Live News »

VIDEO: एयरलाइंस कर रहीं डीजीसीए शेड्यूल का उल्लंघन, स्पाइसजेट सबसे आगे 

VIDEO: एयरलाइंस कर रहीं डीजीसीए शेड्यूल का उल्लंघन, स्पाइसजेट सबसे आगे 

जयपुर। 31 मार्च से देशभर के एयरपोर्ट्स पर समर शेड्यूल लागू हो चुका है। एक साथ 10 फ्लाइट बंद होने से जयपुर एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स की संख्या कम हुई है, लेकिन एक और बड़ी गड़बड़ी जयपुर एयरपोर्ट पर देखने को मिली है। दरअसल एयरलाइंस ने शेड्यूल की अनुमति ले ली, लेकिन फ्लाइट्स अब तक शुरू नहीं हुई हैं। ऐसी आधा दर्जन फ्लाइट शुरू नहीं हो सकी हैं। ये रिपोर्ट देखिए और समझिए कि कौनसी फ्लाइट हैं, जो शेड्यूल फाइनल होने पर भी नहीं चल रही। 

एयरलाइंस के सभी तरह के शेड्यूल, आवागमन और अन्य गतिविधियों पर नियंत्रण नियामक संस्था नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए करता है। इस बार 31 मार्च से 26 अक्टूबर 2019 तक के लिए समर शेड्यूल लागू हो चुका है। यह शेड्यूल भी डीजीसीए की अनुमति के तहत ही संचालित होता है। बड़ी बात यह है कि कुछ एयरलाइंस ने डीजीसीए से फ्लाइट संचालन के लिए शेड्यूल तो फाइनल करवा लिए, लेकिन धरातल पर फ्लाइट शुरू ही नहीं की हैं। ऐसा एक नहीं, बल्कि आधा दर्जन फ्लाइट्स के मामले में देखने को मिल रहा है। यानी एयरलाइंस डीजीसीए के निर्देशों की ही अवहेलना कर रही हैं। जयपुर एयरपोर्ट पर ऐसा सबसे ज्यादा स्पाइसजेट एयरलाइन कर रही है। एयरलाइन ने कई फ्लाइट्स के लिए अनुमति मांगी, लेकिन इन्हें शुरू नहीं किया। इसी तरह जेट एयरवेज ने भी मुम्बई रूट पर फ्लाइट संचालन की अनुमति लेने के बावजूद इसे शुरू नहीं किया है।

ये वो फ्लाइट्स जो कागजों में ही चल रही:
- जेट एयरवेज की फ्लाइट 9W-418/417 नहीं हुई शुरू, मुम्बई से रात 8:45 बजे आगमन, रात 9:15 बजे डिपार्चर
- स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-3425/3426 नहीं हुई शुरू, भोपाल से सुबह 7:10 बजे आगमन, 7:40 बजे शिरडी के लिए डिपार्चर
- स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-671/672 नहीं हुई शुरू, कोलकाता से सुबह 9:30 बजे आगमन, 10 बजे प्रस्थान
- स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-3468/3462 नहीं हुई शुरू, देहरादून से सुबह 11:50 बजे आगमन, 12:25 बजे अमृतसर के लिए प्रस्थान
- स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-1215/1216 नहीं हुई शुरू, शिरड़ी से शाम 6 बजे आगमन, 6:40 बजे भोपाल के लिए प्रस्थान

इन सभी फ्लाइट्स के लिए सम्बंधित एयरलाइंस ने 31 मार्च से फ्लाइट शुरू करने का शेड्यूल लिया था और इन्हें इन फ्लाइट्स को पूरे शेड्यूल में 26 अक्टूबर तक संचालित करना था। जेट एयरवेज के बारे में फिलहाल यह माना जा सकता है कि आर्थिक स्थिति खस्ता होने से एयरलाइन के लिए फ्लाइट संचालन शुरू करना संभव नहीं है, लेकिन स्पाइसजेट के बारे में यह दलील भी गले नहीं उतर रही है। 

