उपमुख्यमंत्री अजीत पवार का तंज, कहा- राज्यों मे कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ने से केंद्र दबाव में

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार का तंज, कहा- राज्यों मे कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ने से केंद्र दबाव में

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार का तंज, कहा- राज्यों मे कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ने से केंद्र दबाव में

पुणेः महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने शनिवार को कहा कि कई राज्यों में कोरोना वायरस के मामले बहुत तेजी से बढ़ने के चलते केंद्र दबाव में है क्योंकि उसे ऑक्सीजन एवं अन्य सामग्रियों की आपूर्ति करनी होती है.

केंद्र दबाव में, उसे राज्यों को ऑक्सीजन एवं अन्य सामग्रियों की आपूर्ति करनी होगीः
पवार ने यहां राज्य स्थापना दिवस कार्यक्रम में शिरकत के बाद संवाददताओं से यह बात कही. वह पुणे के प्रभारी मंत्री हैं . उन्होंने कहा कि महामारी की पहली लहर के दौरान महाराष्ट्र पर बड़ी मार पड़ी थी. लेकिन दूसरी लहर में तो कुछ अन्य राज्य भी संभवत: चुनावी सभाओं एवं कुंभ मेले की वजह बुरी तरह प्रभावित हुए. इसलिए केंद्र दबाव में है क्योंकि उसे इन राज्यों को ऑक्सीजन एवं अन्य सामग्रियों की आपूर्ति करनी होती है. उन्होंने कहा कि मैं महसूस करता हूं कि केंद्र को अन्य देशों को टीकों का निर्यात नहीं करना चाहिए था.

सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए बुनियादी ढांचे स्थापित कर रहीः
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि विशेषज्ञों ने इस महामारी की तीसरी लहर का भी अनुमान व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि इसलिए हम महाराष्ट्र में स्वास्थ्य सुविधाएं विकसित कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए बुनियादी ढांचे स्थापित कर रही है. उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों ने इस स्थिति से काफी कुछ सीखा है. 

केंद्र सरकार की मंजूरी से विदेशी विनिर्माताओं से टीके आयात करने को इच्छुकः
पवार ने कहा कि सरकार ने टीके की उपलब्धता को लेकर सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला एवं भारत बायोटेक से चर्चा की है. उन्होंने कहा कि हम केंद्र सरकार की मंजूरी से विदेशी विनिर्माताओं से टीके आयात करने को इच्छुक है. हमें 18 से 45 वर्ष की आयु के 5.71 करोड़ लोगों को टीका लगाना है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें