृत भाई व जगदीश ने आहोर पुलिस थाने मे रिपोर्ट पेश कर गुजरात निवासी कल्पना बेन व अन्य लोगों के खिलाफ शादी के नाम पर धोखाधड़ी करने व घर से गहने व रूपये ले जाने का मामला दर्ज कराया था. मामले की तहकीकात के लिए थाने के एएसआई अखाराम व टीम ने गुजरात के जामनगर मे दबिश देकर लूटेरी दुल्हन कल्पना बैन व दलाल विमल दामा को गिरफ्तार कर आहोर लाया गया.

कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह:  
पुलिस ने बताया कि कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह है. जो मोटी रकम लेकर युवक के साथ शादी रचने का ढोंग करती है और चार पांच दिन तक घर वालो का विश्वास जीतकर मौका पा कर गहने व नकदी लेकर फरार हो जाती है. दुल्हन को भगाने मे इस गिरोह की प्रमुख भूमिका रहती है. इस सारे काम मे नाम व पत्ते झूठे दिए जाते है. लूटेरी दुल्हन ने शादी के नाम पर लाखों रुपए लूटने की जानकारी मिली है. जांच अधिकारी ने बताया कि गिरोह के अन्य सदस्य लक्ष्मी प्रजापत व शानदाबेन की तलाश की जा रही है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर ठगी की रकम बरामद करने का प्रयास कर रही है. 

Open Covid-19