ऐसा नहीं है कि एयरलाइंस ने पहली बार इस तरह शेड्यूल का वायलेशन किया हो। इससे पहले जब पिछले साल अक्टूबर में 28 अक्टूबर से विंटर शेड्यूल शुरू हुआ था, उस समय भी गो एयर और इंडिगो एयरलाइंस ने कई फ्लाइट्स की अनुमति लेने के बावजूद ये फ्लाइट शुरू नहीं की थीं। यहां तक कि 6 माह पहले ली हुई अनुमति की फ्लाइट्स अब तक शुरू नहीं हो सकी हैं। ऐसे में जरूरत इस बात की है कि यात्रियों को गुमराह करने के लिए शेड्यूल लेने वाली इन एयरलाइंस पर फ्लाइट संचालन नहीं करने के मामले में डीजीसीए सख्त कार्रवाई करे।

... संवाददाता काशीराम चौधरी की रिपोर्ट 


और पढ़ें

Most Related Stories

जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन का दूसरा दिन, कुल 11 फ्लाइट्स का हुआ संचालन, 20 में से 9 फ्लाइट रहीं रद्द

जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन का दूसरा दिन, कुल 11 फ्लाइट्स का हुआ संचालन, 20 में से 9 फ्लाइट रहीं रद्द

जयपुर: घरेलू फ्लाइट्स के संचालन का मंगलवार को दूसरा दिन इस लिहाज से बेहतर रहा कि फ्लाइट्स की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. हालांकि मंगलवार को भी जयपुर से जाने वाली फ्लाइट्स में यात्रियों की संख्या बहुत अच्छी नहीं रही, लेकिन यह अपेक्षाकृत रूप से कल से ज्यादा रही. जयपुर एयरपोर्ट से 9 फ्लाइट का संचालन रद्द रहा. हवाई सेवाओं पर 2 माह के लंबे लॉक डाउन के बाद एविएशन इंडस्ट्री एक बार फिर रफ्तार पकड़ रही है. धीरे-धीरे एयरलाइंस फ्लाइट की संख्या में बढ़ोतरी कर रही हैं. जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से 11 फ्लाइट्स का संचालन किया गया. जयपुर से जाने वाली फ्लाइट्स में आज कल की अपेक्षा यात्री भार थोड़ा ज्यादा देखा गया. मंगलवार को इंडिगो एयरलाइन ने अपनी फ्लाइट की संख्या में बढ़ोतरी की.

इंडिगो ने किया जयपुर से चार फ्लाइट का संचालन:
सोमवार को जहां एयरलाइन ने मात्र एक फ्लाइट संचालित की थी, आज इंडिगो ने जयपुर से चार फ्लाइट का संचालन किया. हालांकि आज भी महाराष्ट्र के मुंबई के लिए एक भी फ्लाइट संचालित नहीं की गई. वहीं पश्चिम बंगाल के कोलकाता के लिए भी फ्लाइट का संचालन निरस्त रहा. हालांकि महाराष्ट्र के पुणे के लिए दो फ्लाइट संचालित की गई. स्पाइसजेट और एयर एशिया एयरलाइन ने पुणे के लिए जाने व आने की फ्लाइट संचालित की. मंगलवार सुबह सबसे पहली फ्लाइट इंडिगो एयरलाइन की बेंगलुरु के लिए संचालित हुई, जिसमें 180 सीटर विमान में मात्र 25 यात्रियों ने यात्रा की. स्पाइसजेट एयरलाइन की अमृतसर जाने वाली फ्लाइट में 80 यात्रियों की सीट पर मात्र 6 यात्री मौजूद रहे.

नौतपा में भट्टी सा तपा शेखावाटी, 50 डिग्री पहुंचा चूरू का तापमान  

ये 9 फ्लाइट रहीं रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 5:45 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:40 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट 6E-218 नहीं हुई संचालित
- एयर इंडिया की सुबह 7:35 बजे आगरा जाने वाली फ्लाइट 9I-687 हुई रद्द
- इंडिगो की शाम 4:45 बजे कोलकाता जाने वाली फ्लाइट 6E-6156 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 8 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट SG-279 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 9:45 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की दोपहर 2:15 बजे गुवाहाटी जाने वाली फ्लाइट SG-448 हुई रद्द
- एयर एशिया की शाम 5:15 बजे पुणे जाने वाली फ्लाइट I5-1427 आज शेड्यूल में रद्द थी

