VIDEO: एयरलाइंस कर रहीं डीजीसीए शेड्यूल का उल्लंघन, स्पाइसजेट सबसे आगे 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/03 09:16

जयपुर। 31 मार्च से देशभर के एयरपोर्ट्स पर समर शेड्यूल लागू हो चुका है। एक साथ 10 फ्लाइट बंद होने से जयपुर एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स की संख्या कम हुई है, लेकिन एक और बड़ी गड़बड़ी जयपुर एयरपोर्ट पर देखने को मिली है। दरअसल एयरलाइंस ने शेड्यूल की अनुमति ले ली, लेकिन फ्लाइट्स अब तक शुरू नहीं हुई हैं। ऐसी आधा दर्जन फ्लाइट शुरू नहीं हो सकी हैं। ये रिपोर्ट देखिए और समझिए कि कौनसी फ्लाइट हैं, जो शेड्यूल फाइनल होने पर भी नहीं चल रही। 

एयरलाइंस के सभी तरह के शेड्यूल, आवागमन और अन्य गतिविधियों पर नियंत्रण नियामक संस्था नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए करता है। इस बार 31 मार्च से 26 अक्टूबर 2019 तक के लिए समर शेड्यूल लागू हो चुका है। यह शेड्यूल भी डीजीसीए की अनुमति के तहत ही संचालित होता है। बड़ी बात यह है कि कुछ एयरलाइंस ने डीजीसीए से फ्लाइट संचालन के लिए शेड्यूल तो फाइनल करवा लिए, लेकिन धरातल पर फ्लाइट शुरू ही नहीं की हैं। ऐसा एक नहीं, बल्कि आधा दर्जन फ्लाइट्स के मामले में देखने को मिल रहा है। यानी एयरलाइंस डीजीसीए के निर्देशों की ही अवहेलना कर रही हैं। जयपुर एयरपोर्ट पर ऐसा सबसे ज्यादा स्पाइसजेट एयरलाइन कर रही है। एयरलाइन ने कई फ्लाइट्स के लिए अनुमति मांगी, लेकिन इन्हें शुरू नहीं किया। इसी तरह जेट एयरवेज ने भी मुम्बई रूट पर फ्लाइट संचालन की अनुमति लेने के बावजूद इसे शुरू नहीं किया है।

ये वो फ्लाइट्स जो कागजों में ही चल रही:
- जेट एयरवेज की फ्लाइट 9W-418/417 नहीं हुई शुरू, मुम्बई से रात 8:45 बजे आगमन, रात 9:15 बजे डिपार्चर
- स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-3425/3426 नहीं हुई शुरू, भोपाल से सुबह 7:10 बजे आगमन, 7:40 बजे शिरडी के लिए डिपार्चर
- स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-671/672 नहीं हुई शुरू, कोलकाता से सुबह 9:30 बजे आगमन, 10 बजे प्रस्थान
- स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-3468/3462 नहीं हुई शुरू, देहरादून से सुबह 11:50 बजे आगमन, 12:25 बजे अमृतसर के लिए प्रस्थान
- स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-1215/1216 नहीं हुई शुरू, शिरड़ी से शाम 6 बजे आगमन, 6:40 बजे भोपाल के लिए प्रस्थान

इन सभी फ्लाइट्स के लिए सम्बंधित एयरलाइंस ने 31 मार्च से फ्लाइट शुरू करने का शेड्यूल लिया था और इन्हें इन फ्लाइट्स को पूरे शेड्यूल में 26 अक्टूबर तक संचालित करना था। जेट एयरवेज के बारे में फिलहाल यह माना जा सकता है कि आर्थिक स्थिति खस्ता होने से एयरलाइन के लिए फ्लाइट संचालन शुरू करना संभव नहीं है, लेकिन स्पाइसजेट के बारे में यह दलील भी गले नहीं उतर रही है। 

ऐसा नहीं है कि एयरलाइंस ने पहली बार इस तरह शेड्यूल का वायलेशन किया हो। इससे पहले जब पिछले साल अक्टूबर में 28 अक्टूबर से विंटर शेड्यूल शुरू हुआ था, उस समय भी गो एयर और इंडिगो एयरलाइंस ने कई फ्लाइट्स की अनुमति लेने के बावजूद ये फ्लाइट शुरू नहीं की थीं। यहां तक कि 6 माह पहले ली हुई अनुमति की फ्लाइट्स अब तक शुरू नहीं हो सकी हैं। ऐसे में जरूरत इस बात की है कि यात्रियों को गुमराह करने के लिए शेड्यूल लेने वाली इन एयरलाइंस पर फ्लाइट संचालन नहीं करने के मामले में डीजीसीए सख्त कार्रवाई करे।

... संवाददाता काशीराम चौधरी की रिपोर्ट 


First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in