मुंबई से आये परिवार के 3 लोग पाए गए पॉजिटिव, गांव में मची खलबली, दुकानें हुई बंद 

यात्रियों की संख्या एयरपोर्ट पर एक साथ बढ़ गई:
मंगलवार सुबह जब बेंगलुरु, दिल्ली, अमृतसर और हैदराबाद की फ्लाइट का समय एक साथ था, तब यात्रियों की संख्या एयरपोर्ट पर एक साथ बढ़ गई. इस दौरान डिपार्चर गेट पर यात्रियों की कतार डिपार्चर गेट से लेकर अराइवल गेट तक पहुंच गई. करीब 100 मीटर लंबी कतार में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं हो सकी. दरअसल चिकित्सा विभाग की टीमों के मेडिकल स्क्रीनिंग करने के दौरान अधिक समय लग रहा है, जिसके चलते यात्रियों की कतार लग रही है. इसके लिए जरूरी है कि एयरपोर्ट प्रशासन चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ बातचीत कर मेडिकल स्क्रीनिंग के काउंटर्स की संख्या में बढ़ोतरी करे। साथ ही डिपार्चर गेट भी एक से बढ़ाकर 2 किए जाएं. अन्यथा आने वाले दिनों में जब यात्रीभार और बढ़ेगा, तब यात्रियों और एयरपोर्ट प्रशासन के लिए परेशानी और बढ़ सकती है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा, पत्रकारिता ने समाज में एकजुटता पैदा की है

राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा, पत्रकारिता ने समाज में एकजुटता पैदा की है

जयपुर: राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि पत्रकारिता ने समाज में एकजुटता पैदा की है. सकारात्मक वातावरण का निर्माण किया है और लोगों के मन में सद्भाव का भाव जगाकर समाज को जोडा है. इस नैतिक शक्ति ने कोविड-19 का डटकर मुकाबला करने में समाज को सक्षम बनाया है. राज्यपाल ने मीडिया के संवाददाताओं, छायाकारों और हाॅकर्स को कोरोना वारियर्स बताते हुए उन सभी का अभिनन्दन किया है.

भारत निर्माण में पत्रकारिता की भूमिका पर हुई वेबीनार:
राज्यपाल कलराज मिश्र मंगलवार को यहां राजभवन से वीडियो काॅन्फ्रेस के माध्यम से कोविड-19 के संकट में भारत निर्माण में पत्रकारिता की भूमिका विषय पर आयोजित वेबीनार को सम्बोधित कर रहे थे. वेबीनार का आयोजन अजमेर के महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय की ओर से किया गया. राज्यपाल ने कहा कि मीडिया ने कोविड- 19 के दौरान आम जन को केन्द्र व राज्य सरकार के द्वारा समय-समय पर दी गई एडवाइजरी, कोरोना वारियर्स द्वारा किये जा रहे कार्य और अन्य सावधानियों व सुविधाओं की जानकारी देकर सराहनीय कार्य किया है.

राजस्थान में लॉकडाउन 4.0 में बढ़ा छूट का दायरा, शादी के आयोजन के लिए नहीं लेनी होगी SDM से परमिशन 

उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने भी मीडिया के कार्यों की सराहना की:
कोविड-19 की स्थिति एक युद्व की भांति हैं. इस युद्व में मीडिया ने जान हथेली पर लेकर निर्भिकता से कार्य किया है. प्रिन्ट और इलेक्ट्रानिक मीडिया की इस मेहनत की, जितनी प्रंशसा की जाये, उतनी ही कम है. उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि कोरोना से लडाई में मीडिया ने अग्रणी भूमिका निभाई है. मीडिया के द्वारा उठाये गये सवालों पर राज्य सरकार कार्यवाही करती है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य में पत्रकारिता को बढावा दिया है. मुख्यमंत्री ने अपनी पहली ही बैठक में पत्रकारिता विश्वविद्यालय खोलने की पहल की थी. वेबीनार में हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति ओम थानवी और एमडीएस विश्वविद्यालय के कुलपति आर.पी.सिंह ने भी विचार व्यक्त किए.

जयपुर एयरपोर्ट पर उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, आज डिपार्चर के दौरान रही यात्रियों की खासी भीड़

जयपुर एयरपोर्ट पर उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, आज डिपार्चर के दौरान रही यात्रियों की खासी भीड़

जयपुर: जयपुर एयरपोर्ट पर मंगलवार को फ्लाइट संचालन का दूसरा ही दिन था कि एक साथ अधिक संख्या में यात्री आने पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना संभव नहीं हो सका. एयरपोर्ट के डिपार्चर गेट से प्रवेश के दौरान मेडिकल स्क्रीनिंग की जा रही है.

केवल एक ही डिपार्चर गेट से दिया जा रहा है प्रवेश: 
मेडिकल स्क्रीनिंग के दौरान चिकित्सा विभाग की टीमों को यात्रियों से पूछताछ और बॉडी टेंपरेचर लेने में अधिक समय लग रहा है. चूंकि यात्रियों को केवल एक ही डिपार्चर गेट से प्रवेश दिया जा रहा है.

मुंबई से आये परिवार के 3 लोग पाए गए पॉजिटिव, गांव में मची खलबली, दुकानें हुई बंद 

नहीं हुआ सोशल डिस्टेंसिंग की पालना: 
इस कारण यात्रियों की कतार डिपार्चर गेट से लेकर अराइवल गेट तक पहुंच गई. इस दौरान यात्रियों के लिए निर्धारित सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं हो सकी. जायजा लिया फर्स्ट इंडिया न्यूज़ संवादाता काशीराम चौधरी ने.

राजस्थान में लॉकडाउन 4.0 में बढ़ा छूट का दायरा, शादी के आयोजन के लिए नहीं लेनी होगी SDM से परमिशन 

राजस्थान में लॉकडाउन 4.0 में बढ़ा छूट का दायरा, शादी के आयोजन के लिए नहीं लेनी होगी SDM से परमिशन 

जयपुर: कोरोना संकट की वजह से देशव्यापी लॉकडाउन जारी है. लॉकडाउन 4 में केन्द्र और राज्य सरकार की ओर कई चीजों में छूट का दायरा बढ़ा दिया है. राजस्थान सरकार ने लॉकडाउन 4.0 में छूट का दायरा बढ़ा दिया है. 

नौतपा में भट्टी सा तपा शेखावाटी, 50 डिग्री पहुंचा चूरू का तापमान  

शादी समारोह में 50 लोग हो सकेंगे शामिल :

लॉकडाउन में शादी समारोह के मामले में पहले की तरह शर्तें लागू रहेंगी. शादी समारोह की SDM को पूर्व सूचना देनी होगी. वहीं शादी समारोह में 50 अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकेंगे. सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करनी होगी. 

मास्क लगाना होगा अनिवार्य:
शादी समारोह में मौजूद सभी लोगों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा. दरअसल पूर्व आदेश में एक शब्द को ठीक किया गया. पूर्व अनुमति की जगह पूर्व सूचना शब्द जोड़ा गया है. SDM से परमिशन लेनी की जरूरत नहीं,लेकिन सूचना देना जरूरी होगा. 

मुंबई से आये परिवार के 3 लोग पाए गए पॉजिटिव, गांव में मची खलबली, दुकानें हुई बंद 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 7 हजार 476 संक्रमित, 176 नए केस आये सामने, अब तक 167 मरीजों की मौत  

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 7 हजार 476 संक्रमित, 176 नए केस आये सामने, अब तक 167 मरीजों की मौत  

जयपुर: राजस्थान में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. राजस्थान में मंगलवार दोपहर 2 बजे तक 176 नए पॉजिटिव केस दर्ज हुए. प्रदेश में कुल 3143 कोरोना एक्टिव केस है. कुल 4165 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए. राजस्थान में कुल मरीजों की संख्या 7 हजार 476 पहुंच गई है. वहीं कोरोना की चपेट में आने से 168 मरीजों की मौत हो गई है. कुल 1949 पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या शामिल है. मंगलवार दोपहर 2 बजे तक अजमेर 2, बाड़मेर 4, भरतपुर 2, भीलवाड़ा 4, बीकानेर 5, चित्तौड़गढ़ 4, धौलपुर 2, गंगानगर 1, जयपुर 21, झालावाड़ 12, झुंझुनूं 5, जोधपुर 4, कोटा 10, नागौर 7, पाली 10, प्रतापगढ़ 1, राजसमंद 11, सवाईमाधोपुर 1, सीकर 19
सिरोही 27, उदयपुर में 24 केस सामने आये. 

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले

अब तक 167 लोगों की मौत:
राजस्थान में कोरोना से अब तक 167 लोगों की मौत हुई है. इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 83 (जिसमें चार यूपी से) की मौत हुई. इसके अलावा, जोधपुर में 17, कोटा में 16, पाली और नागौर में 6, भरतपुर में 5, अजमेर में 6, चित्तौड़गढ़ और सीकर में 4-4, बीकानेर में 3, जालौर, करौली, अलवर और भीलवाड़ा 2-2, उदयपुर, बांसवाड़ा, चूरू, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है. वहीं दूसरे राज्य से आए एक व्यक्ति की भी मौत हुई है.

सोमवार को सामने आए 272 नए मामले: 
इससे पहले सोमवार को प्रदेश में कोरोना के 272 नए मामले सामने आए हैं. इसमें सर्वाधिक 50 पॉजिटिव केस अकेले पाली जिले में सामने आये है. इसके अलावा अलवर में 5, बाड़मेर में 5, भीलवाड़ा में एक, चूरू में 17, दौसा में एक, डूंगरपुर में एक, जयपुर में 13, जालोर में 5, झुंझुनूं में 3, जोधपुर में 47, कोटा में 7, नागौर में 48, राजसमंद में 3, सवाई माधोपुर में एक, सीकर में 44, सिरोही में 9 और उदयपुर में 12 पॉजिटिव केस मिले हैं. 

राजस्थान में पान, गुटखा और तम्बाकू बिक्री की अनुमति मिली, किया गया यह संशोधन

रात को अच्छी नींद नहीं आने पर करें ये उपाय, स्ट्रेस से मिलेगा छुटकारा

रात को अच्छी नींद नहीं आने पर करें ये उपाय, स्ट्रेस से मिलेगा छुटकारा

जयपुर: अच्छी नींद लेना हमारी सेहत के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है. अगर हम रोज अच्छी नींद लेते है तो काफी तरोताजा महसूस करते हैं. इसके साथ ही कई गंभीर बीमारियों से भी दूर रह सकते हैं. ऐसे में आइए जानते हैं आखिर कैसे आयुर्वेद के अनुसार अपने खान-पान में कुछ बदलाव करके आप अच्छी नींद का मजा ले सकते हैं...

उत्तर भारत के कई हिस्सों में गर्मी का सितम, 47 डिग्री तक पहुंचा तापमान, रेड अलर्ट जारी 

- सोने से पहले शहद का सेवन करने से उसका सकारात्मक असर पूरे शरीर पर रहता है. शहद एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. 

- रात में सोने से पहले गुनगने दूध में चुटकी भर दालचीनी पाउडर और उतना ही इलायची पाउडर डालकर पीने से न सिर्फ दूध का स्वाद अच्छा होगा, नींद भी अच्छी आएगी.

- अगर आपको नींद नहीं आ रही तो बादाम अच्छा विकल्प साबित हो सकते हैं. इससे तेज नींद आने में मदद मिलती है और साथ ही नींद गहरी भी आती है.

- केले में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं. कार्बोहाइड्रेट्स ट्रिप्टोफेन बनाने में मदद करता है जो दिमाग को अच्छी नींद दिलाता है. 

सोनू सूद से गुहार, एक बार गर्लफ्रेंड से मिलवा दीजिए बिहार ही जाना है- एक्टर ने दिया ये मज़ेदार जवाब 

उत्तर भारत के कई हिस्सों में गर्मी का सितम, 47 डिग्री तक पहुंचा तापमान, रेड अलर्ट जारी

उत्तर भारत के कई हिस्सों में गर्मी का सितम, 47 डिग्री तक पहुंचा तापमान, रेड अलर्ट जारी

नई दिल्ली: देश में गर्मी का भी सितम बढ़ने से कई शहरों में आसमान से आग बरस रही है. उत्तर भारत के कई हिस्सों में तापमान 47 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच गया है. मौसम विभाग ने दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और राजस्थान के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी किया है. मौसम विभाग ने अनुसार कुछ हिस्सों में तापमान 47.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है. इस दौरान जब लू का प्रकोप अपने चरम पर हो सकता है.

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले 

दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक घरों से नहीं निकलने की सलाह: 
मौसम विभाग ने लोगों को दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक घरों से नहीं निकलने की सलाह दी है जिस समय लू का प्रकोप चरम पर होगा. राजस्थान में सोमवार को दिन का सर्वाधिक तापमान चूरू में 47.5 डिग्री सेल्सियस मापा गया, वहीं उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद सबसे गर्म रहा जहां तापमान 46.3 डिग्री सेल्सियस रहा. राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

राजस्थान में पान, गुटखा और तम्बाकू बिक्री की अनुमति मिली, किया गया यह संशोधन 

29-30 मई को धूल भरी आंधी के साथ छींटे पड़ने की संभावना:
मौसम विभाग ने कहा कि उत्तर भारत के अनेक हिस्सों में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है जिससे लू के प्रकोप से राहत मिल सकती है. मौसम विभाग ने बताया कि राजस्थान में जोधपुर, बीकानेर, जयपुर, अजमेर, भरतपुर और कोटा संभाग के कुछ क्षेत्रों में लू का प्रकोप और बढ़ सकता है. हालांकि पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता की वजह से शुक्रवार और शनिवार को जोधपुर, बीकानेर, जयपुर और भरतपुर में हल्की बारिश हो सकती है.

इस बार घरेलू टूर्नामेंट भी चढ़ा कोरोना वायरस की भेंट, ट्रायल के माध्यम से ही चुनी जाएगी टीम

इस बार घरेलू टूर्नामेंट भी चढ़ा कोरोना वायरस की भेंट, ट्रायल के माध्यम से ही चुनी जाएगी टीम

जयपुर: राजस्थान के घरेलू टूर्नामेंट भी इस बार कोरोना वायरस की भेंट चढ़ गए हैं.  लॉक डाउन के कारण 2 महीने से अधिक समय तक खेल मैदान बंद रहने के कारण खिलाड़ियों को तो नुकसान हुआ ही है और अब खेल संघ भी इसका खामियाजा भुगतेंगे. लॉक डाउन के कारण आरसीए के घरेलू टूर्नामेंट इस बार नहीं हो सकेंगे और एक बार फिर ट्रायल और कैंप के आधार पर ही बीसीसीआई के विभिन्न टूर्नामेंटों के लिए आरसीए की टीम चयनित की जाएगी. 

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले 

उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में बोर्ड से गाइडलाइंस आ जाएगी:
अगस्त के आखिरी सप्ताह से बीसीसीआई का घरेलू टूर्नामेंट शुरू हो जाता है और उससे पहले आरसीए को अपने घरेलू टूर्नामेंट कराने होते हैं लेकिन फिलहाल यह स्थिति नजर नहीं आ रही और इसके बाद बारिश का मौसम भी शुरू हो जाएगा.  आरसीए के सचिव महेंद्र शर्मा से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि आरसीए बीसीसीआई की गाइडलाइंस की पालना करेगी और उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में बोर्ड से गाइडलाइंस आ जाएगी. 

राजस्थान में पान, गुटखा और तम्बाकू बिक्री की अनुमति मिली, किया गया यह संशोधन 

इस बार ट्रायल के माध्यम से ही टीम चुनी जाएगी:
उन्होंने स्वीकार किया कि इस बार ट्रायल के माध्यम से ही टीम चुनी जाएगी. महेंद्र शर्मा ने कहा कि क्रिकेट में क्योंकि टीम गेम होता है ऐसे में हमें बहुत सी सावधानियां रखनी होगी. दरअसल जब आरसीए के घरेलू टूर्नामेंट होते हैं तो खेल मैदान, सहयोगी स्टाफ और होटल जैसी कई सुविधाएं लेनी पड़ती है. फिलहाल इन सुविधाओं के बारे में असमंजस की स्थिति है. ऐसे में एक बार फिर खिलाड़ियों को कॉल्विन शील्ड जैसे टूर्नामेंटों से महरूम रहना पड़ेगा. वैसे लोग डाउन के कारण आरसीए का ऑफिस भी बंद है और अधिकांश क्रिकेट मैदानों में मेंटेनेंस में समय लगेगा. 

Open Covid-19